Home Sport मेरी कॉम के साथ विवाद पर निकहत का बड़ा बयान, बोलीं- सबकुछ...

मेरी कॉम के साथ विवाद पर निकहत का बड़ा बयान, बोलीं- सबकुछ खत्म, मैं अतीत में नहीं जीती

नई दिल्ली
2020 की शुरुआत में सुर्खियां बटोरनी वाली भारत की महिला मुक्केबाज निकहत जरीन तोक्यो ओलिंपिक में क्वॉलिफाइ न करने पाने की निराशा से आगे बढ़ चुकी हैं और अब उनका ध्यान 2022 में होने वाले राष्ट्रमंडल खेल और एशियाई खेलों पर है। भारतीय मुक्केबाजी महासंघ (बीएफआई) द्वारा इस बात के संकेत दिए जाने के बाद कि ओलिंपिक क्वॉलिफायर्स के लिए ट्रायल्स नहीं होगी और मेरी कॉम सीधे क्वॉलिफायर्स खेलेंगी, तब से निकहत और मेरी कॉम के बीच विवाद गहरा गया था। निकहत ने इसके खिलाफ आवाज उठाई थी और महासंघ को ट्रायल्स करानी पड़ी थी जिसमें मेरी कॉम ने निकहत को 9-1 से हरा दिया था।

मेरी कॉम के साथ विवाद पर निकहत का बड़ा बयान, बोलीं- सबकुछ खत्म, मैं अतीत में नहीं जीतीनिकहत ने कहा, ‘हर खिलाड़ी का सपना होता है कि वह ओलिंपिक में अपने देश का प्रतिनिधित्व करे। इसलिए जब मैं तोक्यो ओलिंपिक के लिए क्वॉलिफाइ नहीं कर सकी तो मैं निराश हो गई।’ उन्होंने कहा, ‘लेकिन मैंने अपने कदम उठाए और विश्वास किया कि जो कुछ होता है किसी कारण से होता है और इस बारे में सोचने के बजाए हमें उसे कबूल करना चाहिए और आगे बढ़ना चाहिए। मैंने आगे देखने का फैसला किया। मेरा ध्यान भविष्य के टूर्नमेंट्स पर है मैं उनके लिए तैयारी कर रही हूं।’

कोविड-19 के कारण हालांकि तोक्यो ओलिंपिक खेलों को एक साल के लिए टाल दिया गया और अब यह खेल 2021 में होंगे। कोविड-19 के कारण देश में लॉकडाउन लगा था और इसी कारण मुक्केबाज ट्रेनिंग नहीं कर पाई थीं। उन्होंने इस दौरान अपने घर पर अपनी फिटनेस पर काम किया और यह सुनिश्चित किया कि वह सकारात्मक मानसिकता में रहें। निकहत ने कहा, ‘आमतौर पर मेरा रूटीन कड़ी ट्रेनिंग से भरा होता है और मैं रोज बॉक्सिंग हॉल जाती हूं। लेकिन जब से लॉकडाउन शुरू हुआ तो मुझे अपना कार्यक्रम बनाए रखने में परेशानी आई क्योंकि मेरे घर में कोई उपकरण नहीं थे और यह मेरे मानसिक और शारीरिक स्वास्थ पर असर डाल रहा था।’

इस मुक्केबाज ने कहा, ‘स्थिति के साथ तालमेल बिठाने और सीमित संसाधनों के साथ ट्रेनिंग करने के लिए मैंने कुछ उपकरण खरीदे और घर में ट्रेनिंग शुरू की। इसने आश्वस्त किया कि मैं अपनी फिटनेस बनाए रख सकूं और अपना खेल सुधार सकूं ताकि जब हालात सामान्य हो सकें तो मैं रिंग में उतरने को तैयार रहूं।’ उन्होंने कहा, ‘एक बार जब स्थिति सामान्य हो जाएगी तो मुझे पूरा भरोसा है कि मैं कुछ ही महीनों में अपनी फिटनेस के शीर्ष स्तर पर होउंगी।’

24 साल की इस खिलाड़ी ने कहा कि इस साल कोई टूर्नमेंट्स नहीं होना है इसलिए वे 2021 में होने वाले टूर्नमेंट्स के लिए अपनी फिटनेस और फुर्ती पर काम करेंगी। उन्होंने कहा, ‘अब मैंने 2022 में होने वाले राष्ट्रमंडल खेल और एशियाई खेलों को अपना लक्ष्य बनाया है। इन टूर्नमेंट्स में शानदार प्रदर्शन करने के लिए मैं तैयारी कर रही हूं। निकहत ने कहा, ‘इस साल कोई टूर्नमेंट्स नहीं होने हैं इसलिए मैं अपने आप को 2021 में होने वाले टूर्नमेंट्स के लिए फिटनेस सुधारने और फुर्ती लाने की चुनौती दे रही हूं।’

निकहत ने वेल्सपन के साथ किए करार को लेकर भी अपनी बात रखी और कहा, ‘इस सफर में वेल्सपन ने मेरा काफी साथ दिया है। मैं उनके लगातार समर्थन और मार्गदर्शन के लिए शुक्रिया अदा करती हूं। वेल्सपन मेरे खेल के कई पहलूओं का ध्यान रख रहा है जिससे मैं पूरी तरह से अपनी ट्रेनिंग पर फोकस कर पा रही हूं।’

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

सिंधु के पिता ने पुलेला गोपीचंद पर लगाए आरोप, बताया बेटी को क्यों जाना पड़ा लंदन

वर्ल्ड चैंपियन पीवी सिंधु के पिता पीवी रमन्ना ने कहा है कि उनकी बेटी बैडमिंटन विश्व महासंघ (बीडब्ल्यूएफ) के कैलेंडर के अगले साल होने...

श्रीकांत का महेंद्र सिंह धोनी पर निशाना, ‘जाधव और चावला में कौन सा स्पार्क नजर आता है’

नई दिल्लीटीम इंडिया के पूर्व कप्तान कृष्णमनचारी श्रीकांत ने महेंद्र सिंह धोनी पर जमकर हमला बोला है। चेन्नै सुपर किंग्स के राजस्थान रॉयल्स के...

कैसे हो जाति जनगणना

सामाजिक-आर्थिक (एसईसीसी) को दस साल होने जा रहे हैं। नई जनगणना शुरू होने को है लिहाजा एसईसीसी का भी फिर से चर्चा में...

Navratri Special Recipe 2020: नवरात्रि व्रत को बनाएं आसान इस टेस्टी कुट्टू चीला रेसिपी के साथ

Navratri Special Recipe 2020: नवरात्रि व्रत के फलाहार में कुट्टू के आटे से बने व्‍यंजनों का सबसे ज्यादा सेवन किया जाता है। कुट्टू न...

Recent Comments