Home News डायरेक्‍टर निशिकांत कामत की हालत नाजुक पर स्थिर, अस्पताल ने जारी किया...

डायरेक्‍टर निशिकांत कामत की हालत नाजुक पर स्थिर, अस्पताल ने जारी किया बयान

Edited By Shashikant Mishra | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

निशिकांत कामतनिशिकांत कामत

बॉलिवुड फिल्ममेकर निशिकांत कामत की तबीयत बीते कुछ दिनों से खराब है। वह इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती हैं। अब निशिकांत कामत की सेहत को लेकर अस्पताल प्रशासन ने बुधवार को एक आधिकारिक बयान जारी कर बताया कि निर्देशक की हालत गंभीर है, लेकिन खतरे से बाहर हैं। वहीं, कोविड के लक्षणों के कारण अस्पताल में भर्ती सिंगर एसपी बालासुब्रमण्यम की तबीयत स्थिर है।

अस्पताल का बयान

अस्पताल के बयान में कहा गया, ‘निशिकांत कामत (50) को 31 जुलाई को पीलिया और पेट में दर्द की शिकायत के चलते हैदराबाद में गचीबोवली स्थित एआईजी में भर्ती कराया गया था। जहां उनमें क्रॉनिक लिवर डिजीज और अन्य संक्रमणों का पता चला है। वह आईसीयू में है और अच्छे डॉक्टरों की टीम की देखभाल में हैं। टीम में गैस्ट्रोएंटेरोलॉजिस्ट, हेपेटोलॉजिस्ट और वरिष्ठ सलाहकारों की टीम शामिल है। उनकी स्थिति गंभीर, लेकिन स्थिर है। हम उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करते हैं।’

यह भी पढ़ें ‘दृश्‍यम’ फेम डायरेक्‍टर निशिकांत कामत की हालत नाजुक, हॉस्पिटल में हुए ऐडमिट

कई फिल्मों का किया डायरेक्शन

निशिकांत कामत बॉलिवुड में कई फिल्मों को डायरेक्ट करने के लिए जाने जाते हैं। इसमें अजय देवनग की ‘दृश्यम’, इफान खान की ‘मदारी’, जॉन अब्राहम की ‘फोर्स’, ‘रॉकी हैंडसम’ जैसी फिल्में शामिल हैं। इसके अलावा निशिकांत कामत ने मराठी फिल्मों का भी डायरेक्शन किया है।

ऐक्टिंग में भी आजमाए हाथ

मराठी फिल्‍म ‘डोंबिवली फास्‍ट’ से फिल्‍मी डेब्‍यू करने वाले निशिकांत कामत ने कुछ फिल्‍मों में ऐक्‍टिंग भी की है। उन्‍होंने फिल्‍म ‘भावेश जोशी’ में काम किया। इसके अलावा वह जॉन अब्राहम स्‍टारर ‘रॉकी हैंडसम’ में नेगेटिव रोल में नजर आए थे।

एसपी बालासुब्रमण्यम की तबीयत स्थिर

बॉलिवुड के जाने-माने प्लेबैक सिंगर एसपी बालासुब्रमण्यम को बीते सप्ताह कोविड के हल्के लक्षणों के चलते अस्पताल में भर्ती कराया गया था। अब उनकी तबीयत स्थिर है और नार्मल ऑक्सीजन सैचुरेशन पर हैं।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

इस्राइल-फलस्तीन विवाद: रुके हिंसा का यह दौर

इस्राइल और फलस्तीन के बीच पिछले एक हफ्ते से जारी भीषण गोलाबारी से चिंतित वैश्विक समुदाय ने ठीक ही अपील की है कि सबसे...

वैक्सीन में कितना अंतर हो

भारत में कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड के दो डोज के बीच अंतर को बढ़ाकर 12 से 16 सप्ताह किए जाने के फैसले पर सवाल-जवाब का...

रजिस्ट्रेशन आसान हो, वैक्सीन के सुरक्षा घेरे में सब लाए जाएं

देश में 18 साल से ऊपर के सभी लोगों को टीकाकरण के दायरे में लाने की शुरुआत इस महीने की पहली तारीख से हुई,...

केंद्र ही खरीदे टीका

दिल्ली सरकार ने कोवैक्सीन की कमी की बात कहते हुए 18-44 साल आयुवर्ग के लिए चल रहे 100 टीकाकरण केंद्र बंद कर दिए हैं।...

Recent Comments