Home News भारत- बांग्लादेश सीमा से BSF ने अमेरिकी मूल के दुर्लभ प्रजाति के...

भारत- बांग्लादेश सीमा से BSF ने अमेरिकी मूल के दुर्लभ प्रजाति के दो टूकान पक्षी को किया बरामद

भारत- बांग्लादेश सीमा से BSF ने अमेरिकी मूल के दुर्लभ प्रजाति के दो टूकान पक्षी को किया बरामद

बीएसएफ ने किया टूकान पक्षी को बरामद

कोलकाता:

सीमा सुरक्षा बल (BSF) के जवानों ने गुरुवार को भारत-बांग्लादेश सीमा पर तस्करी को नाकाम करते हुए लैटिन अमेरिकी मूल के दुर्लभ प्रजाति के दो टूकान (Toucan) पक्षी को जब्त किया‌. बीएसएफ की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि खुफिया इनपुट के आधार पर, बीएसएफ के जवानों ने गांव हलदर पारा, अंगरिल के वन क्षेत्र में एक विशेष तलाशी अभियान चलाया और पक्षियों को बरामद किया. हालांकि तस्कर घने जंगल का फायदा उठा कर भागने में सफल रहे. अंतरराष्ट्रीय बाजार में इन दो पक्षियों की कीमत लगभग 14,21,000 रुपये बतायी जा रही है. 

यह भी पढ़ें

बीएसएफ की तरफ से कहा गया  है, ” सुबह लगभग 6:45 बजे जवानों ने बांस की झाड़ियों के पीछे छिप कर बैठे दो संदिग्ध व्यक्तयों को देखा. जैसे ही जवानों ने उनके पास पहुंचने की कोशिश की दोनों संदिग्ध तस्कर भारतीय गांव की तरफ भागने लगे तस्करों ने हाथ में एक पिंजरा भी लिया हुआ था. जवानों की तरफ से पीछा करने के बाद तस्कर पिंजरे को फेंक कर घने जंगल का फायदा उठाते हुए भागने में कामयाब रहे. 

कोरोना काल में बढ़ रही पोषक तत्वों से भरपूर इस मुर्गे की मांग, नाम है कड़कनाथ…

 यह प्रजाति दक्षिणी मैक्सिको से कोलंबिया तक उष्णकटिबंधीय जंगलों में पाई जाती है. यह बेलीज का राष्ट्रीय पक्षी भी है. बीएसएफ ने जब्त दोनों विदेशी पक्षियों को कोलकाता के अलीपुर स्थित जूलॉजिकल गार्डन (चिड़ियाघर)  को सौंप दिया है.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

केदारनाथ का ऐसा वीडियो कभी नहीं देखा होगा, मंदिर के पीछे बादल से झांकता हिमालय

सोशल मीडिया भारत की खूबसूरती को दिखाने वाले कई वीडियो वायरल होते रहते हैं। लॉकडाउन के दौरान प्रदूषण में भारी कमी देखने को...

बच्चों की मेंटल हेल्थ पर पड़ा है कोरोना महामारी का असर, बाल आयोग ने शुरू की ‘संवेदना’ पहल

कोरोना संक्रमण के चलते मानसिक रूप से प्रभावित हो रहे बच्चों के लिए बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने नई पहल की है। आयोग ने...

जुनून ने प्रोफेसर को बना दिया चंदन के बाग का मालिक, पढ़ें दिलचस्प किस्सा

उत्तर-प्रदेश के सुल्तानपुर  में एक  प्रोफेसर के कुछ अलग करने के जुनून ने उन्हें 'चंदन'के बाग का मालिक बना  दिया। अब वह अपने भाई...

सफेद मोती जैसा साबूदाना कैसे बनता है और क्या है इसे बनाने की प्रक्रिया, जानें गुण 

व्रत में खाए जाने वाली चीजों में साबूदाना सबसे ज्यादा खाया जाता है व्रत के बिना भी कुछ लोग इसे अपनी दिनचर्या में शामिल...

Recent Comments