Home Gadgets Rip Rahat Indori:पढ़ें मशहूर शायर राहत इंदौरी के ये 7 फेमस शेर

Rip Rahat Indori:पढ़ें मशहूर शायर राहत इंदौरी के ये 7 फेमस शेर

Rip Rahat Indori: जाने माने शायर और गीतकार राहत इंदौरी का आज दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है। राहत इंदौरी कोरोना संक्रमित होने के बाद इंदौर के एक अस्पताल में भर्ती थे। राहत इंदौरी ने अपनी शायरी और गजलों से इश्क को जहां एक अलग अंदाज़ में बयां किया वहीं उनके सियासी शेर ने व्यवस्था को आइना दिखाने का काम भी किया। आइए एक नजर डालते हैं राहत इंदौरी के उन फेमस शेर पर जिन्हें लोगों ने कई बार दोहराया। 

-दो गज सही ये मेरी मिलकियत तो है
ऐ मौत तूने मुझे जमींदार कर दिया।

-शाखों से टूट जाएं वो पत्ते नहीं हैं हम
आंधी से कोई कह दे कि औकात में रहे

-अपनी पहचान मिटाने को कहा जाता है
बस्तियां छोड़ के जाने को कहा जाता है।

-जिस दिन से तुम रुठीं
मुझ से रुठे-रुठे हैं
चादर-वादर,तकिया-वकिया,
बिस्तर-विस्तर सब

-इबादतों की हिफाजत भी उनके जिम्मे हैं,
जो मस्जिदों में सफारी पहन के आते हैं।

-अफवाह थी की मेरी तबियत खराब है
लोगों ने पूछ-पूछ के बीमार कर दिया।

-अब कहां ढूढने जाओगे हमारे कातिल 
आप तो तत्ल का इल्जाम हमीं पर रख दो। 


Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

ब्रेन ड्रेन को रोकना होगा

टाइम्स ऑफ इंडिया ने 17 जून के अंक में 'रेजिडेंट इंडियंस' शीर्षक से संपादकीय में लिखा है कि भारत से इमिग्रेशन भले बढ़ रहा...

टीके पर नासमझी

सरकार ने अपनी तरफ से यह स्पष्टीकरण देकर अच्छा किया है कि की कोवैक्सीन में नवजात बछड़ों का सीरम नहीं होता। सोशल मीडिया...

विरोध और आतंकवाद का फर्क

हाल के कुछ अहम फैसलों पर नजर डालें तो ऐसा लगता है जैसे अदालतें लोकतांत्रिक मूल्यों की पुनर्प्रतिष्ठा में लगी हुई हैं। राजद्रोह से...

महंगाई ने बढ़ाई मुसीबत

पेट्रोलियम गुड्स, कमॉडिटी और लो बेस इफेक्ट के कारण मई में थोक महंगाई दर 12.94 फीसदी और खुदरा महंगाई दर 6.30 फीसदी तक चली...

Recent Comments