Home Sport सुरेश रैना बोले, टीम में अगर होते अंबाती रायुडू तो भारत 2019...

सुरेश रैना बोले, टीम में अगर होते अंबाती रायुडू तो भारत 2019 में जीत जाता वर्ल्ड कप

नई दिल्ली
पूर्व भारतीय क्रिकेटर सुरेश रैना ने कहा है कि पिछले साल वनडे वर्ल्ड कप में भारतीय टीम चैंपियन बन सकती थी, बशर्ते उसमें अंबाती रायूडु को मौका मिला होता। विराट कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया को 2019 वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में हार का सामना करना पड़ा था।

2019 में आईसीसी वर्ल्ड कप शुरू होने से पहले भारतीय टीम को खिताब के सबसे प्रबल दावेदारों में गिना जा रहा था लेकिन टीम इंडिया सेमीफाइनल में हार गई। सेमीफाइनल से पहले टीम इंडिया ने जिस तरह का प्रदर्शन किया, उससे लगा था कि टीम इस बार खिताब अपने नाम कर लेगी लेकिन ऐसा हो नहीं सका। उसे न्यूजीलैंड के खिलाफ सेमीफाइनल में करीबी हार झेलनी पड़ी, जिससे टीम इंडिया वर्ल्ड कप से बाहर हो गई।

पढ़ें, ‘हिटमैन’ रोहित शर्मा को मिलेगा खेल रत्न अवार्ड, BCCI ने दी बधाई

हाल में इंटरनैशनल क्रिकेट से संन्यास लेने वाले सीमित ओवरों के धुरंधर क्रिकेटर सुरेश रैना ने अब ऐसे क्रिकेटर का नाम बताया, जिसके होने से टीम इंडिया वर्ल्ड कप जीत सकती थी। रैना ने ‘क्रिकबज’ से कहा, ‘मैं चाहता था कि रायुडू भारत के लिए नंबर-4 पर बल्लेबाजी करें। करीब डेढ़ साल से उन्होंने कड़ी मेहनत की और अच्छा प्रदर्शन किया था। हालांकि वह टीम में शामिल नहीं किए गए।’

भारत vs ऑस्ट्रेलिया: अंबाती रायुडू के बोलिंग ऐक्शन की होगी जांच

उन्होंने कहा, ‘2018 के दौरे का मैंने आनंद नहीं उठाया था, क्योंकि हालात कुछ ऐसे थे, जहां रायुडू फिटनेस टेस्ट में फेल हो गए। उन्हें यह बिलकुल अच्छा नहीं लगा कि वह फिटनेस टेस्ट पास नहीं कर सके। उनकी जगह मुझे टीम में चुना गया।’

वर्ल्ड कप के दौरान टीम इंडिया को नंबर-4 के बल्लेबाज को लेकर काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। हालांकि टूर्नमेंट में ओपनरों का प्रदर्शन सराहनीय रहा। तब एमएसके प्रसाद की अगुआई वाली सिलेक्शन कमिटी ने रायुडू को वर्ल्ड कप टीम में नहीं चुना और उनकी जगह विजय शंकर को टीम में शामिल किया था। इसे लेकर काफी विवाद भी हुआ। इतना ही नहीं, रायुडू ने सोशल मीडिया पर अपना गुस्सा भी जाहिर किया था।

गत 15 अगस्त को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहने वाले रैना ने कहा, ‘वह (रायुडू) नंबर-4 के लिए अच्छे बल्लेबाज थे। अगर वह वर्ल्ड कप टीम का हिस्सा होते तो शायद हम खिताब अपने नाम कर लेते। वह जिस तरह से खेलते हैं, उस नंबर के लिए सर्वश्रेष्ठ विकल्प थे। चेन्नै में ट्रेनिंग कैंप में भी उन्होंने अच्छी बल्लेबाजी की।’

पिछले साल वर्ल्ड कप के लिए ऑलराउंडर विजय शंकर और युवा विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत को मिडिल ऑर्डर में टीम में चुना गया था लेकिन दोनों का प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा। इंग्लैंड तब वर्ल्ड चैंपियन बना था जिसने फाइनल में बाउंड्री के आधार पर सुपर ओवर में न्यूजीलैंड को हराया था।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

राजस्थान रॉयल्स और सनराइजर्स हैदराबाद के बीच मुकाबला- हार करेगी प्लेऑफ की राह मुश्किल

दुबईइंडियन प्रीमियर लीग 2020 का आधे से ज्यादा सीजन बीत चुका है लेकिन व्यावहारिक रूप से देखें तो अभी कोई भी टीम प्लेऑफ की...

कृषि कानूनों पर घमासान, पंजाब विधानसभा ने पारित किए तीन विधेयक

केंद्र सरकार द्वारा हाल में लाए गए कृषि से संबंधित तीन नए कानूनों को लेकर किसानों का विरोध अभी थमा नहीं है। इस बीच...

आईपीएल में 500 चौके लगाने वाले दूसरे बल्लेबाज बने विराट कोहली

अबू धाबीरॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के कप्तान विराट कोहली ने बुधवार को अपने नाम एक और उपलब्धि दर्ज कर ली। कोहली आईपीएल में 500 चौके...

IPL से बाहर होने पर ब्रावो को इमोशनल मेसेज, बोले चैंपियन की तरह करेगी CSK

नई दिल्लीड्वेन ब्रावो का इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) से बाहर होना चेन्नै सुपर किंग्स के लिए बड़ा झटका है। टीम पहले से ही काफी...

Recent Comments