Home Sport इगा स्वियातेक- 19 साल की लड़की ने फ्रेंच ओपन जीत रचा इतिहास,...

इगा स्वियातेक- 19 साल की लड़की ने फ्रेंच ओपन जीत रचा इतिहास, जानें उनकी खास बातें

इगा स्वियातेक ने 54वीं वरीयता के साथ टूर्नमेंट की शुरुआत की। 19 साल की इस पोलिश खिलाड़ी से लोगों को ज्यादा उम्मीद नहीं थी। हालांकि स्वियातेक ने सभी आशंकाओं को दरकिनार करते हुए शनिवार को इतिहास रच दिया। वह फ्रेंच ओपन चैंपियन थीं। अपने देश की पहली ग्रैंड स्लैम विजेता। उनसे पहले कोई दूसरी पोलिश खिलाड़ी ग्रैंड स्लैम की ट्रोफी को हाथ में लेकर नहीं खड़ी हुई थी।

एक भी सेट नहीं हारीं

फाइनल में उन्होंने अमेरिका की सोफिया केनिन को सीधे सेटों में 6 4, 6 1 से हराया। कमाल की बात यह रही कि पूरे टूर्नमेंट में इगा ने एक भी सेट नहीं हारा। वह 1992 में मोनिका सेलेस की जीत के बाद सबसे युवा ग्रैंड स्लैम विजेता भी बनीं। सेलेस की उम्र भी तब 19 साल की ही थी। परिवार के सामने ट्रोफी हाथ में लिए इगा भावुक हो उठीं। उन्होंने कहा, ‘मैं बहुत खुश हूं। मैं बहुत खुश हूं मेरे परिवार आखिर यहां है। यह मेरे लिए बहुत बड़ी बात है।’

विरासत में मिला खेल

31 मई 2001 को पोलैंड के वरसॉ मे जन्मीं इगा को खेल विरासत में मिला। उनके पिता तॉमरेज स्वियातेक ओलिंपिक में भाग ले चुके हैं। 1988 के सोल ओलिंपिक में वह नाविक टीम का हिस्सा थे।

2 साल पहले जीता था जूनियर विंबलडन

2-

वह साल 2018 था जब लोगों ने पहली बार इगा के खेल को नोटिस किया। वह जूनियर विंबलडन चैंपियन बनी थीं। लेकिन फ्रेंच ओपन 2020 में उन्हें किसी से खास तवज्जो नहीं दी थी। लेकिन 54 वरीय इस खिलाड़ी ने ट्रोफी जीतकर इतिहास रच दिया। वह ग्रैंड स्लैम जीतने वाली लोएस्ट रैंकिंग (54) खिलाड़ी हैं।

13 साल में पहली बार…

13-

फ्रेंच ओपन के अपने पूरे सफर में उन्होंने एक भी सेट नहीं गंवाया। साल 2007 में बेल्जियम की जस्टिन हेनिन के बाद वह पहली महिला खिलाड़ी हैं जिन्होंने कोई सेट गंवाए बिना ग्रैंड स्लैम जीता हो।

चार साल पहले भी दी थी मात

चार साल बाद इगा और सोफिया की यह एक और भिड़ंत थी। 2016 में फ्रेंच ओपन जूनियर के तीसरे राउंड में दोनों आमने सामने थीं। तब भी पोलिश खिलाड़ी ने ही जीत हासिल की थी। इगा ने वह मुकाबला 6-4, 7-5 से जीता था।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

दिशा रविः विवेकशीलता के पक्ष में

बहुचर्चित टूलकिट मामले में गिरफ्तार युवा पर्यावरण कार्यकर्ता को आखिर मंगलवार को दिल्ली की एक अदालत से जमानत मिल गई। पहले दिन से...

जंग बन गए हैं चुनाव

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने असम में एक रैली को संबोधित करते हुए संकेत दिया कि मार्च के पहले हफ्ते में चुनाव आयोग वहां चुनाव...

भारत-चीनः सुधर रहे हैं हालात

राहत की बात है कि भारत-चीन सीमा पर आमने-सामने तैनात टुकड़ियों की वापसी को लेकर शुरुआती सहमति बनने के बाद एलएसी पर तनाव में...

ग्रीनकार्ड की गुंजाइश

बाइडन प्रशासन की ओर से पिछले हफ्ते अमेरिकी संसद में पेश किया गया नागरिकता बिल 2021 इस बात की एक और स्पष्ट घोषणा है...

Recent Comments