Home Sport खेल रत्न पुरस्कार विजेता विनेश फोगाट कोविड-19 टेस्ट में पॉजिटिव निकलीं

खेल रत्न पुरस्कार विजेता विनेश फोगाट कोविड-19 टेस्ट में पॉजिटिव निकलीं

एशियाई और राष्ट्रमंडल खेलों की स्वर्ण विजेता पहलवान विनेश फोगाट ने कहा कि वह कोविड-19 जांच में पॉजिटिव आई हैं। भारतीय के सर्वोच्च खेल सम्मान राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार के लिए चुने गए पांच खिलाड़ियों में से एक स्टार महिला पहलवान विनेश फोगाट इस समय सोनीपत के अपने गांव में कोच ओम प्रकाश के साथ ट्रेनिंग कर रही हैं।

विनेश ने 2018 में हुए राष्ट्रमंडल और एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीते हैं। विनेश ने पिछले साल विश्व चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीतकर टोक्यो ओलंपिक के लिए कोटा हासिल किया था। वो अभी तक एकमात्र भारतीय महिला पहलवान हैं, जिन्होंने अगले साल होने वाले टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वॉलिफाई किया है।

नैशनल खेल अवॉर्ड्स: रोहित-ईशांत सेरेमनी में नहीं ले पाएंगे हिस्सा

विनेश फोगाट का नाम 2018 लगातार खेल रत्न के लिए नाम भेजा जा रहा था, लेकिन अब दो साल बाद उन्हें खेल रत्न देने की घोषणा की गई है। विनेश फोगाट ने बताया कि खेल रत्न की घोषणा के बारे में उन्हें उस समय पता चला, जब उनके पास परिचितों व साथी पहलवानों के बधाई के लिए फोन आने लगे।

विनेश कहती हैं कि जितनी खुशी उन्हें खेल रत्न मिलने से हुई है, उतनी ही देश के लोगों की उनसे ओलंपिक मेडल की उम्मीद बढ़ गई है। लेकिन यह खेल रत्न ओलंपिक के लिए उनका हौसला बढ़ाएगा और वह अगले महीने से कोरोना के समय में प्रैक्टिस से कुछ दूर रहने की कमी को पूरा करेंगी। जिसके लिए वह ज्यादा मेहनत करेंगी और अपनी हर कमी को दूर करने का प्रयास करेंगी। जिससे ओलंपिक के लिए बढ़ी जिम्मेदारी को बखूबी निभा सकें।

अर्जुन पुरस्कार विजेता सात्विक साइराज निकले कोरोना पॉजिटिव


Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

वैक्सीन में कितना अंतर हो

भारत में कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड के दो डोज के बीच अंतर को बढ़ाकर 12 से 16 सप्ताह किए जाने के फैसले पर सवाल-जवाब का...

रजिस्ट्रेशन आसान हो, वैक्सीन के सुरक्षा घेरे में सब लाए जाएं

देश में 18 साल से ऊपर के सभी लोगों को टीकाकरण के दायरे में लाने की शुरुआत इस महीने की पहली तारीख से हुई,...

केंद्र ही खरीदे टीका

दिल्ली सरकार ने कोवैक्सीन की कमी की बात कहते हुए 18-44 साल आयुवर्ग के लिए चल रहे 100 टीकाकरण केंद्र बंद कर दिए हैं।...

गांवों में फैला कोरोना

जहां एक ओर बुरी तरह प्रभावित राज्यों और बड़े शहरों में कोरोना संक्रमण की स्थिति में हल्का सुधार दिखने से राहत महसूस की जा...

Recent Comments