Home Gadgets Lohri 2021: हैप्पी मैरिड लाइफ चाहते हैं तो लोहड़ी पर इस तरह...

Lohri 2021: हैप्पी मैरिड लाइफ चाहते हैं तो लोहड़ी पर इस तरह करें पूजा

Happy Lohri 2021: यूं तो लोहड़ी का त्योहार पूरे उत्तरभारत में बड़े उत्साह के साथ मनाया जाता है। लेकिन पंजाब में लोहड़ी का त्योहार नवविवाहित जोड़ों के लिए खास महत्व रखता है। इस दिन नवविवाहित जोड़े अपने पारंपरिक परिधान पहनकर अग्नि में तिल, गजक, मूंगफली, गुड़, रेवड़ी, खील, मक्का और गन्ने की आहुति देते हुए उसके चारों ओर चक्कर लगाते हैं। ऐसा करते समय दोनों अपने सुखी वैवाहिक जीवन के लिए प्रार्थना करते हैं। माना जाता हैं कि अग्नि में इन चीजों की आहुति देने से दांपत्य जीवन में सम्पन्नता आती है। अगर आप भी अपने दांपत्य जीवन में सम्पन्नता और खुशियां भरना चाहता हैं तो लोहड़ी के दिन पूजा करते समय ध्यान रखें ये बातें।

शादीशुदा लाइफ में खुशियां लौटाने के लिए इस तरह करें पूजा-
लोहड़ी के दिन अग्नि व महादेवी के पूजन से दुर्भाग्य दूर होता है, पारिवारिक क्लेश समाप्त होता है तथा सौभाग्य प्राप्त होता है। आप भी अपने शादीशुदा जीवन में खुशियां और सम्पन्नता लाने के लिए ऐसे करें पूजन-
-घर की पश्चिम दिशा में पश्चिममुखी होकर काले कपड़े पर महादेवी का चित्र स्थापित कर पूजन करें।
-सरसों के तेल का दीपक जलाएं, लोहबान से धूप करें, सिंदूर चढ़ाएं, बेलपत्र चढ़ाएं, रेवड़ियों का भोग लगाएं।
-सूखे नारियल के गोले में कपूर डालकर अग्नि प्रज्वलित कर रेवड़ियां, मूंगफली व मक्का अग्नि में डालें।
-इसके बाद सात बार अग्नि की परिक्रमा करें।
-लोहड़ी पूजा के साथ इस मंत्र का जाप करें: पूजन मंत्र: ॐ सती शाम्भवी शिवप्रिये स्वाहा॥
-लोहड़ी का पर्व मूलतः आद्यशक्ति, श्रीकृष्ण व अग्निदेव के पूजन का पर्व है।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

चेहरे के पुराने से पुराने दाग-धब्बों को भी ठीक कर देगा शहद से बना यह फैस पैक

कई बार ऐसा होता है कि हमारे चेहरे पर ग्लो तो होता है लेकिन दाग-धब्बे और झाईयां हमारे चेहरे की नेचुरल सुंदरता को कुछ...

लोक परंपरा व संस्कृति के रंगों से सराबोर हुई कुंभनगरी हरिद्वार

आगामी कुंभ के लिए तैयार हो रही धर्म नगरी हरिद्वार लोक परंपराओं व संस्कृति के रंगों से सराबोर हो उठी है जो श्रद्धालुओं के...

भारत का पहला श्रमिक आंदोलन संग्रहालय केरल में खुलेगा

विश्व श्रमिक आंदोलन के इतिहास को दर्शाने वाला देश का पहला श्रमिक आंदोलन संग्रहालय केरल के अलाप्पुझा में शुरू किया जाएगा। राज्य के पर्यटन...

पक्षियों में विकसित क्षमता की वजह से बर्ड फ्लू के मामलों में दर्ज हुई कमी

मध्यप्रदेश के इंदौर जिले में मौसम के बदलाव और पक्षियों की रोग प्रतिरोधक क्षमता के विकसित होने की वजह से बर्ड फ्लू के मामलों...

Recent Comments