Home News लॉ स्‍टूडेंट के घुटने ऐक्‍सिडेंट में हुए चोटिल, रिश्‍तेदार मदद से कतराए...

लॉ स्‍टूडेंट के घुटने ऐक्‍सिडेंट में हुए चोटिल, रिश्‍तेदार मदद से कतराए तो सोनू सूद ने कराई सर्जरी

बॉलिवुड ऐक्‍टर सोनू सूद लंबे वक्‍त से गरीबों के मसीहा बने हुए हैं। उन्‍होंने अब तक तमाम प्रवासियों को लॉकडाउन के दौरान उनके घरों तक अलग-अलग साधनों से भिजवाया है। यही नहीं, ऐक्‍टर ने लोगों के खाने-पीने का भी इंतजाम किया और अब एक बार फिर उन्‍होंने उत्‍तर प्रदेश से ताल्‍लुक रखने वाली एक लड़की की मदद की है।

दरअसल, करीब 6 महीने से प्रज्ञा (22) नाम की लड़की बेड पर है। उसका ऐक्‍सिडेंट होने के कारण उसके दोनों घुटने चोटिल हैं लेकिन बीता गुरुवार उसके लिए नया दिन था। सर्जरी के बाद इस दिन वह वॉकर की मदद से कुछ कदम चली। अब उसके परिवारवाले सोनू सूद को आशीर्वाद दे रहे हैं।

डॉक्‍टरों ने बताया था 1.5 लाख का खर्च
लड़की के पिता विजय मिश्रा जो कि गोरखपुर में पुजारी हैं, ने कहा कि वह सिर्फ सोनू को आशीर्वाद दे सकते हैं जिन्‍होंने उनकी बेटी को नई जिंदगी दी है। उन्‍होंने बताया, ‘प्रज्ञा को फरवरी में रोड ऐक्सिडेंट के दौरान गंभीर चोट लग गई थी और उसके दोनों घुटनों को नुकसान पहुंचा था। लोकल डॉक्‍टरों ने कहा कि सर्जरी ही विकल्‍प है और इसमें करीब 1.5 लाख रुपये का खर्च आएगा। हम इलाज का खर्च नहीं उठा सकते थे और ज्‍यादातर रिश्‍तेदार भी मदद करने से कतराने लगे।’

सोनू से ट्वीट कर मांगी मदद
प्रज्ञा जो कि लॉ स्‍टूडेंट है, ने कुछ नेताओं से संपर्क करने की कोशिश की लेकिन उसका कोई परिणाम नहीं निकला। इसके बाद अगस्‍त के पहले हफ्ते में उसने सोनू सूद से ट्वीट कर मदद मांगी। इसके बाद सोनू ने सर्जन से बात की और प्रज्ञा को दिल्‍ली बुलाया। बीते बुधवार को गाजियाबाद में उसकी सफल सर्जरी हुई।

सोनू ने किए ट्रेन टिकट जैसे इंतजाम
प्रज्ञा के पिता ने कहा कि सर्जरी सफल रही और बेटी को दो से तीन दिनों में डिस्‍चार्ज कर दिया जाएगा। उन्‍होंने बताया, ‘ट्रेन टिकट जैसे तमाम इंतजाम सोनू सूद ने किए। जब हम दिल्‍ली पहुंचे तो ऐक्‍टर की टीम हमसे रेलवे स्‍टेशन पर मिली और वहां से सीधे हमें हॉस्पिटल ले गई।’

सोनू सूद भगवान जैसे
प्रज्ञा के पिता विजय मिश्रा ने कहा, ‘सोनू सूद हमारे लिए भगवान जैसे हैं। आज के दिनों में ऐसा फरिश्‍ता मिलना मुश्‍किल है। मैं उन्‍हें कुछ नहीं दे सकता लेकिन मैं उन्‍हें ढेर सारा आशीर्वाद और अच्‍छे भविष्‍य की शुभकामनाएं दे सकता हूं।’ वहीं, प्रज्ञा ने कहा, ‘मेरे लिए सोनू सूद भगवान हैं। मैंने तय किया है कि जब मैं कमाने लगूंगी तो मैं उन बच्‍चों की मदद करूंगी जो शिक्षा से वंचित हैं।’

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

इस्राइल-फलस्तीन विवाद: रुके हिंसा का यह दौर

इस्राइल और फलस्तीन के बीच पिछले एक हफ्ते से जारी भीषण गोलाबारी से चिंतित वैश्विक समुदाय ने ठीक ही अपील की है कि सबसे...

वैक्सीन में कितना अंतर हो

भारत में कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड के दो डोज के बीच अंतर को बढ़ाकर 12 से 16 सप्ताह किए जाने के फैसले पर सवाल-जवाब का...

रजिस्ट्रेशन आसान हो, वैक्सीन के सुरक्षा घेरे में सब लाए जाएं

देश में 18 साल से ऊपर के सभी लोगों को टीकाकरण के दायरे में लाने की शुरुआत इस महीने की पहली तारीख से हुई,...

केंद्र ही खरीदे टीका

दिल्ली सरकार ने कोवैक्सीन की कमी की बात कहते हुए 18-44 साल आयुवर्ग के लिए चल रहे 100 टीकाकरण केंद्र बंद कर दिए हैं।...

Recent Comments