Home News भारत के धार्मिक दर्शन के साथ-साथ सीरीज में बताई गईं ये आश्चर्यजनक...

भारत के धार्मिक दर्शन के साथ-साथ सीरीज में बताई गईं ये आश्चर्यजनक बातें – Ameta

India From Above Review: भारत के धार्मिक दर्शन के साथ-साथ सीरीज में बताई गईं ये आश्चर्यजनक बातें

India From Above में दिखाया गया भारत दर्शन

खास बातें

  • ‘इंडिया फ्राम अबव’ में देव पटेल ने दी अपनी आवाज
  • भारत के अनसुलझे रहस्यों को किया उजागर
  • स्वतंत्रता दिवस के मौके पर सीरीज होगी रिलीज

नई दिल्ली:

भारत इस साल अपना 74वां स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) सेलिब्रेट कर रहा है. इस मौके पर नेशनल ज्योग्राफी चैनल पर दो पार्ट की डॉक्यूमेंट्री ‘India From Above’ रिलीज होगी. इस सीरीज में भारतीय मूल के ब्रिटिश एक्टर देव पटेल (Dev Patel) ने अपनी आवाज दी है. यह सीरीज 14 और 15 अगस्त को जारी की जाएगी. ‘इंडिया फ्राम अबव’ सीरीज देश के भौगोलिक, सांस्कृतिक, तकनीकी और ऐतिहासिक पहलुओं को दर्शाने के साथ-साथ आधुनिक भारत के बारे में भी कई चीजें बताई जाएंगी.

यह भी पढ़ें

देव पटेल (Dev Patel) द्वारा सुनाई गई इस सीरीज में सबसे पहले भारत में हर 6 साल पर लगने वाले कुंभ मेले को लेकर जानकारी दी गई है. बता दें, पिछले साल प्रयागराज में ‘महाकुंभ (MahaKumbh)’ का आयोजन हुआ था. जिसमें लाखों श्रद्धालु शामिल हुआ थे. ‘इंडिया फ्राम अबव (India From Above)’ सीरीज में दिखाया गया है कि ‘महाकुंभ’ के दौरान किस तरह सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे. सीरीज में यह भी बताया गया कि प्रयागराज में सुरक्षा इंतजामों के लिए 20 हजार पुलिसवालों को तैनात किया गया था. 50 दिनों तक चलने वाले इस महात्योहार में पुलिस ने बेहद ही बारिकी से नजर रखी थी. ‘महाकुंभ’ के अलावा एक्टर ने एशिया के सबसे बड़े म्यूजिक फेस्टिवल ‘सनबर्न (Sunburn Festival)’ के बारे में भी बताया. हर साल भारत में नए साल के मौके पर गोवा में इस सबसे बड़े म्यूजिक फेस्टिवल का आयोजन किया जाता था. जिसकी धूम पूरे देश में देखने लायक होती है. इस फेस्टिवल में दुनिया के फेमस सिंगर और डीजे को बुलाया जाता है, जो लोगों का खूब मनोरंजन करते हैं.  

होली का त्योहार भारत में काफी धूमधाम से सेलिब्रेट किया जाता है. ‘इंडिया फ्राम अबव (India From Above)’ सीरीज में नंदगांव में खेली जाने वाली ‘लट्ठ मार होली’ का भी जिक्र किया गया है. सीरीज में बताया गया है कि औरतों होली के दौरान किस तरह ‘लट्ठ’ से आदमियों को मारती हैं और साथ ही ‘लट्ठमार होली’ को मनाने के धार्मिक पहलू को भी बताया गया है. इस सीरीज में धार्मिक दर्शन के अलावा तकनीक को भी स्थान दिया गया है. ‘श्रीहरिकोटा’ में इसरो द्वारा लांच की गई ‘मंगल ग्रह’ पर सैटलाइट हो या फिर ‘गुजरात’ में बनाई जाने वाली सबसे ज्यादा नांव हों, हर चीज का जिक्र किया गया है.  देश के आश्चर्यजनक स्थलों को उजागर करते हुए सीरीज का प्रीमियर 14 और 15 अगस्त को होगा. नेशनल ज्योग्राफिक (National Geography) चैनल के जरिए यह सीरीज करीब 43 भाषाओं में 172 देशों में प्रसारित की जाएगी. 

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

बच्चों की मेंटल हेल्थ पर पड़ा है कोरोना महामारी का असर, बाल आयोग ने शुरू की ‘संवेदना’ पहल

कोरोना संक्रमण के चलते मानसिक रूप से प्रभावित हो रहे बच्चों के लिए बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने नई पहल की है। आयोग ने...

जुनून ने प्रोफेसर को बना दिया चंदन के बाग का मालिक, पढ़ें दिलचस्प किस्सा

उत्तर-प्रदेश के सुल्तानपुर  में एक  प्रोफेसर के कुछ अलग करने के जुनून ने उन्हें 'चंदन'के बाग का मालिक बना  दिया। अब वह अपने भाई...

सफेद मोती जैसा साबूदाना कैसे बनता है और क्या है इसे बनाने की प्रक्रिया, जानें गुण 

व्रत में खाए जाने वाली चीजों में साबूदाना सबसे ज्यादा खाया जाता है व्रत के बिना भी कुछ लोग इसे अपनी दिनचर्या में शामिल...

कोरोना काल में जन्म लेने वाले बच्चों के साथ जुड़े हैं ये फायदे, इस अवधि में जन्मे बच्चों को कहा जाएगा कोरोनियल

कोरोना महामारी के शुरुआती दौर में गर्भवती महिलाओं के बीच काफी डर था। महामारी के बढ़ते प्रकोप के चलते होने वाले बच्चों को क्या...

Recent Comments