Home Gadgets Independence Day 2020: बांधनी से गजशाही तक, पीएम मोदी ने 15 अगस्त...

Independence Day 2020: बांधनी से गजशाही तक, पीएम मोदी ने 15 अगस्त पर पहने ये खूबसूरत साफे

15 अगस्त 2020 यानी आज देश आजादी के 73 साल पूरे होने का जश्न मना रहा है। हर साल की तरह इस साल भी स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलग लुक की चर्चा हो रही है। हर स्वतंत्रता दिवस पर पीएम मोदी अलग तरह के साफे में नजर आते हैं। उनके साफे की खूब चर्चा होती है। इस साल भी उन्होंने नारंगी और क्रीम कलर का साफा पहने नजर आए। जानिए साल 2014 से 2020 तक, पीएम मोदी ने किस तरह और कौन-कौन से रंग के साफे पहन चुके हैं।

केसरिया रंग का साफा (साल 2014)-

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साल 2014 में लाल किले की प्राचीर से संबोधन के दौरान सफेद रंग का कुर्ता और पजामा पहना था। इस दौरान उन्होंने केसरिया, हरे और पीले रंग का साफा पहना था।

पीले रंग का साफा (साल 2015)-

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साल 2015 में स्वतंत्रता दिवस पर धारीदार मस्टर्ड-येलो रंग का साफा पहना था। साफे में लाल, पीले और गुलाबी रंग की धारियां थीं। इस दौरान वह बेज रंग के कुर्ते-पजामा पहने नजर आए थे।

गजशाही साफा (साल 2016)-

पीएम मोदी ने साल 2016 में राजस्थानी साफा पहना था। इस साफे में गुलाबी, पीले और लाल रंग शामिल था। सफेद रंग के कुर्ते-पजामा पर यह जॉर्जट का साफा काफी यूनिक लग रहा था।

लाल-केसरिया रंग का साफा (साल 2017)-

साल 2017 में पीएम मोदी ने लाल-केसरिया रंग का साफा पहना था। साफे में सफेद और पीले रंग की धारियां थीं। इस साफे की लंबाई काफी ज्यादा थी।

बांधनी साफा (साल 2018)-

साल 2018 में स्वतंत्रता दिवस के मौके पर पीएम मोदी ने लाल और केसरिया रंग का बांधनी साफा पहना था। साफे में सफेद रंग का बांधनी प्रिंट था।

रंगों भरा साफा (साल 2019)-

साल 2019 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साफे में कई रंग शामिल थे। जैसे पीला, लाल, बैंगनी, हरा और नीला। सफेद रंग के कुर्ते-पजामा पर यह साफा काफी खूबसूरत लग रहा था। इस साफे पर लहरिया प्रिंट भी शामिल था।

पीले और केसरिया रंग का साफा (साल 2020)-

साल 2020 में पीएम मोदी ने केसरिया और पीले रंग का साफा पहना है। लाइट येलो कलर के कुर्ते पर इस साफे का कॉम्बिनेशन परफेक्ट लग रहा है।

 


Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

केंद्र ही खरीदे टीका

दिल्ली सरकार ने कोवैक्सीन की कमी की बात कहते हुए 18-44 साल आयुवर्ग के लिए चल रहे 100 टीकाकरण केंद्र बंद कर दिए हैं।...

गांवों में फैला कोरोना

जहां एक ओर बुरी तरह प्रभावित राज्यों और बड़े शहरों में कोरोना संक्रमण की स्थिति में हल्का सुधार दिखने से राहत महसूस की जा...

तालमेल से बनेगी बात

केंद्र सरकार ने सोमवार को में वैक्सीन पॉलिसी पर अपने रुख का बचाव करते हुए कहा कि महामारी से कैसे निपटना है, यह...

विपक्षी एकता की कवायद

शिवसेना सांसद संजय राउत ने एक बार फिर कहा है कि विपक्षी दलों का एक मजबूत मोर्चा वक्त की जरूरत है। यह बात पहले...

Recent Comments