Home News यौन शोषण केस में महेश भट्ट बोले- तीन बेटियों का पिता हूं,...

यौन शोषण केस में महेश भट्ट बोले- तीन बेटियों का पिता हूं, मेरे नाम का गलत यूज हुआ

पिछले कुछ महीनों में फिल्‍ममेकर महेश भट्ट दो बड़े विवादों में फंसे। एक तो सुशांत सिंह राजपूत की मौत के संबंध में और दूसरा ब्‍लैकमेलिंग और यौन शोषण के केस में जहां उनका नाम उभरकर आया।

कुछ वक्‍त पहले फिल्‍ममेकर ने बयान जारी करते हुए सफाई दी कि उनका आईएमजी वेंचर्स नाम की कंपनी, उसके प्रमोटर सनी वर्मा और उसके इवेंट ‘मिस्‍टर ऐंड मिस ग्‍लैमर 2020’ से कोई लेना-देना नहीं है। इस महीने की शुरुआत में राष्‍ट्रीय महिला आयोग ने महेश भट्ट को उनका बयान दर्ज करने के लिए उन्‍हें समन भेजा था क्‍योंकि उनका फेस और नाम ऊपर बताए गए इवेंट में इस्‍तेमाल किया गया था।

बिना सहमति के यूज हुआ नाम
अब महेश के होम प्रॉडक्‍शन विशेष फिल्‍म्‍स ने उनकी ओर से एक डीटेल्‍स स्‍टेटमेंट जारी किया है जहां उन्‍होंने कहा है कि उनका नाम बिना उनकी सहमति के यूज किया गया। उनका इवेंट से या यौन शोषण केस से कोई लेना-देना नहीं है।

71 की उम्र में ज्ञान साझा करने में विश्‍वास
बयान में आगे कहा गया, ‘जब मैंने (महेश भट्ट) उन लोगों से बात की तो उन्‍होंने माफी मांगी और इवेंट से जुड़ी मेरी तस्‍वीरें हटा लीं। 71 वर्ष की उम्र में मैं ज्ञान को साझा करने और सामाजिक कामों में योगदान करने में विश्‍वास रखता हूं। तीन बेटियों का पिता हूं और इस धर्मयुद्ध में पूरे सहयोग के लिए तैयार हूं।’

जल्‍द रिलीज होगी ‘सड़क 2’
वर्क फ्रंट की बात करें तो महेश भट्ट दो दशक बाद ‘सड़क’ के सीक्‍वल ‘सड़क 2’ से डायरेक्‍टर के रूप में कमबैक कर रहे हैं। फिल्‍म में संजय दत्‍त, आलिया भट्ट, आदित्‍य रॉय कपूर, पूजा भट्ट, मकरंद देशपांडे और गुलशन ग्रोवर जैसे ऐक्‍टर्स अहम किरदारों में हैं।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

इस्राइल-फलस्तीन विवाद: रुके हिंसा का यह दौर

इस्राइल और फलस्तीन के बीच पिछले एक हफ्ते से जारी भीषण गोलाबारी से चिंतित वैश्विक समुदाय ने ठीक ही अपील की है कि सबसे...

वैक्सीन में कितना अंतर हो

भारत में कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड के दो डोज के बीच अंतर को बढ़ाकर 12 से 16 सप्ताह किए जाने के फैसले पर सवाल-जवाब का...

रजिस्ट्रेशन आसान हो, वैक्सीन के सुरक्षा घेरे में सब लाए जाएं

देश में 18 साल से ऊपर के सभी लोगों को टीकाकरण के दायरे में लाने की शुरुआत इस महीने की पहली तारीख से हुई,...

केंद्र ही खरीदे टीका

दिल्ली सरकार ने कोवैक्सीन की कमी की बात कहते हुए 18-44 साल आयुवर्ग के लिए चल रहे 100 टीकाकरण केंद्र बंद कर दिए हैं।...

Recent Comments