Home News कैंसर को हरा चुके हैं ये सिलेब्रिटीज, लोगों के लिए हैं इंस्पिरेशन

कैंसर को हरा चुके हैं ये सिलेब्रिटीज, लोगों के लिए हैं इंस्पिरेशन

नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

कैंसर को हरा चुके हैं ये सिलेब्रिटीज, लोगों के लिए हैं इंस्पिरेशनबॉलिवुड ऐक्‍टर संजय दत्त को लंग कैंसर है। जैसे ही यह खबर सामने आई, सिलेब्‍स और तमाम फैंस उनके लिए स्‍वस्‍थ होने की दुआएं करने लगे। संजय के चाहनेवालों को भरोसा है कि वह जल्‍द ठीक होकर घर वापस लौटेंगे। संजय से पहले भी तमाम ऐसे स्‍टार्स रहे हैं जिन्‍हें कैंसर हुआ और उन्‍होंने इस गंभीर बीमारी को मात दी। यहां हम कुछ ऐसे ही लोगों के बारे में बता रहे हैं जो आपके लिए इंस्पिरेशन हो सकते हैं…

​मनीषा कोइराला

NBT

90 के दशक में अपनी मुस्कुराहट से सबको दीवाना बनाने वाली ऐक्‍ट्रेस मनीषा कोइराला को साल 2012 में पता चला कि उन्हें ओवेरियन कैंसर है। इसके इलाज के लिए वह अमेरिका गईं और वहां से ठीक होकर लौटीं।

​सोनाली बेंद्रे

NBT

ऐक्‍ट्रेस सोनाली बेंद्रे को साल 2018 में पता चला कि उन्हें हाईग्रेड मेटास्टेटिस नाम का कैंसर है। इसके इलाज के लिए वह विदेश गईं और वहां से लड़ाई जीतकर वापस आईं।

​मुमताज

NBT

अपने जमाने की मशहूर ऐक्‍ट्रेस मुमताज ब्रेस्ट कैंसर से जूझ चुकी हैं। उन्होंने यह लड़ाई बहादुरी से लड़ी और आखिरकार वह इससे जीतकर घर लौटीं।

​लीजा रे

NBT

साल 1994 में फिल्मी करियर शुरू करने वाली ऐक्‍ट्रेस लीजा रे को मल्टिपल मायलोमा (ब्लड सेल कैंसर) हो गया था। उन्‍होंने अप्रैल 2010 में स्टेम सेल ट्रांसप्लांटेशन के बाद फैंस को बताया था कि वह ठीक हो चुकी हैं।

​अनुराग बसु

NBT

‘बर्फी’ और ‘जग्गा जासूस’ जैसी फिल्में बनाने वाले डायरेक्टर अनुराग बसु भी ल्यूकमिया जैसे कैंसर से जूझ चुके हैं। साल 2004 में उन्हें इस बात की जानकारी मिली थी कि उन्हें कैंसर है।

​ताहिरा कश्यप

NBT

पॉप्‍युलर ऐक्‍टर आयुष्मान खुराना की पत्नी ताहिरा कश्यप को ब्रेस्ट कैंसर जैसी गंभीर बीमारी हुई। इसके बाद भी उन्होंने हार नहीं मानी। ताहिरा ने कैंसर से जंग लड़ी और जीतकर वापस आईं।

​युवराज सिंह

NBT

क्रिकेटर युवराज सिंह को साल 2011 में इस बात की जानकारी हुई कि उन्हें कैंसर जैसी बीमारी है। यह जानने के बाद वह और उनका परिवार काफी शॉक्‍ड था। हालांकि, युवराज ने हार नहीं मानी, अपना इलाज कराने विदेश गए और फिर वहां से ठीक होकर भारत लौटे।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

ब्रेन ड्रेन को रोकना होगा

टाइम्स ऑफ इंडिया ने 17 जून के अंक में 'रेजिडेंट इंडियंस' शीर्षक से संपादकीय में लिखा है कि भारत से इमिग्रेशन भले बढ़ रहा...

टीके पर नासमझी

सरकार ने अपनी तरफ से यह स्पष्टीकरण देकर अच्छा किया है कि की कोवैक्सीन में नवजात बछड़ों का सीरम नहीं होता। सोशल मीडिया...

विरोध और आतंकवाद का फर्क

हाल के कुछ अहम फैसलों पर नजर डालें तो ऐसा लगता है जैसे अदालतें लोकतांत्रिक मूल्यों की पुनर्प्रतिष्ठा में लगी हुई हैं। राजद्रोह से...

महंगाई ने बढ़ाई मुसीबत

पेट्रोलियम गुड्स, कमॉडिटी और लो बेस इफेक्ट के कारण मई में थोक महंगाई दर 12.94 फीसदी और खुदरा महंगाई दर 6.30 फीसदी तक चली...

Recent Comments