Home Sport फेंच ओपन: केनिन को हारकर पोलैंड की स्वियातेक बनीं चैंपियन, रचा इतिहास

फेंच ओपन: केनिन को हारकर पोलैंड की स्वियातेक बनीं चैंपियन, रचा इतिहास

पेरिस
पोलैंड की 19 साल की इगा स्वियातेक (Iga Swiatek Won French Open) ने फेंच ओपन महिला एकल के फाइनल में शनिवार को सोफिया केनिन को हराकर इतिहास रच दिया। यह टूर स्तर का उनका पहला खिताब है। गैरवरीय स्वियातेक ने ऑस्ट्रेलियाई ओपन चैंपियन केनिन के खिलाफ लगातार छह गेम जीत कर 6-4, 6-1 से मुकाबला अपने नाम किया। वह एकल वर्ग में ग्रैंड स्लैम जीतने वाली पोलैंड की पहली खिलाड़ी बन गई है।

इस शानदार जीत के बाद उन्होंने कहा, ‘यह शानदार है। दो साल पहले मैं एक जूनियर ग्रैंड स्लैम जीता थी, और अब मैं यहां हूं। ऐसा लग रहा है कि यह थोड़े समय में ही हुआ है। उन्होंने कहा, ‘मैं इससे अभिभूत हूं।’ स्वियातेक का यह सिर्फ 7वां मेजर टूर्नमेंट है और इससे पहले वह कभी चौथे दौर से आगे नहीं बढ़ पायी थी। वह 2007 में जस्टिन हेनिन के बाद इस खिताब को जीतने वाली पहली गैरवरीय खिलाड़ी है।

टूर्नमेंट के सात मैचों के दौरान उन्होंने सिर्फ 28 गेम में हार का सामना करना पड़ा। वह 1997 में इवा माजोली के बाद इस खिताब को जीतने वाली पहली ‘टीन (19 साल तक की)’ खिलाड़ी है। स्वियातेक ने अपने खिताबी अभियान के दौरान 2018 की चैम्नियन सिमोना हालेप और 2019 की उपविजेता मार्केटा वेंद्रोसोवा को एकतरफा मुकाबले में शिकस्त दी।

अमेरिका की 21 साल की केनिन ऑस्ट्रेलियाई ओपन की सफलता को यहां दोहराने में नाकाम रही। उन्होंने मैच के बाद कहा, ‘शानदार टूर्नमेंट। बेहतरीन मैच।’

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

दिशा रविः विवेकशीलता के पक्ष में

बहुचर्चित टूलकिट मामले में गिरफ्तार युवा पर्यावरण कार्यकर्ता को आखिर मंगलवार को दिल्ली की एक अदालत से जमानत मिल गई। पहले दिन से...

जंग बन गए हैं चुनाव

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने असम में एक रैली को संबोधित करते हुए संकेत दिया कि मार्च के पहले हफ्ते में चुनाव आयोग वहां चुनाव...

भारत-चीनः सुधर रहे हैं हालात

राहत की बात है कि भारत-चीन सीमा पर आमने-सामने तैनात टुकड़ियों की वापसी को लेकर शुरुआती सहमति बनने के बाद एलएसी पर तनाव में...

ग्रीनकार्ड की गुंजाइश

बाइडन प्रशासन की ओर से पिछले हफ्ते अमेरिकी संसद में पेश किया गया नागरिकता बिल 2021 इस बात की एक और स्पष्ट घोषणा है...

Recent Comments