Home Sport 'गोवा SOP और गृह मंत्रालय की गाइडलाइंस के तहत ISL की मेजबानी...

‘गोवा SOP और गृह मंत्रालय की गाइडलाइंस के तहत ISL की मेजबानी करेगा’

गोवा के खेल मंत्री मनोहर अजगांवकर ने कहा कि कोविड-19 महामारी के मद्देनजर राज्य में इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) का आयोजन मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) और केन्द्रीय गृह मंत्रालय के दिशानिर्देशों के तहत होगा। अजगांवकर ने रविवार को संवाददाताओं से कहा कि गोवा सरकार देश की इस शीर्ष घरेलू फुटबॉल प्रतियोगिता की मेजबानी करके पर्यटन को बढ़ावा देने की कोशिश करेगी। आईएसएल के आयोजकों ने रविवार को कहा कि सातवें चरण के सभी मैच गोवा में तीन स्थलों पर कराये जायेंगे जिसके नवंबर में आयोजित होने की संभावना है।

लुईस हैमिल्टन ने स्पेनिश ग्रां प्री जीती, करियर की 88वीं जीत

इस दौरान कोविड-19 महामारी के चलते कड़े सुरक्षा उपाय अपनाए जाएंगे। महामारी के दौरान खिलाड़ियों और अधिकारियों की यात्रा को कम करने के चलते आईएसएल आयोजक इस बार लीग को एक ही राज्य में आयोजित करना चाहते थे। मडगांव के फतोर्डा में जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम, वास्को डि गामा में तिलक नगर स्टेडियम और बैम्बोलम में जीएमसी एथलेटिक स्टेडियम कड़े ट्रेनिंग एवं सामाजिक दूरी के प्रोटोकॉल के साथ मैचों की मेजबानी करेंगे।

सिमोना हालेप ने प्राग ओपन में 21वां डब्ल्यूटीए खिताब जीता

अजगांवकर ने कहा कि गोवा सरकार राज्य में आईएसएल की मेजबानी करने से खुश है। उन्होंने कहा कि हमने गोवा में आईएसएल मैचों के लिए पहले ही अनुमति दे दी है। इस दौरान सभी एसओपी के साथ गृह मंत्रालय के दिशानिर्देशों का पालन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि मैचों का आयोजन दर्शकों के बिना होगा। मंत्री ने कहा कि अगर हमने कोविड-19 से निजात पाने का तरीका ढूंढ लिया तो स्टेडियमों में दर्शकों को अनुमति दी जा सकती है।


Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Karwa Chauth  2020: अरेबिक मेहंदी स्टाइल क्या है, देखें ट्रेंडिंग मेहंदी डिजाइन्स 

फेस्टिव सीजन चल रहा है, ऐसे में मेहंदी लगाने का भी ट्रेडिशन है। खासतौर पर करवाचौथ पर महिलाएं अलग-अलग तरह की मेहंदी डिजाइन्स...

जीएम वायरस के जरिये वापस लौटेगी खोई आंखों की रेशनी, वैज्ञानिकों को मिली बड़ी सफलता

एक वायरस की जेनेटिक संरचना में बदलाव कर आंखों का नूर लौटाना मुमकिन है। अमेरिकी वैज्ञानिकों ने दृष्टिहीन चूहों पर सफल आजमाइश के बाद...

प्रदूषण के साथ ही बढ़ गए त्वचा संक्रमण के 20 फीसदी मरीज, जानें बचाव के लिए क्या करना है जरूरी

प्रदूषण बढ़ने के साथ त्वचा संक्रमण के 20 फीसदी मरीज बढ़ गए हैं। शुष्क त्वचा, खुजली और अलग-अलग एलर्जी के मामले बढ़ रहे हैं।...

लॉकडाउन ने बढ़ाई मोटापे से जूझ रहे लोगों की परेशानी, मानसिक सेहत पर भी पड़ा बुराअसर

कोरोना महामारी ने दुनियाभर में लोगों की नींद और चैन छीन लिया है। संक्रमण की वजह से शुरुआत में लगे लॉकडाउन के चलते लोगों...

Recent Comments