Home Gadgets बारिश के मौसम में बनाएं गर्मा-गर्म प्याज की कचौरी, मानसून का मजा...

बारिश के मौसम में बनाएं गर्मा-गर्म प्याज की कचौरी, मानसून का मजा हो जाएगा दोगुना

Pyaz Kachori Recipe: बारिश का मौसम हो और कुछ चटपटा, मसालेदार कचौरी जैसा खाने को मिल जाए तो मानसून का मजा और बढ़ जाता है। अगर मानसून में पकौड़े बना-बनाकर बोर हो चुके हैं तो आज ट्राई करें स्वादिष्ट जोधपुरी प्याज की कचौरी। यहां एक आसान रेसिपी है जो घर पर बड़ी आसानी से बनाई जा सकती है। तो देर किस बात की आइए जानते हैं कैसे बनाई जाती है चटपटी मसालेदार प्याज की कचौरी। 

प्याज कचौरी की सामग्री-
-2 टी स्पून कुटा हुआ धनिया
-1 टी स्पून तेल
-1/2 टी स्पून हींग
-3 टी स्पून बेसन
-1 1/2 टी स्पून कश्मीरी लाल मिर्च पाउडर
-1 टी स्पून काला नमक
-1 1/2 टी स्पून चाट मसाला
-1/2 टी स्पून गरम मसाला
-2-3 मीडियम प्याज, टुकड़ों में कटा हुआ
-2-3 हरी मिर्च 
-2 उबले हुए आलू

आटे के लिए-
-200 ग्राम मैदा
-1/2 टी स्पून कैरम बीज
-स्वादानुसार नमक
-5-6 टी स्पून तेल

प्याज कचौरी बनाने की वि​धि-
प्याज कचौरी बनाने के लिए सबसे पहले एक पैन लेकर उसमें तेल, धनिया और हींग डालकर मध्यम आंच पर 2 मिनट तक पकाएं। अब इसमें बेसन, कश्मीरी लाल मिर्च पाउडर, काला नमक, चाट मसाला और गर्म मसाला डालकर कुछ मिनट के लिए भून लें।

अब कटा हुआ प्याज, नमक और हरी मिर्च डालकर प्याज को नर्म होने तक पकाएं और फिर आलू डालकर सभी चीजों को अच्छी तरह मिलाएं। अब इस मिश्रण को ठंडा होने के लिए अलग रख दें। आटा बनाने के लिए मैदा, अजवाइन, नमक और तेल की मदद से एक नरम आटा तैयार कर लें।  अब आटे को गीले कपड़े से ढककर 1/2 घंटे के लिए रख दें।

अब बराबर आकार के गोले बनाकर उनमें प्याज और आलू का मिश्रण भरकर हाथों से कचौरी को बेलें। कचौरी बनाते समय ध्यान रखें कि आटा थोड़ा मोटा रखें ताकि मिश्रण तलते समय फैल न जाए। कच्ची कचौरी को मध्यम आंच पर 10-12 मिनट तक गोल्डन ब्राउन होने तक भून लें। अब कचौरी को इमली की चटनी के साथ परोसें। 


Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

वैक्सीन में कितना अंतर हो

भारत में कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड के दो डोज के बीच अंतर को बढ़ाकर 12 से 16 सप्ताह किए जाने के फैसले पर सवाल-जवाब का...

रजिस्ट्रेशन आसान हो, वैक्सीन के सुरक्षा घेरे में सब लाए जाएं

देश में 18 साल से ऊपर के सभी लोगों को टीकाकरण के दायरे में लाने की शुरुआत इस महीने की पहली तारीख से हुई,...

केंद्र ही खरीदे टीका

दिल्ली सरकार ने कोवैक्सीन की कमी की बात कहते हुए 18-44 साल आयुवर्ग के लिए चल रहे 100 टीकाकरण केंद्र बंद कर दिए हैं।...

गांवों में फैला कोरोना

जहां एक ओर बुरी तरह प्रभावित राज्यों और बड़े शहरों में कोरोना संक्रमण की स्थिति में हल्का सुधार दिखने से राहत महसूस की जा...

Recent Comments