Home Sport श्रीकांत का महेंद्र सिंह धोनी पर निशाना, 'जाधव और चावला में कौन...

श्रीकांत का महेंद्र सिंह धोनी पर निशाना, ‘जाधव और चावला में कौन सा स्पार्क नजर आता है’

नई दिल्ली
टीम इंडिया के पूर्व कप्तान कृष्णमनचारी श्रीकांत ने महेंद्र सिंह धोनी पर जमकर हमला बोला है। चेन्नै सुपर किंग्स के राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ सोमवार को मिली हार के बाद श्रीकांत ने पूरे सीजन में धोनी के टीम सिलेक्शन और ‘हास्यास्पद’ और ‘बकवास’ बताया है।

सोमवार को रॉयल्स के हाथों मिली हार चेन्नै सुपर किंग्स की सीजन में सातवीं हार थी। टीम के 10 मैचों में छह अंक हैं और वह अंक तालिका में सबसे निचले पायदान पर है। आईपीएल के इतिहास में चेन्नै की टीम का रेकॉर्ड शानदार रहा है। टीम ने जब भी इस लीग में भाग लिया है तो प्लेऑफ के लिए क्वॉलिफाइ किया है। हालांकि इस बार उसका टॉप 4 में पहुंचना मुश्किल नजर आ रहा है। मैच के बाद प्रजेंटेशन के दौरा धोनी ने आधिकारिक प्रसारणकर्ता स्टार स्पोर्ट्स के साथ बातचीत में कहा था कि युवा खिलाड़ियों ने उस तरह का ‘स्पार्क’ नहीं दिखाया जिससे उन्हें टीम में शामिल किया जा सके।

धोनी के इस बयान से पूर्व मुख्य चयनकर्ता श्रीकांत साफ तौर पर नाराज नजर आए। उन्होंने खास तौर पर पीयूष चावला और केदार जाधव को लगातार टीम में जगह दिए जाने पर निशाना साधा। उन्होंने जाधव के बारे में कहा कि उन्हें मैदान पर चलने के लिए स्कूटर की जरूरत होती है।

श्रीकांत ने स्टार स्पोर्टस तमिल के साथ बातचीत में कहा, ‘धोनी जिस प्रक्रिया की बात कर रहे हैं मैं उससे कतई सहमत नहीं हूं।’ उन्होंने कहा, ‘जिस प्रोसेस की वह लगातार बात कर रहे हैं उसका कोई अर्थ नहीं है। आप बार-बार प्रक्रिया की बात कर सकते हैं लेकिन सिलेक्शन की प्रक्रिया ही अपने आप में सही नहीं है।’

श्रीकांत, जो आईपीएल के पहले सीजन में चेन्नै सुपर किंग्स के ब्रांड ऐम्बेसेडर भी थे, ने एन जगदीशन की ओर इशारा करते हुए कहा कि वह एक ऐसे खिलाड़ी रहे जिन्हें पर्याप्त मौके नहीं दिए गए। जगदीशन ने पूरे सीजन में एक मैच खेला और रॉयल चैलेंजर्स के खिलाफ 33 रन बनाए। वहीं केदार जाधव ने 8 मैचों में कुल 62 रन बनाए और वह किसी तरह का प्रभाव छोड़ने में असफल रहे।

श्रीकांत ने कहा, ‘धोनी क्या कहना चाहते हैं? जगदीशन में स्पार्क नहीं है लेकिन ‘स्कूटर’ जाधव में स्पार्क है? यह बेकार ही बात है। मैं आज इस जवाब को मानने के लिए तैयार नहीं। यह सब प्रक्रिया और टूर्नमेंट के लिए टूर्नमेंट सब खत्म हो गया है।’

उन्होंने कहा, ‘धोनी अब कहते हैं कि अब दबाव नहीं है और वह अब युवाओं को मौका देंगे। कम ऑन यार। मुझे यह बकवास प्रक्रिया बिलकुल समझ नहीं आती। उन्हें जगदीशन में क्या स्पार्क नजर नहीं आया। उन्हें पीयूष चावला और केदार जाधव में क्या स्पार्क दिखा?’

उन्होंने कहा, ‘कर्ण शर्मा ने सबसे कम विकेट लिए। चावला बस प्रवाह के साथ गेंदबाजी करते हैं। वह तब आक्रमण पर आते हैं जब मैच पूरा खत्म हो चुका होता है। धोनी बहुत बड़े खिलाड़ी हो सकते हैं और इस बात पर कोई संदेह नहीं कि वह महान हैं लेकिन मैं इस बात पर उनसे सहमत नहीं हो सकता। यह मुझे स्वीकार नहीं।’

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

आस बंधाते आंकड़े, कम हुई जीडीपी की गिरावट

मौजूदा वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही के भी जीडीपी आंकड़े नेगेटिव में होने और इस प्रकार भारतीय अर्थव्यवस्था के मंदी से गुजरने की औपचारिक...

आलिया भट्ट के इस कॉलेज-गोइंग-गर्ल लुक से लें इंस्पिरेशन, यहां से खरीदें यह ड्रेस

बॉलीवुड एक्ट्रेस आलिया भट्ट ने हाल ही में अपनी बहन शाहीन का बर्थडे मनाया है। इस दिन वह अपनी मां सोनी राजदान और बहन...

Diabetes Diet Tips: शुगर लेवल बढ़ रहा है तो इन 5 चीजों से करें कंट्रोल

डायबिटीज एक ऐसी बीमारी है जिससे हर वर्ग के लोग ग्रसित हैं। इसका अभी तक भी कोई इलाज नहीं है। यह एक ऐसी...

Guru Nanak Jayanti : गुरु नानक जयंती पर जानें इन 10 प्रसिद्ध गुरुद्वारों का धार्मिक महत्व

गुरु नानक जयंती यानी प्रकाश पर्व 30 नवम्बर को पूरे देश में मनाया जाएगा। गुरु नानक देव सिख धर्म के संस्थापक और सिखों के...

Recent Comments