Home Sport बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेल: अलग-अलग स्थानों पर रहेंगे खिलाड़ीऔर अधिकारी

बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेल: अलग-अलग स्थानों पर रहेंगे खिलाड़ीऔर अधिकारी

कोरोना वायरस महामारी के कारण 2022 राष्ट्रमंडल खेलों के आयोजकों को खिलाड़ियों और अधिकारियों के लिए एक स्थान पर रहने की सुविधा देने की जगह कई स्थानों पर खेल गांव बनाने को बाध्य होना पड़ा है। खेलों के आयोजकों के अनुसार खिलाड़ियों और अधिकारियों को बर्मिंघम विश्वविद्यालय, वारविक विश्वविद्यालय और द एनईसी होटल परिसर में तीन अलग स्थानों पर रखा जाएगा।

पचास करोड़ पाउंड की लागत से बर्मिंघम सिटी विश्वविद्यालय की जगह पैरी बार में खेल गांव का निर्माण किया जाना था और यहां 6500 खिलाड़ियों और टीम अधिकारियों को रखा जाता। आयोजकों ने हालांकि इस विचार को रद्द कर दिया, क्योंकि उन्होंने महसूस किया कि कोरोना वायरस महामारी के कारण इसे समय पर तैयार नहीं किया जा सकता।

कोविड-19 के चार नए मामले, न्यूजीलैंड में स्पोर्ट्स इवेंट्स के दौरान स्टेडियम में दर्शकों पर फिर लग सकती है पाबंदी

अब नए परिसर मॉडल के अनुसार 1600 खिलाड़ियों और अधिकारियों को एनईसी होटल परिसर और 1900 लोगों को वारविक विश्वविद्यालय में रखा जाएगा जबकि मुख्य खेल गांव बर्मिंघम विश्वविद्यालय में होगा जहां 2800 लोगों को ठहराने की व्यवस्था होगी।

आयोजकों के बयान के अनुसार, ”वैश्विक महामारी के असर की समीक्षा के बाद शहर के पैरी बार क्षेत्र में एक स्थान पर ही खेल गांव का निर्माण नहीं करने का फैसला किया गया जबकि खेलों के आयोजन में दो साल से कुछ कम का समय बचा है।”

मनदीप के बाद पांच अन्य कोविड पॉजिटिव हॉकी खिलाड़ी हॉस्पिटल में भर्ती

आयोजकों ने साथ ही दावा किया कि बर्मिंघम 2022 खेलों के लिए रहने के स्थान का तीन परिसर का मॉडल खेलों के 77 करोड़ 80 लाख पाउंड के बजट में ही तैयार किया जाएगा। उन्होंने साथ ही जोर देते हुए कहा कि खेलों का आयोजन समय पर होगा।


Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

गांवों में फैला कोरोना

जहां एक ओर बुरी तरह प्रभावित राज्यों और बड़े शहरों में कोरोना संक्रमण की स्थिति में हल्का सुधार दिखने से राहत महसूस की जा...

तालमेल से बनेगी बात

केंद्र सरकार ने सोमवार को में वैक्सीन पॉलिसी पर अपने रुख का बचाव करते हुए कहा कि महामारी से कैसे निपटना है, यह...

विपक्षी एकता की कवायद

शिवसेना सांसद संजय राउत ने एक बार फिर कहा है कि विपक्षी दलों का एक मजबूत मोर्चा वक्त की जरूरत है। यह बात पहले...

सबका साथ है जरूरी

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने सरकार पर से निपटने में पूरी तरह नाकाम रहने का आरोप लगाते हुए मांग की है कि सरकार...

Recent Comments