Home Sport सर डॉन ब्रैडमैन का जन्मदिन: जानिए उनके बारे में खास बातें

सर डॉन ब्रैडमैन का जन्मदिन: जानिए उनके बारे में खास बातें

सर डॉनल्ड ब्रैडमन- क्रिकेट की दुनिया में बल्लेबाजी का वह नाम जो किंदवंती बन गया। एक मिसाल बल्कि कहें कि एक आसमान जिसे बस देखा जा सकता है, तुलना की जा सकती है लेकिन छुआ नहीं जा सकता। डॉन ब्रैडमैन वही बन गए। आज इसी महान ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज का आज 112वां जन्मदिन है। आज ही के दिन 1908 में ऑस्ट्रेलिया के न्यू साउथ वेल्स इलाके में उनका जन्म हुआ।

अगर वह जीरो नहीं होता

ब्रैडमैन की बात होती है तो उनके जादुई आंकड़ों की बात होना लाजमी है। ब्रैडमैन के बल्लेबाजी का औसत 99.94 का है। कोई दूसरा बल्लेबाज इसके आसपास भी नहीं पहुंच पाया है। 1948 में ओवल में अपनी आखिरी टेस्ट पारी में ब्रैडमैन को 100 के बल्लेबाजी औसत तक पहुंचने के लिए सिर्फ 4 रन बनाने थे लेकिन वह दूसरी ही गेंद पर 0 पर आउट हो गए।

बॉडी लाइन में भी चमके ब्रैडमैन

1932-33 के बॉडी लाइन सीरीज में इंग्लैंड ने लगातार ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाजों के शरीर पर घातक गेंदबाजी की। इंग्लैंड के कप्तान डगलस जॉरडिन के इस फैसले की बहुत आलोचना हुई। इसके बावजूद ब्रैडमैन ने इस सीरीज में 56.57 के औसत से रन बनाए।

अच्छी नहीं रही थी शुरुआत

ब्रैडमैन ने अपने करियर की शुरुआत 30 नवंबर 1928 को इंग्लैंड के खिलाफ की। हालांकि उनका टेस्ट डेब्यू बहुत अच्छा नहीं रहा। पहली पारी में उन्होंने 18 और दूसरी में सिर्फ 1 रन बनाया। इंग्लैंड ने वह मैच 675 रन से जीता। ऑस्ट्रेलिया के सामने दूसरी पारी में 742 रन का लक्ष्य था लेकिन उनकी टीम सिर्फ 66 रन पर ऑल आउट हो गई।

सेना में भी हुए थे भर्ती

ब्रैडमैन 1940 में सेना में बतौर लेफ्टिनेंट भर्ती भी हुए लेकिन तीन बार बीमार होने के कारण उन्हें 1941 में नौकरी से मुक्त कर दिया गया।

रेकॉर्ड बेमिसाल

ब्रैडमैन के नाम 52 टेस्ट मैचों में 6996 रन हैं उन्होंने 29 शतक और 13 अर्धशतक लगाए। ब्रैडमैन के नाम 12 डबल सेंचुरी हैं जो एक रेकॉर्ड है। कुमार संगाकारा के नाम 11 डबल सेंचुरी हैं।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

वैक्सीन में कितना अंतर हो

भारत में कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड के दो डोज के बीच अंतर को बढ़ाकर 12 से 16 सप्ताह किए जाने के फैसले पर सवाल-जवाब का...

रजिस्ट्रेशन आसान हो, वैक्सीन के सुरक्षा घेरे में सब लाए जाएं

देश में 18 साल से ऊपर के सभी लोगों को टीकाकरण के दायरे में लाने की शुरुआत इस महीने की पहली तारीख से हुई,...

केंद्र ही खरीदे टीका

दिल्ली सरकार ने कोवैक्सीन की कमी की बात कहते हुए 18-44 साल आयुवर्ग के लिए चल रहे 100 टीकाकरण केंद्र बंद कर दिए हैं।...

गांवों में फैला कोरोना

जहां एक ओर बुरी तरह प्रभावित राज्यों और बड़े शहरों में कोरोना संक्रमण की स्थिति में हल्का सुधार दिखने से राहत महसूस की जा...

Recent Comments