Home Gadgets लाल या हरा, सेहत के लिए कौन सा सेब खाना फायदेमंद, जानें...

लाल या हरा, सेहत के लिए कौन सा सेब खाना फायदेमंद, जानें अंतर और फायदे

सेब से जुड़ी ये कहावत ‘An Apple in a Day Keeps The Doctor Away’ तो आपने जरूर सुनी होगी। इस कहावत का अर्थ है अगर आप रोजाना एक सेब खाते हैं तो आप डॉक्टर (बीमारियों) से दूर रहते हैं। इसकी वजह यह है कि सेब में लगभग हर तरह के पोष्क तत्व पाए जाते हैं। जो व्यक्ति को सेहतमंद बनाए रखने में मदद करते हैं। पर क्या आप जानते हैं हरा या लाल सेब में भी कौन सा रंग का सेब आपके लिए ज्यादा फायदेमंद है? अगर नहीं तो आइए जान लेते हैं हरे और लाल रंग के सेब में कौन सा सेब है बेहतर और क्या है दोनों में अतंर। 

आमतौर पर बाजार में नजर आने वाले लाल सेब खाने में ज्यादा मीठे होते हैं, जबकि हरे सेब स्वाद में थोड़े खट्टे होते हैं। हालांकि सेहत के लिहाज से दोनों ही तरह के सेब अच्छे माने जाते हैं। लेकिन अगर दोनों सेब में से पूछा जाए कि कौन सा सेब ज्यादा सेहतमंद है और किसे खाना चाहिए तो इसका जवाब भी जान लीजिए।   

हरे लाल सेब में अंतर-
हरे और लाल दोनों ही तरह के सेबों के अपने अलग-अलग फायदे हैं। हरे सेब में लाल सेब की तुलना में फाइबर ज्यादा मौजूद होता है। इसके अलावा इसमें कार्बोहाइड्रेट और शुगर की मात्रा भी लाल सेब की तुलना में कम होती है। यही वजह है कि इस सेब को मधुमेह और कब्ज के रोगियों के लिए हरा सेब अच्छा माना जा जाता है। हालांकि बात अगर एंटीऑक्सीडेंट्स की करें तो लाल सेब ज्यादा अच्छे माने जाते हैं। लाल सेब में एंटीऑक्सीडेंट्सकी मात्रा हरे सेब से ज्यादा होती है, जो शरीर को  स्वस्थ रखने और बॉडी के सेल्स को ऑक्सिडेटिव डैमेज से रोकने में मदद करते हैं।

छिलके सहित खाएं सेब-
रिसर्च के अनुसार कच्चे फलों में फाइबर की मात्रा अच्छी होती है। इनका सेवन करने से पाचन में सुधार हृदय रोग, पेट, लिवर आदि को लाभ मिलता है। हालांकि दोनों ही तरह के हरे और लाल सेब में कुछ बेसिक एंटीऑक्सीडेंट्स मौजूद होने से इनमें हेल्दी-अनहेल्दी जैसा अंतर खोजना थोड़ा मुश्किल काम है। अगर आपको कोई स्वास्थ्य समस्या नहीं है, तो आप जो चाहें वो सेब खा सकते हैं।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

चेहरे के पुराने से पुराने दाग-धब्बों को भी ठीक कर देगा शहद से बना यह फैस पैक

कई बार ऐसा होता है कि हमारे चेहरे पर ग्लो तो होता है लेकिन दाग-धब्बे और झाईयां हमारे चेहरे की नेचुरल सुंदरता को कुछ...

लोक परंपरा व संस्कृति के रंगों से सराबोर हुई कुंभनगरी हरिद्वार

आगामी कुंभ के लिए तैयार हो रही धर्म नगरी हरिद्वार लोक परंपराओं व संस्कृति के रंगों से सराबोर हो उठी है जो श्रद्धालुओं के...

भारत का पहला श्रमिक आंदोलन संग्रहालय केरल में खुलेगा

विश्व श्रमिक आंदोलन के इतिहास को दर्शाने वाला देश का पहला श्रमिक आंदोलन संग्रहालय केरल के अलाप्पुझा में शुरू किया जाएगा। राज्य के पर्यटन...

पक्षियों में विकसित क्षमता की वजह से बर्ड फ्लू के मामलों में दर्ज हुई कमी

मध्यप्रदेश के इंदौर जिले में मौसम के बदलाव और पक्षियों की रोग प्रतिरोधक क्षमता के विकसित होने की वजह से बर्ड फ्लू के मामलों...

Recent Comments