Home Sport किरण रिजिजू ने रेकॉर्ड 74 खिलाड़ियों को खेल पुरस्कार देने के सरकार...

किरण रिजिजू ने रेकॉर्ड 74 खिलाड़ियों को खेल पुरस्कार देने के सरकार के फैसले का बचाव किया

नई दिल्ली
केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजिजू ने शनिवार को सरकार के इस साल रेकॉर्ड 74 खिलाड़ियों को राष्ट्रीय खेल पुरस्कार से सम्मानित करने के फैसले का बचाव किया जिसकी कड़ी आलोचना हो रही है। खेल मंत्रालय की चयन समिति ने इस साल स्टार क्रिकेटर रोहित शर्मा और पहलवान विनेश फोगाट सहित पांच खिलाड़ियों को खेल रत्न जबकि 27 खिलाड़ियों को अर्जुन पुरस्कार के लिए चुना।

मंत्रालय ने द्रोणाचार्य पुरस्कार के लिए 13 और ध्यानचंद पुरस्कारों के लिए 15 कोचों का चयन किया। रिजिजू ने शनिवार को कहा, ‘हमारे खिलाड़ियों का अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रदर्शन बेहतर हुआ है। जब हमारे खिलाड़ी बेहतर प्रदर्शन करते हैं तो उन्हें सराहा और पुरस्कृत किया जाना चाहिए। अगर सरकार उनकी उपलब्धियों को सम्मानित नहीं करती तो इससे भारत की उभरती हुई खेल प्रतिभाओं का उत्साह कम होगा।’

देखें, किस खिलाड़ी को मिला कौन सा राष्ट्रीय पुरस्कार, पूरी लिस्ट

उन्होंने कहा, ‘पिछले वर्षों की तुलना में भारतीय खिलाड़ियों का प्रदर्शन काफी अच्छा रहा जिसके कारण पुरस्कार विजेताओं की संख्या भी बढ़ी।’ खेल मंत्री ने कहा कि उनके मंत्रालय ने खेल पुरस्कारों पर फैसला नहीं किया क्योंकि विजेताओं का चयन सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश की अध्यक्षता में स्वंतत्र समिति ने किया।

रिजिजू ने कहा, ‘दूसरा, चयन के लिए उचित प्रक्रिया होनी चाहिए। खेल पुरस्कारों के लिए समिति की अध्यक्षता सुप्रीम कोर्ट पूर्व न्यायाधीश ने की और इसमें खेल जगत के मशहूर लोग शामिल थे।’

खेल मंत्री ने कहा, ‘जब वे फैसला करते हैं तो इसके लिए गहन विचार-विमर्श होता है, चर्चा होती है और कुछ निर्धारित दिशानिर्देश होते हैं जिनके आधार पर वे निर्णय लेते हैं।’ रिजिजू ने यह भी कहा कि अगर कोई उम्मीदवार इस साल पुरस्कारों के लिए नहीं चुना गया तो उसे अगले साल सम्मानित किया जाएगा। उन्होंने कहा, ‘कई मौकों पर निराशायें हो सकती हैं लेकिन खेल पुरस्कार सिर्फ एक साल नहीं दिए जाते। यह चार वर्षों के लगातार प्रदर्शन के आधार पर होता है। इसलिए अगर किसी खिलाड़ी को इसलिये छोड़ दिया जाता है कि उसके ही वर्ग में अन्य दावेदार थे तो उसे अगले साल पुरस्कृत किया जाएगा।’

उन्होंने कहा, ‘मंत्री पुरस्कारों पर फैसला नहीं करता, मंत्री सिर्फ सरकार की ओर से मंजूरी देता है क्योंकि तकनीकी समिति ही इस पर फैसला करती है।’ रिजिजू ने शनिवार सुबह यहां मेजर ध्यानचंद नैशनल स्टेडियम में हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद की 115वीं जयंती के अवसर पर उनकी प्रतिमा पर पुष्प अर्पित किए।

इसी दिन को राष्ट्रीय खेल दिवस के रूप में मनाया जाता है। रिजिजू के साथ इस मौके पर अन्य गणमान्य व्यक्ति भी मौजूद थे और उन्होंने स्टेडियम में खेलो इंडिया ई-पाठशाला को संबोधित करने का भी समय निकाला। भारतीय खेल प्राधिकरण की ओर से जारी बयान में रिजिजू ने कहा, ‘आज का दिन हम सभी के लिए बहुत अहम है, विशेषकर खेल जगत के लिए। मेजर ध्यानचंद के भारत के लिये लगातार तीन स्वर्ण पदक और उनका अनुकरणीय कौशल और दृढ़ संकल्प हर भारतीय को गौरवान्वित करता है।’

रिजिजू ने कहा, ‘इस राष्ट्रीय खेल दिवस के मौके पर सरकार खेल पुरस्कार प्रदान करती है और मैं देश को गौरवान्वित करने वाले सभी पुरस्कार विजेताओं को बधाई देना चाहूंगा।’

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

रजिस्ट्रेशन आसान हो, वैक्सीन के सुरक्षा घेरे में सब लाए जाएं

देश में 18 साल से ऊपर के सभी लोगों को टीकाकरण के दायरे में लाने की शुरुआत इस महीने की पहली तारीख से हुई,...

केंद्र ही खरीदे टीका

दिल्ली सरकार ने कोवैक्सीन की कमी की बात कहते हुए 18-44 साल आयुवर्ग के लिए चल रहे 100 टीकाकरण केंद्र बंद कर दिए हैं।...

गांवों में फैला कोरोना

जहां एक ओर बुरी तरह प्रभावित राज्यों और बड़े शहरों में कोरोना संक्रमण की स्थिति में हल्का सुधार दिखने से राहत महसूस की जा...

तालमेल से बनेगी बात

केंद्र सरकार ने सोमवार को में वैक्सीन पॉलिसी पर अपने रुख का बचाव करते हुए कहा कि महामारी से कैसे निपटना है, यह...

Recent Comments