Home News सुशांत के हाउस हेल्‍प नीरज ने कहा- रिया मैम के घर पर...

सुशांत के हाउस हेल्‍प नीरज ने कहा- रिया मैम के घर पर एक बार हुई थी ‘जादू-टोने’ वाली पूजा

बॉलिवुड ऐक्‍टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में हर दिन नई-नई बातें सामने निकलकर आ रही हैं। शुरू में मुंबई पुलिस ने जांच के बाद कहा कि यह सूइसाइड है लेकिन फिर केस आगे बढ़ने के बाद जो चीजें बाहर आईं, वह इस बात की ओर इशारा करने लगीं कि यह सूइसाइड नहीं, मर्डर है। अब सुशांत के हाउस हेल्‍प ने ऐक्‍टर से जुड़ी कई बातों का खुलासा किया है।

दरअसल, हमारे सहयोगी चैनल टाइम्‍स नाउ ने सुशांत के हाउस हेल्‍प नीरज से बातचीत की। नीरज ने बताया, ‘सुशांत सर को महसूस होता था क‍ि घर में कुछ अजीब है। वह कभी-कभी अजीब तरह से ब‍िहेव करते थे। एक-दो बार ऐसा हुआ कि लाइट चली गई, कभी वॉकी-टॉकी में आवाज आती थी तो वह हम लोगों से पूछते थे कि तुम्‍हें यहां अजीब लग रहा है क्‍या।’

रिया मैम ने कहा था- कपड़े पैक कर दो
मामले में सुशांत की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती पर भी तमाम आरोप लगे हैं। रिया को लेकर सवाल किए जाने पर नीरज ने कहा, ‘हमारे सामने कभी भी र‍िया जी या सुशांत के बीच झगड़ा नहीं हुआ। हां, दोनों में कुछ हुआ था ज‍िसके बाद र‍िया मैम ने कहा क‍ि मेरे कपड़े पैक कर दो। फिर वह घर से चली गईं।’

पुलिस ने किसी को नहीं छोड़ानीरज ने आगे बताया, ‘पुलिस ने दो बार हमारा स्‍टेटमेंट ल‍िया। पुलिस ने क‍िसी को नहीं छोड़ा है। बस हम तब फोटो नहीं खींच पाए जब सुशांत जी बेड के बगल में लटके थे। तस्‍वीर होती तो इतना सवाल नहीं उठता लेकिन तब किसी का इतना दिमाग काम नहीं किया। दरवाजा खुला तो सबसे पहले पिठानी अंदर गए। मैं, केशव दरवाजे पर ही खड़े थे। कुछ समझ नहीं आ रहा था। हम लोग कुछ सोच नहीं पा रहे थे उस वक्‍त। इसी दौरान सिद्धार्थ को क‍िसी का फोन आया क‍ि बॉडी उतार दो, सांसें चल रही होंगी तो अस्‍पताल ले जाएंगे। फिर सिद्धार्थ ने ही सर की बॉडी नीचे उतारी थी।’

सुशांत ने मांगा था ठंडा पानी
नीरज के मुताबिक, ‘पिठानी उस द‍िन 9 बजे सुबह उठे थे। मैं 7 बजे उठ गया था। मैं झाड़ू लगा रहा था, तभी सुशांत जी ने ठंडा पानी मांगा, मैंने दे दिया। उन्‍होंने केशव से जूस मांगा था। सर ने पूछा था क‍ि सब ठीक है। मेरी बस वही आख‍िरी मुलाकात थी। इसके करीब डेढ़ घंटे बाद हमने दरवाजा खोला तो हमने सर की बॉडी देखी।’

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

वैक्सीन में कितना अंतर हो

भारत में कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड के दो डोज के बीच अंतर को बढ़ाकर 12 से 16 सप्ताह किए जाने के फैसले पर सवाल-जवाब का...

रजिस्ट्रेशन आसान हो, वैक्सीन के सुरक्षा घेरे में सब लाए जाएं

देश में 18 साल से ऊपर के सभी लोगों को टीकाकरण के दायरे में लाने की शुरुआत इस महीने की पहली तारीख से हुई,...

केंद्र ही खरीदे टीका

दिल्ली सरकार ने कोवैक्सीन की कमी की बात कहते हुए 18-44 साल आयुवर्ग के लिए चल रहे 100 टीकाकरण केंद्र बंद कर दिए हैं।...

गांवों में फैला कोरोना

जहां एक ओर बुरी तरह प्रभावित राज्यों और बड़े शहरों में कोरोना संक्रमण की स्थिति में हल्का सुधार दिखने से राहत महसूस की जा...

Recent Comments