Home Gadgets एनआईसीईडी को 'कोवैक्सीन' के तीसरे चरण के परीक्षण के लिए 1000 वालंटियर्स...

एनआईसीईडी को ‘कोवैक्सीन’ के तीसरे चरण के परीक्षण के लिए 1000 वालंटियर्स की जरूरत

‘कोवैक्सीन’ के तीसरे चरण के परीक्षण के लिए नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ कॉलरा एंटरिक डिजीज (एनआईसीईडी) को करीब 1000 वालंटियर्स की जरूरत है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने शुक्रवार को बताया कि इन 1000 वालंटियर्स का चुनाव शहर में 10-15 किलोमीटर की परिधि ने रहने वालों में से ही किया जाएगा। 

एनआईसीईडी को अभी से ही वैक्सीन ट्रायल के लिए इच्छुक उम्मीदवारों की एप्लीकेशन आनी शुरू हो गई हैं। वरिष्ठ अधिकारी ने पीटीआई को बताया कि हम लोगों इन वालंटियर्स का चुनाव कोलकाता के ही 10-15 किलोमीटर की परिधि में रहने वाले लोगों का किया जाएगा। यह ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि जो लोग ट्रायल के लिए आएं वह अपने आवास से इंस्टिट्यूट तक तत्काल आ सकें।

Coronavirus Research 2020 : नए शोध में आया सामने ये लोग फैलाते हैं कोरोना, जानिए कौन हैं ‘सुपर स्प्रेडर’

WHO ने किए नए दिशानिर्देश जारी, प्रेग्नेंसी के दौरान इतने घंटे जरूर करें एक्सरसाइज

उन्होंने बताया कि यह सूची दिसंबर के पहले सप्ताह तक तैयार कर ली जाएगी और फिर इसी के बाद तीसरे चरण के परीक्षण शुरू कर दिए जाएंगे। 

तीसरे ट्रायल के लिए पश्चिम बंगाल के अलग-अलग जिलों से हजारों उम्मीदवारों की एप्लीकेशन आई हैं। यह अच्छी बात है कि लोग तीसरे ट्रायल का हिस्सा बनने के लिए अपनी इच्छा जाहिर कर रहे हैं।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

वेट कंट्रोल करने के लिए रोजाना पिएं तीन चीजों से मिलाकर बना आयुर्वेदिक काढ़ा, थकावट भी होगी दूर

वजन कम करने के लिए हम क्या-क्या जतन नहीं करते लेकिन कई बार ऐसा होता है कि वजन कम करने के लिए डाइटिंग और...

खादी उत्पादों की बढ़ रही है मांग, खादी मेले में लौटी रौनक

राजस्थान के उदयपुर में राज्य कायार्लय खादी एवं ग्रामोद्योग भारत सरकार के संयोजन में अम्बेडकर विकास समिति चोमूं द्वारा टाउनहॉल में आयोजित किये जा...

Raj Kachori Recipe : घर पर इस हेल्दी तरीके से बना सकते हैं राज कचौड़ी, जानें रेसिपी

कचौड़ी किसी पसंद नहीं है। वहीं चाय के साथ कचौड़ी का साथ मिल जाए, तो टी टाइम और भी स्पेशल बन जाता है। आज...

ठंड में गले की खराश से मुक्ति दिलाएंगे ये पांच आयुर्वेदिक उपाय, खांसी-जुकाम से भी मिलेगी राहत 

सर्दियों में गले की खराश होना आम बात है लेकिन लम्बे समय तक ऐसी स्थिति रहने पर गले में चोट भी आ सकती है...

Recent Comments