Home Sport आईसीसी हॉल ऑफ फेम में शामिल एशियन 'ब्रैडमैन' जहीर अब्बास, इन दो...

आईसीसी हॉल ऑफ फेम में शामिल एशियन ‘ब्रैडमैन’ जहीर अब्बास, इन दो दिग्गजों को भी मिला सम्मान

दुबईएशिया के ब्रैडमैन कहे जाने वाले पूर्व पाकिस्तानी दिग्गज बल्लेबाज को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) हॉल ऑफ फेम में शामिल किया गया है। उनके अलावा दक्षिण अफ्रीका के दिग्गज ऑलराउंडर और पुणे में जन्मी पूर्व ऑस्ट्रेलिया महिला कप्तान को भी यह सम्मान दिया गया। आईसीसी ने रविवार को यह घोषणा की। आईसीसी ने कोविड-19 महामारी के कारण वर्चुअल समारोह का आयोजन किया। इसमें कैलिस के अलावा लंबे समय तक उनके साथी रहे शॉन पोलाक और भारतीय दिग्गज सुनील गावसकर ने भी हिस्सा लिया।

जैक कैलिस का धांसू करियरक्रिकेट में बेहतरीन ऑलराउंडरों में से एक कैलिस ने दक्षिण अफ्रीका की तरफ से 1995 से लेकर 2014 तक 166 टेस्ट, 328 वनडे और 25 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले। यह 44 वर्षीय खिलाड़ी दक्षिण अफ्रीका की तरफ से टेस्ट (13,289 रन) और वन डे (11,579 रन) में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं। उन्होंने इसके अलावा तेज गेंदबाज के रूप में टेस्ट में 292 और वनडे में 273 विकेट हासिल किए।

अब्बास इसलिए कहे जाते हैं एशिया के ब्रैडमैनइस समारोह में जिन तीसरे क्रिकेटर को हॉल ऑफ फेम में शामिल किया गया वह जहीर अब्बास थे जिन्हें एशियाई ब्रैडमैन कहा जाता है। अब्बास ने इंटरनेशनल करियर में 78 टेस्ट मैच खेलकर 44.79 के एवरेज से 5.62 रन बनाए। इस दौरान उन्होंने 12 शतक और 20 अर्धशतक लगाए। इसके अलावा 62 वनडे मैचों में 47.62 के एवरेज से 2572 रन बनाए, जबकि 7 सेंचुरी और 13 हाफ सेंचुरी उनके नाम है। फर्स्ट क्लास क्रिकेट की बात करें तो उनके नाम 459 मैचों में 108 शतक और 158 अर्धशतक समेत 34843 रन दर्ज हैं। इस मामले में सचिन तेंडुलकर और सुनील गावसकर (81-81 शतक) भी उनसे पीछे हैं।

गावसकर ने की विजेताओं की तारीफ में 2009 में शामिल होने वाले गावसकर ने जैक कैलिस के लिए कहा, ‘वह एक विशाल व्यक्तित्व हैं। यह शब्द उन पर अच्छी तरह से जंचता है। वह आईसीसी हॉल ऑफ फेम में शामिल होने के सच्चे हकदार थे।’

भारत में भी प्रेरणास्रोत है स्टालेकरगावसकर ने महिला क्रिकेटर स्टालेकर की भी तारीफ की। उन्होंने कहा, ‘यह अच्छा है कि एक और ‘कर’ आईसीसी हॉल ऑफ फेम में शामिल हो गया है। शानदार। आप केवल ऑस्ट्रेलिया ही नहीं भारत में भी प्रेरणास्रोत हो।’ स्टालेकर ने ऑस्ट्रेलिया की तरफ से आठ टेस्ट, 125 वनडे और 54 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले।

अब्बास के बोले- देर आए दुरस्त आएगावसकर ने कहा, ‘मैं बहुत खुश हूं। इसका उनसे अधिक हकदार कोई अन्य नहीं था। मुझे नहीं पता कि उन्हें यह सम्मान मिलने में इतनी देर क्यों हुई। लेकिन देर आए दुरस्त आये। जब आप उन्हें बल्लेबाजी करते हुए देखते थे तो बहुत आनंद आता था, भले ही वह आपके खिलाफ ही क्यों नहीं खेल रहे हों।’

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

रजिस्ट्रेशन आसान हो, वैक्सीन के सुरक्षा घेरे में सब लाए जाएं

देश में 18 साल से ऊपर के सभी लोगों को टीकाकरण के दायरे में लाने की शुरुआत इस महीने की पहली तारीख से हुई,...

केंद्र ही खरीदे टीका

दिल्ली सरकार ने कोवैक्सीन की कमी की बात कहते हुए 18-44 साल आयुवर्ग के लिए चल रहे 100 टीकाकरण केंद्र बंद कर दिए हैं।...

गांवों में फैला कोरोना

जहां एक ओर बुरी तरह प्रभावित राज्यों और बड़े शहरों में कोरोना संक्रमण की स्थिति में हल्का सुधार दिखने से राहत महसूस की जा...

तालमेल से बनेगी बात

केंद्र सरकार ने सोमवार को में वैक्सीन पॉलिसी पर अपने रुख का बचाव करते हुए कहा कि महामारी से कैसे निपटना है, यह...

Recent Comments