Home Sport धोनी लीक से हटकर, सामने आने वाली हर बाधा को पार करने...

धोनी लीक से हटकर, सामने आने वाली हर बाधा को पार करने में माहिर थे: माइकल होल्डिंग

किंगस्टन
वेस्टइंडीज के अपने जमाने के दिग्गज तेज गेंदबाज माइकल होल्डिंग (Michael holding) ने हाल में संन्यास लेने वाले महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) को ‘लीक से हटकर’ खिलाड़ी करार दिया है। होल्डिंग ने कहा कि धोनी ने अपने करियर की शुरुआत से ही विरोधी टीमों को तहस नहस करने में कसर नहीं छोड़ी और फिर हमेशा खुद के खेल पर नियंत्रण बनाए रखा।

कप्तान के तौर पर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) की सभी ट्रोफियां जीतने वाले धोनी ने 15 अगस्त को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया। उन्होंने अपना आखिरी मैच एक साल से भी अधिक समय पहले वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेला था। होल्डिंग ने दुनिया भर के अन्य क्रिकेटरों की तरह धोनी की जमकर प्रशंसा की।

विराट की कप्तानी वाली टीम भारत की सर्वश्रेष्ठ टेस्ट टीम: सुनील गावस्कर

होल्डिंग ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा, ‘धोनी ने जब पहली बार भारत की तरफ से वनडे खेलने शुरू किया तो उनके लंबे बाल हुआ करते थे। वह लीक से हटकर नजर आते थे। वह ऐसे नजर आते हैं, जैसे वह अपने सामने आने वाली हर चीज को तहस नहस करने के लिए आए हैं और उन्होंने काफी हद तक ऐसा किया।’

धोनी ने अपने करियर में कई तरह की ‘हेयरस्टायल’ अपनाए लेकिन अपने करियर के शुरुआती चरण में वह लंबे बाल रखा करते थे, जिनको लेकर काफी चर्चा हुई थी। उन्होंने भारत की तरफ से 2004 में पदार्पण किया था। होल्डिंग ने उनकी लंबे शॉट लगाने की क्षमता की तारीफ करते हुए कहा, ‘अपने पूरे करियर के दौरान उन्होंने 229 छक्के (वनडे में) लगाए। जब आप इस संख्या के बारे में सोचते हो तो आप यह भी सोचते हों कि उसने इतने छक्के और चौके लगाने के लिए 40 साल तक क्रिकेट खेली होगी। लेकिन यही उनका स्वभाव है।’

मेरे पति की याद दिलाते हैं एमएस धोनी: सानिया मिर्जा

उन्होंने कहा, ‘जब धोनी ने शुरुआत की थी तो वह बिग हिटर थे और इसलिए उन्होंने इतने अधिक चौके और छक्के लगाए। जब उनके बाल थोड़ा सफेद होने लगे तो उन्होंने इसमें थोड़ा बदलाव किया और उनकी बल्लेबाजी अधिक नियंत्रित हो गई। जिसने भी मैदान पर धोनी को देखा होगा वह जानता था कि वह नियंत्रण में और शांतचित रहते हैं और कभी नियंत्रण से बाहर नहीं जाते।’

MS-Dhoni-Graphics

भारत को T20 वर्ल्ड कप, वनडे वर्ल्ड कप और चैंपियन्स ट्रोफी में जीत दिलाने वाले कप्तान धोनी को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के सर्वश्रेष्ठ कप्तानों में गिना जाता रहा है। होल्डिंग ने कहा, ‘वह क्या शानदार कप्तान थे। वह कितने सफल रहे। जब वह कप्तानी कर रहे होते थे तो आपने कभी उन्हें उत्तेजित होते हुए नहीं देखा होगा।’

धोनी की कप्तानी ने कप्तानों के नजरिए को बदला: लक्ष्मीपति बालाजी

उन्होंने कहा, ‘अगर चीजें नियंत्रण से बाहर जा रही हों तो वह अपने खिलाड़ियों को बुलाते थे। उनसे शांतचित होकर बात करते थे और चीजें खुद ही बदल जाती थी। उनका इस तरह का प्रभाव था।’ धोनी ने अपने करियर में 90 टेस्ट मैचों में 4,876 रन बनाए तथा 256 कैच लेने के अलावा 38 स्टंप किए। उन्होंने 321 वनडे में 10,773 रन बनाने के अलावा 321 कैच लिए और 123 स्टंप किए। उन्होंने 98 टी20 मैच खेले जिसमें 1617 रन बनाए, 57 कैच लिए और 34 स्टंप किए।

उन्होंने टेस्ट मैचों में 6 शतक और वनडे में 10 शतक लगाए। होल्डिंग ने कहा कि यह सराहनीय है कि धोनी ने अपने करियर में लगभग 5000 टेस्ट रन बनाए और विकेटकीपर की अपनी भूमिका के साथ हमेशा न्याय किया। उन्होंने कहा, ‘उनका करियर क्या शानदार था। इस खिलाड़ी ने लगभग 5000 टेस्ट रन बनाए, जबकि वह विशुद्ध बल्लेबाज नहीं थे, वह विकेटकीपर थे। इतने लंबे करियर में विकेटकीपर रहते हुए इतनी अच्छी भूमिका निभाना सराहनीय है।’

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

रजिस्ट्रेशन आसान हो, वैक्सीन के सुरक्षा घेरे में सब लाए जाएं

देश में 18 साल से ऊपर के सभी लोगों को टीकाकरण के दायरे में लाने की शुरुआत इस महीने की पहली तारीख से हुई,...

केंद्र ही खरीदे टीका

दिल्ली सरकार ने कोवैक्सीन की कमी की बात कहते हुए 18-44 साल आयुवर्ग के लिए चल रहे 100 टीकाकरण केंद्र बंद कर दिए हैं।...

गांवों में फैला कोरोना

जहां एक ओर बुरी तरह प्रभावित राज्यों और बड़े शहरों में कोरोना संक्रमण की स्थिति में हल्का सुधार दिखने से राहत महसूस की जा...

तालमेल से बनेगी बात

केंद्र सरकार ने सोमवार को में वैक्सीन पॉलिसी पर अपने रुख का बचाव करते हुए कहा कि महामारी से कैसे निपटना है, यह...

Recent Comments