Home Sport टीम की हार को नहीं पचा पाए नेमार, आंखों से निकल गए...

टीम की हार को नहीं पचा पाए नेमार, आंखों से निकल गए आंसू

नेमार और काइलिन मबापे पेरिस सेंट जर्मेन (पीएसजी) की चैंपियन्स लीग फाइनल में बायर्न म्यूनिख के हाथों 1-0 से हार के बाद बेहद निराश थे क्योंकि उन्हें आखिर तक इस परिणाम की उम्मीद नहीं थी। ये दोनों खिलाड़ी पीएसजी की बेंच पर अगल-बगल में बैठे थे। मबापे के चेहरे पर मायूसी साफ दिख रही थी जबकि नेमार अपने आंसू नहीं रोक पाए और उन्होंने अपना मुंह ढक दिया। पीएसजी का चैंपियन्स लीग का अपना पहला खिताब जीतने का इंतजार एक साल और बढ़ गया क्योंकि नेमार और मबापे फाइनल में अपेक्षाओं पर खरे नहीं उतरे। इन दोनों ने लचर प्रदर्शन किया।

बाईचुंग भूटिया के नाम पर रख जाएगा फुटबॉल स्टेडियम का नाम

फ्रांसीसी टीम के सबसे बड़े स्टार खिलाड़ियों ने अपनी टीम को पहली बार यूरोपीय क्लब टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचाया था लेकिन खिताबी मुकाबले में वे किसी भी समय अपने असली रंग में नहीं दिखे। पीएसजी ने पहली बार चैंपियन्स लीग जीतने के लिए इन खिलाड़ियों पर करोड़ों डॉलर खर्च किए लेकिन निर्णायक मैच में उनका जादू नहीं चला। मबापे और नेमार दोनों को पहले हाफ में मौके मिले लेकिन वे उसका फायदा नहीं उठा पाए। दूसरे हाफ में तो वे किसी भी समय अपना प्रभाव नहीं छोड़ पाए। बायर्न ने 59वें मिनट में बढ़त हासिल कर ली थी और पीएसजी को वापसी दिलाने का जिम्मा इन दोनों खिलाड़ियों पर था।

बायर्न म्यूनिख ने PSG को हराकर छठी बार जीता यूरोपीय कप

पीएसजी के कोच थामस टचेल ने कहा कि पिछले कुछ सप्ताहों में हमने वह सब कुछ किया जो जीत के लिए जरूरी होता है। फुटबॉल में आपको यह स्वीकार करना होगा कि भाग्य भी बड़ी भूमिका निभा सकता है। हमारे पास मौके थे लेकिन हम गोल नहीं कर पाए, लेकिन हम यह नहीं कह सकते कि यह किसी की गलती है। नेमार के पास 18वें मिनट में गोल करने का मौका था लेकिन उनका शॉट नेयुर ने रोक दिया। मबापे को भी बायर्न के गोलमुख के पास दो मौके मिले लेकिन वे विरोधी टीम के रक्षकों को नहीं छका पाए। यह जोड़ी इसके बाद दूसरे हाफ में पीएसजी को मिले सर्वश्रेष्ठ अवसरों को भी नहीं भुना सकी। मबापे 72वें मिनट में तेजी से गेंद लेकर आगे बढ़े लेकिन वे गोल करने में नाकाम रहे। नेमार के पास इंजुरी टाइम में मौका था लेकिन उन्हें भी असफलता ही देखने को मिली।


Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Karwa Chauth  2020: अरेबिक मेहंदी स्टाइल क्या है, देखें ट्रेंडिंग मेहंदी डिजाइन्स 

फेस्टिव सीजन चल रहा है, ऐसे में मेहंदी लगाने का भी ट्रेडिशन है। खासतौर पर करवाचौथ पर महिलाएं अलग-अलग तरह की मेहंदी डिजाइन्स...

जीएम वायरस के जरिये वापस लौटेगी खोई आंखों की रेशनी, वैज्ञानिकों को मिली बड़ी सफलता

एक वायरस की जेनेटिक संरचना में बदलाव कर आंखों का नूर लौटाना मुमकिन है। अमेरिकी वैज्ञानिकों ने दृष्टिहीन चूहों पर सफल आजमाइश के बाद...

प्रदूषण के साथ ही बढ़ गए त्वचा संक्रमण के 20 फीसदी मरीज, जानें बचाव के लिए क्या करना है जरूरी

प्रदूषण बढ़ने के साथ त्वचा संक्रमण के 20 फीसदी मरीज बढ़ गए हैं। शुष्क त्वचा, खुजली और अलग-अलग एलर्जी के मामले बढ़ रहे हैं।...

लॉकडाउन ने बढ़ाई मोटापे से जूझ रहे लोगों की परेशानी, मानसिक सेहत पर भी पड़ा बुराअसर

कोरोना महामारी ने दुनियाभर में लोगों की नींद और चैन छीन लिया है। संक्रमण की वजह से शुरुआत में लगे लॉकडाउन के चलते लोगों...

Recent Comments