Home Gadgets Truecaller में आया नया फीचर, स्पैम से जुड़ी हर जानकारी मिलेगी

Truecaller में आया नया फीचर, स्पैम से जुड़ी हर जानकारी मिलेगी

नई दिल्ली
Truecaller ने ऐंड्रॉयड यूजर्स के लिए Spam Activity Indicator नाम का नया फीचर जारी किया है। इस फीचर के जरिए ट्रूकॉलर ऐप में किसी कॉलर की प्रोफाइल पर टैप करने से स्पैमर की हर जानकारी देखी जा सकती है। बता दें कि फ्री नंबर सर्च और स्पैमर स्टैटिस्टिक्स ट्रूकॉलर की ऑफिशल वेबसाइट पर भी उपलब्ध है। अब मोबाइल ऐप में नई इन्फर्मेशन जैसे स्पैम रिपोर्ट्स, कॉल ऐक्टिविटी और पीक कॉलिंग आवर जैसे फीचर्स आ गए हैं। स्पैम ऐक्टिविटी इंडिकेटर को ट्रूकॉलर के मुख्य विजन यानी सुरक्षित और बेहतर कम्युनिकेशन पॉलिसी के तहत लॉन्च किया गया है।

Spam Activity Indicator का मकसद फोन कॉल रिसीव करने से पहले ट्रूकॉलर यूजर को कॉलर के बारे में जानकारी देना। अपडेट के साथ ऐप में 3 मुख्य ट्रेंड- Spam Reports, Call Activity और Peak Calling Hours दिख रहे हैं। Spam Reports से पता चलता है कि ट्रूकॉलर यूजर्स ने किसी एक नंबर को कितनी बार स्पैम मार्क किया है। अगर स्पैम मार्किंग घटती या बढ़ती रहती है तो स्पैम रिपोर्ट्स सेक्शन में प्रतिशत दिखाई देता है।

लाखों जियो फोन यूजर्स के लिए गुड न्यूज, फोन में आया शानदार फीचर

Call Activity की बात करें तो इसमें दिखता है कि सस्पेक्टेड कॉलर ने हाल ही में कितनी बार कॉलक किया है। इससे यूजर को यह आइडिया मिलता है कि वह कॉलर भरोसे लायक है या नहीं। Peak Calling Hours फीचर, जैसा कि नाम से जाहिर होता है कि स्पैम कॉलर इस समय सबसे ज्यादा ऐक्टिव है।

Nokia 3.4 बेंचमार्किंग वेबसाइट पर दिखा, इसमें होगा स्नैपड्रैगन 665 प्रोसेसर

ट्रूकॉलर का कहना है कि ये आंकड़े अभी स्पैमर की प्रोफाइल पिक्चर पर टैप करने से ऐप में देखे जा सकता हैं। आने वाले नए अपडेट के साथ यह डेटा कॉलर आईडी में दिकेगा ताकि यूजर्स को कॉल रिसीव करने से पहले ही पूरी जानकारी मिल सके। इस फंक्शन से यूजर्स को कॉल स्क्रीन पर ही सस्पेक्टेड स्पैम कॉलर की जानकारी मिलेगी ताकि वह कॉल को रिजेक्ट या इग्नोर करने का फैसला ले सके।

Spam Activity Indicator फीचर ऐंड्रॉयड ट्रूकॉलर ऐप में लाइव है। हालांकि, इसे चरणबद्ध तरीके से रोलआउट किया जा रहा है, इसलिए हो सकता है कि अभी यह फीचर आपके डिवाइस में ना पहुंचा हो।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

वैक्सीन में कितना अंतर हो

भारत में कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड के दो डोज के बीच अंतर को बढ़ाकर 12 से 16 सप्ताह किए जाने के फैसले पर सवाल-जवाब का...

रजिस्ट्रेशन आसान हो, वैक्सीन के सुरक्षा घेरे में सब लाए जाएं

देश में 18 साल से ऊपर के सभी लोगों को टीकाकरण के दायरे में लाने की शुरुआत इस महीने की पहली तारीख से हुई,...

केंद्र ही खरीदे टीका

दिल्ली सरकार ने कोवैक्सीन की कमी की बात कहते हुए 18-44 साल आयुवर्ग के लिए चल रहे 100 टीकाकरण केंद्र बंद कर दिए हैं।...

गांवों में फैला कोरोना

जहां एक ओर बुरी तरह प्रभावित राज्यों और बड़े शहरों में कोरोना संक्रमण की स्थिति में हल्का सुधार दिखने से राहत महसूस की जा...

Recent Comments