Home Reviews दिशा रवि अरेस्ट: मत करें राजद्रोह का बेजा इस्तेमाल

दिशा रवि अरेस्ट: मत करें राजद्रोह का बेजा इस्तेमाल

दिल्ली पुलिस ने ग्रेटा थनबर्ग टूलकिट केस में 22 वर्षीय दिशा रवि को राजद्रोह और आपराधिक षडयंत्र रचने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया। यह हैरान करने वाली घटना है। जलवायु परिवर्तन पर काम करने वाली दिशा ने रूंधे गले से अदालत को कहा कि वो किसी साजिश में शामिल नहीं थी और कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे आंदोलन में किसानों का सिर्फ समर्थन कर रही थी। वहीं, दिल्ली पुलिस का आरोप है कि दिशा टूलकिट में संपादन करके खालिस्तानी ग्रुप को मदद कर रही थी।

हालांकि, इस मामले के केंद्र में आई टूलकिट के जरिए प्रदर्शनों की बुनियादी जानकारी देकर ऑनलाइन और ऑफलाइन तरीकों से प्रदर्शन की अपील की गई थी, लेकिन इसमें हिंसा भड़काने जैसी कोई बात नहीं थी जो किसी भी केस में राजद्रोह का आरोप लगाने के लिए जरूरी है। दिशा को ज्यादा-से-ज्यादा सरकारी नीतियों का विरोधी माना जा सकता है, लेकिन विरोध कब से गैर-कानूनी हो गया? चूंकि उसकी गिरफ्तारी और हिरासत में रखने की प्रक्रिया में पर भी संदेह हैं, इसलिए सुप्रीम कोर्ट या दिल्ली हाई कोर्ट को यह जरूर देखना चाहिए कि कहीं दिशा के कानूनी अधिकारों का हनन तो नहीं हुआ है।

Nikita Jacob Toolkit Case : टूलकिट केस में दिल्ली पुलिस के निशाने पर आई निकिता जैकब, जानें कौन है ये

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

टीकाकरणः नए हालात, नई रणनीति

केंद्र सरकार ने साफ कर दिया है कि कोरोना के टीकाकरण का दूसरा चरण सोमवार एक मार्च से ही शुरू हो जाएगा और इसके...

दिशा रविः विवेकशीलता के पक्ष में

बहुचर्चित टूलकिट मामले में गिरफ्तार युवा पर्यावरण कार्यकर्ता को आखिर मंगलवार को दिल्ली की एक अदालत से जमानत मिल गई। पहले दिन से...

जंग बन गए हैं चुनाव

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने असम में एक रैली को संबोधित करते हुए संकेत दिया कि मार्च के पहले हफ्ते में चुनाव आयोग वहां चुनाव...

भारत-चीनः सुधर रहे हैं हालात

राहत की बात है कि भारत-चीन सीमा पर आमने-सामने तैनात टुकड़ियों की वापसी को लेकर शुरुआती सहमति बनने के बाद एलएसी पर तनाव में...

Recent Comments