Home News मुंबई में बिहार पुलिस के अफसरों के खिलाफ केस की बात झूठी:...

मुंबई में बिहार पुलिस के अफसरों के खिलाफ केस की बात झूठी: डीजीपी गुप्‍तेश्‍वर पांडेय

Edited By Konark Rataan | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

Gupteshwar Pandey And Sushant Singh RajputGupteshwar Pandey And Sushant Singh Rajput

बॉलिवुड ऐक्‍टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत को लेकर हर दिन नए खुलासे हो रहे हैं। पुलिस की कार्यप्रणाली को लेकर भी सवाल उठ रहे हैं। हाल ही में खबर आई थी कि मामले की जांच करने मुंबई पहुंची बिहार पुलिस की टीम के पदाधिकारियों के खिलाफ ही केस दर्ज कर लिया गया है। हालांकि, अब इस पर बिहार के डीजीपी का बयान आ गया है।

बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा, ‘मुंबई के पुलिस कमिश्‍नर ने मुझे अभी फोन पर बताया कि मुंबई में बिहार के किसी पुलिस अफसर पर कोई मुकदमा दर्ज नहीं किया गया है। यह अफवाह मात्र है।’

बिहार पुलिस के खिलाफ शिकायत की आई थी बात

पांडेय ने आगे बताया कि पुलिस कमिश्‍नर ने बहुत ही सम्मान के साथ बात की। इसके लिए डीजीपी ने उन्‍हें धन्यवाद भी दिया। बता दें, ऐसी रिपोर्ट्स थीं कि सुशांत की मौत मामले से जुड़े तथ्यों की जांच करने गई बिहार पुलिस की टीम के 5 अफसरों के खिलाफ मुंबई के बांद्रा पुलिस स्टेशन में सरकारी काम में बाधा पैदा करने को लेकर शिकायत दर्ज की गई है।



सुप्रीम कोर्ट में चल रही सुनवाई


सुशांत की मौत के मामले की जांच सीबीआई करे या मुंबई पुलिस, इसे लेकर बीते मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में काफी देर तक जिरह हुई। अब मामले में गुरुवार को फैसला आना है। गौरतलब है कि सुशांत के पिता के के सिंह ने पटना में रिया के खिलाफ धोखाधड़ी और सुशांत को आत्‍महत्‍या के लिए उकसाने जैसे आरोप लगाते हुए एफआईआर दर्ज कराई थी। इसके बाद रिया ने मांग की थी कि केस को बिहार से मुंबई ट्रांसफर किया जाए।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

इस्राइल-फलस्तीन विवाद: रुके हिंसा का यह दौर

इस्राइल और फलस्तीन के बीच पिछले एक हफ्ते से जारी भीषण गोलाबारी से चिंतित वैश्विक समुदाय ने ठीक ही अपील की है कि सबसे...

वैक्सीन में कितना अंतर हो

भारत में कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड के दो डोज के बीच अंतर को बढ़ाकर 12 से 16 सप्ताह किए जाने के फैसले पर सवाल-जवाब का...

रजिस्ट्रेशन आसान हो, वैक्सीन के सुरक्षा घेरे में सब लाए जाएं

देश में 18 साल से ऊपर के सभी लोगों को टीकाकरण के दायरे में लाने की शुरुआत इस महीने की पहली तारीख से हुई,...

केंद्र ही खरीदे टीका

दिल्ली सरकार ने कोवैक्सीन की कमी की बात कहते हुए 18-44 साल आयुवर्ग के लिए चल रहे 100 टीकाकरण केंद्र बंद कर दिए हैं।...

Recent Comments