Home Gadgets Makar Sankranti 2021: मकर संक्रांति पर क्यों की जाती है पतंगबाजी, मिलते...

Makar Sankranti 2021: मकर संक्रांति पर क्यों की जाती है पतंगबाजी, मिलते है ये लाभ

When History Of Flying Kite Tradition Started On Makar Sankranti: हिंदू धर्म में मकर संक्रांति का त्योहार खास महत्व रखता है। इस दिन श्रद्धालु जितने भक्ति-भाव से भगवान सूर्य की उपासना करते हैं, उनते ही हर्षोउल्लास के साथ पतंग भी उड़ाते हैं। मकर संक्रांति के दिन भारत के अधिकांश हिस्सों में पतंगबाजी की जाती है। इस खास दिन पतंग उड़ाने के पीछे धार्मिक कारण ही नहीं बल्कि वैज्ञानिक पक्ष भी छिपे हुए हैं। आइए जानते हैं इस दिन पतंग उड़ाने के ऐसे ही कुछ खास कारण और उससे मिलने वाले लाभ के बारे में। 

-मकर संक्रांति पर सूर्य उत्तरायण का होता है, इस कारण इस समय सूर्य की किरणें व्यक्ति के लिए औषधि का काम करती हैं। सर्दी के मौसम में व्यक्ति के शरीर में   कफ की मात्रा बढ़ जाती है। साथ ही त्वचा में भी रुखापन आने लगता है। ऐसे में छत पर खड़े होकर पतंग उड़ाने से इन समस्याओं से राहत मिलती है। 

इसके अलावा पतंग उड़ाते समय व्यक्ति का शरीर सीधे सूर्य की किरणों के संपर्क में आता है, जिससे उसे सर्दी से जुड़ी कई शारीरिक समस्याओं से निजात मिलने के साथ विटामिन डी भी पर्याप्त मात्रा में मिलता है। बता दें, विटामिन डी शरीर के लिए बेहद आवश्यक है जो शरीर के लिए जीवनदायिनी शक्ति की तरह काम करता है।

वैज्ञानिक तथ्यों के अनुसार, उत्तरायण में सूर्य की गर्मी शीत के प्रकोप व शीत के कारण होने वाले रोगों को समाप्त करने की क्षमता रखती है। ऐसे में घर की छतों पर जब लोग पतंग उड़ाते हैं तो सूरज की किरणें एक औषधि की तरह काम करती हैं।

पतंग उड़ाने से दिमाग सदैव सक्रिय बना रहता है। इससे हाथ और गर्दन की मांसपेशियों में लचीलापन आता है। साथ ही मन-मस्तिष्क प्रसन्न रहता है क्योंकि इससे गुड हार्मोंस का बहाव बढ़ता है। पतंग उड़ाते समय आंखों की भी एक्सरसाइज होती है। 

भगवान श्रीराम ने की थी पतंग उड़ाने की शुरुआत-
पुराणों में उल्लेख है कि मकर संक्रांति पर पहली बार पतंग उड़ाने की परंपरा सबसे पहले भगवान श्रीराम ने शुरु की थी। तमिल की तन्दनानरामायण के अनुसार भगवान राम ने जो पतंग उड़ाई वह स्वर्गलोक में इंद्र के पास जा पहुंची थी। भगवान राम द्वारा शुरू की गई इसी परंपरा को आज भी निभाया जाता है।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

बजट फ्रेंडली बादाम है मूंगफली, ठंड में मुट्टी भर खाएं और पाएं सूखे मेवों जितने जबरदस्त फायदे 

मूंगफली को बजट फ्रेंडली बादाम कहा जाता है। इसका मतलब यह है कि अगर कोई व्यक्ति बादाम अफोर्ड नहीं कर सकता, तो वो...

नए नेतृत्व में अमेरिका

अमेरिका के नए राष्ट्रपति के रूप में जो बाइडन और उपराष्ट्रपति के रूप में कमला हैरिस का शपथ लेना न केवल अमेरिकियों के लिए...

चिकन और अंडे खाते समय रखें ये सावधानियां, भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं संरक्षा प्राधिकरण ने जारी किए दिशा-निर्देश

भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं संरक्षा प्राधिकरण (एफएसएसएआई) ने देश में बर्ड फ्लू के मद्देनजर आज दिशा-निदेर्श जारी किये हैं जिसमें कहा गया है...

उत्तराखंड में पौड़ी अपर बाजार बनेगा हैरिटेज स्ट्रीट

उत्तराखंड के पौड़ी नगर के अपर बाजार को हैरिटेज स्ट्रीट के रूप में विकसित करने की कवायद तेज हो गई है। जिलाधिकारी धीराज सिंह...

Recent Comments