Home Gadgets चाइनीज कंपनी के फोन में 'खतरनाक' मैलवेयर, यूजर्स का डेटा और पैसे...

चाइनीज कंपनी के फोन में ‘खतरनाक’ मैलवेयर, यूजर्स का डेटा और पैसे चोरी

नई दिल्ली
चाइनीज कंपनियों के स्मार्टफोन्स कम कीमत पर दमदार स्पेसिफिकेशंस देने की वजह से पॉप्युलर हैं और भारत में इनका बड़ा मार्केट शेयर भी है। शाओमी और रियलमी जैसे ब्रैंड्स बजट रेंज में सबसे ज्यादा पसंद किए जाते हैं। हालांकि, एक नई रिपोर्ट चाइनीज स्मार्टफोन यूजर्स की चिंता बढ़ा सकती है। सामने आया है कि एक चाइनीज ब्रैंड के स्मार्टफोन्स में कंपनी मैलवेयर प्री-इंस्टॉल कर रही थी और इसकी मदद से यूजर्स का डेटा और पैसे चुराए जा रहे थे।

फिलहाल सवाल चाइनीज ब्रैंड Tecno पर उठ रहे हैं, जिसो Transsion Holdings कंपनी ऑफर करती है। कंपनी के दो और ब्रैंड्स Itel और Infinix एंट्री-लेवल बजट फोन बनाते हैं। टेक्नो और इनफिनिक्स दोनों ही भारत में पॉप्युलर हैं और इनका दूसरा बड़ा मार्केट अफ्रीका है। मोबाइल सिक्यॉरिटी सर्विस Secure-D और BuzzFeed की ओर से की जा रही जांच में यह बात सामने आई है कि कंपनी के डिवाइसेज में मैलवेयर प्री-इंस्टॉल किए गए हैं।

पढ़ें: टूटी स्क्रीन वाले फोन के बदले ₹5000 का डिस्काउंट दे रहा सैमसंग, गजब का ऑफर

खतरनाक हैं मैलवेयर
सामने आया है कि ब्रैंड के Tecno W2 स्मार्टफोन में दो मैलवेयर xHelper और Triada मिले हैं। इनकी मदद से बिना यूजर को पता चले डिवाइस में ऐप डाउनलोड और इंस्टॉल किए जा सकते हैं और पेड सर्विसेज का सब्सक्रिप्शन लिया जा सकता है। इस स्मार्टफोन के एक यूजर ने पाया कि उसका काफी डेटा खर्च हो रहा था और बिना उसे पता चले एक सर्विस का सब्सक्रिप्शन मेसेज उसे आया, जबकि यूजर ने कभी उस सर्विस के लिए साइन-अप किया ही नहीं था।

कंपनी ने मानी गलती
बाद में कन्फर्म भी हुआ कि Tecno W2 फोन में Triada और xHelper मैलवेयर मौजूद हैं। Buzzfeed की रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी ने सप्लाई चेन के वेंडर को इसके लिए जिम्मेदार बताया है। कंपनी का कहना है कि उसे मैलवेयर से कोई प्रॉफिट नहीं मिल रहा है। हालांकि, कितने स्मार्टफोन्स मैलवेयर की वजह से प्रभावित हैं, इस बारे में डीटेल्स कंपनी ने शेयर नहीं किए।

पढ़ें: पीछे लौटेगा सैमसंग, फिर निकाली जा सकेगी स्मार्टफोन की बैटरी

इस ब्रैंड में भी मैलवेयर
Secure-D की मानें तो इसके सिक्यॉरिटी सिस्टम ने 844,000 फ्रॉड ट्रांजैक्शन ब्लॉक किए हैं। ये ट्रांजैक्शन पिछले साल मार्च से दिसंबर के बीच सस्ते स्मार्टफोन्स में इंस्टॉल मैलवेयर की मदद से किए जा रहे थे। सिक्यॉरिटी फर्म ने कहा कि TCL टेक्नॉलजी के Alcatel के फोन्स में भी मैलवेयर प्री-इंस्टॉल मिले हैं। हालांकि, ये कंपनी भारत में फोन नहीं बनाती और ब्राजील-म्यांमार में पॉप्युलर है।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

इस्राइल-फलस्तीन विवाद: रुके हिंसा का यह दौर

इस्राइल और फलस्तीन के बीच पिछले एक हफ्ते से जारी भीषण गोलाबारी से चिंतित वैश्विक समुदाय ने ठीक ही अपील की है कि सबसे...

वैक्सीन में कितना अंतर हो

भारत में कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड के दो डोज के बीच अंतर को बढ़ाकर 12 से 16 सप्ताह किए जाने के फैसले पर सवाल-जवाब का...

रजिस्ट्रेशन आसान हो, वैक्सीन के सुरक्षा घेरे में सब लाए जाएं

देश में 18 साल से ऊपर के सभी लोगों को टीकाकरण के दायरे में लाने की शुरुआत इस महीने की पहली तारीख से हुई,...

केंद्र ही खरीदे टीका

दिल्ली सरकार ने कोवैक्सीन की कमी की बात कहते हुए 18-44 साल आयुवर्ग के लिए चल रहे 100 टीकाकरण केंद्र बंद कर दिए हैं।...

Recent Comments