Home Sport 70 वर्ष के पूर्व ऐथलीट सुच्चा सिंह ने कोरोना को चारो खाने...

70 वर्ष के पूर्व ऐथलीट सुच्चा सिंह ने कोरोना को चारो खाने किया चित, लेकिन इस बात हैं बहुत दुखी

नई दिल्लीएशियाई खेलों के पदक विजेता धावक कोविड-19 से उबर गए हैं, लेकिन उपचार के दौरान का उनका अनुभव बहुत बुरा रहा। सुच्चा सिंह ने अपने साथ हुए दुर्व्यवहार को ‘अपमानजनक’ करार दिया और कहा कि एक खिलाड़ी जिसने देश का मान बढ़ाया है उसे भी उम्र के इस पड़ाव में इतना कुछ सहना पड़ा। यहां तक कि परीक्षण करवाने के लिए कई जगह चक्कर लगाने पड़े। सुच्चा सिंह ने 1970 एशियाई खेलों में 400 मीटर में कांस्य पदक जीता था और वह 1970 और 1974 में चार गुणा 400 मीटर रिली में रजत पदक जीतने वाली टीम के हिस्से थे।

उन्हें चार अगस्त को के लिए ‘पॉजिटिव’ पाया गया है, लेकिन 17 अगस्त को किए गए एक अन्य परीक्षण के ‘नेगेटिव’ आने के बाद उन्हें छुट्टी दे दी गई। सत्तर वर्षीय सुच्चा सिंह को जालंधर के पीआईएमएस अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उन्होंने कहा कि उपचार में उनकी मोटी धनराशि खर्च हो गई और उन्हें अपने रिश्तेदारों की मदद से ढाई लाख रुपये जुटाने पड़े।

ऐसे शुरू हुआ कोरोना और पैसे का खेलउन्होंने कहा, ‘मुझे 25-26 जुलाई की रात को तेज बुखार और खांसी हुई। मैंने एक क्लिनिक के चिकित्सक से सलाह ली। बुखार और खांसी कम नहीं हो रही थी। इसके कुछ दिन बाद मैंने परीक्षण करवाने का निर्णय किया।’ यहीं से उनकी परेशानियां बढ़ी और परीक्षण करवाने में उन्हें दो दिन लग गए। उन्होंने कहा, ‘मैंने एक अस्पताल में परीक्षण करवाया जिसके लिए मैंने 5000 रुपये का भुगतान किया। उन्होंने मुझे पटेल अस्पताल भेज दिया। मैंने वहां दो रात बिताई और इसके लिए मुझे 30 हजार रुपये का भुगतान करना पड़ा।’

ढाई लाख हो गए खर्च, रिश्तेदार से लेना पड़ा उधारसुच्चा सिंह ने कहा, ‘कोरोना वायरस से उबरने के मुझे चार अगस्त को पीआईएमएस अस्पताल में भर्ती कराया गया। अगले दिन मुझसे 12 बजे से पहले एक लाख रुपये जमा करने के लिए कहा गया और मैंने ऐसा किया।’ इस पूर्व ऐथलीट ने कहा कि उन्होंने अस्तपाल का भुगतान करने के लिए अपने रिश्तेदारों से उधार लिया।

सुच्चा ने कहा, ‘एक सप्ताह बाद उन्होंने मुझसे फिर से एक लाख रुपये जमा करने के लिए कहा और मैंने अपने रिश्तेदारों से मदद करने को कहा। उन्होंने मुझे पैसे दिए और इसके बाद ही मुझे छुट्टी मिल पाई। मैंने कुल ढाई लाख रुपये खर्च किए।’ उन्होंने कहा, ‘यह एक खिलाड़ी के लिए अपमानजनक है।’ सुच्चा सिंह का बेटा अमेरिका में नौकरी करता है, जबकि उनकी बेटी न्यूयॉर्क में पढ़ती है।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

ब्रेन ड्रेन को रोकना होगा

टाइम्स ऑफ इंडिया ने 17 जून के अंक में 'रेजिडेंट इंडियंस' शीर्षक से संपादकीय में लिखा है कि भारत से इमिग्रेशन भले बढ़ रहा...

टीके पर नासमझी

सरकार ने अपनी तरफ से यह स्पष्टीकरण देकर अच्छा किया है कि की कोवैक्सीन में नवजात बछड़ों का सीरम नहीं होता। सोशल मीडिया...

विरोध और आतंकवाद का फर्क

हाल के कुछ अहम फैसलों पर नजर डालें तो ऐसा लगता है जैसे अदालतें लोकतांत्रिक मूल्यों की पुनर्प्रतिष्ठा में लगी हुई हैं। राजद्रोह से...

महंगाई ने बढ़ाई मुसीबत

पेट्रोलियम गुड्स, कमॉडिटी और लो बेस इफेक्ट के कारण मई में थोक महंगाई दर 12.94 फीसदी और खुदरा महंगाई दर 6.30 फीसदी तक चली...

Recent Comments