Home Sport 4 महीने की IPL स्पॉन्सरशिप के लिए बीसीसीआई ने निकाला टेंडर, ऐसी...

4 महीने की IPL स्पॉन्सरशिप के लिए बीसीसीआई ने निकाला टेंडर, ऐसी हैं शर्तें

Edited By Tarun Vats | एजेंसियां | Updated:

<p>BCCI सचिव जय शाह ने बोलियां जमा करने के लिए 13 पॉइंट्स बताए हैं<br></p><p>BCCI सचिव जय शाह ने बोलियां जमा करने के लिए 13 पॉइंट्स बताए हैं<br></p>
हाइलाइट्स

  • चीनी मोबाइल कंपनी वीवो ने हाल में तोड़ा था करार, इस साल नहीं करेगा IPL को स्पॉन्सर
  • वीवो की जगह आईपीएल के नए टाइटल स्पॉन्सर के साथ करार साढ़े 4 महीने का होगा
  • बीसीसीआई सचिव जय शाह ने बोलियां जमा करने के लिए 13 पॉइंट्स की घोषणा की है
  • बोर्ड ने किया स्पष्ट, सबसे ऊंची बोली लगाने वाले तीसरे पक्ष को अधिकार देने के लिए बोर्ड बाध्य नहीं होगा

नई दिल्ली

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने सोमवार को आईपीएल के अगले सीजन की टाइटल स्पॉन्सरशिप के लिए निविदाएं बुलाईं। चीनी मोबाइल कंपनी वीवो की जगह आईपीएल के नए टाइटल स्पॉन्सर के साथ करार साढ़े चार महीने के लिए होगा और यह जरूरी नहीं कि सबसे ऊंची बोली लगाने वाले को ही अधिकार दिए जाएं। बीसीसीआई ने सोमवार को इसकी जानकारी दी।

गत जून में भारत और चीन की सेना के बीच सीमा पर हुई हिंसक झड़प के बाद भारतीय बोर्ड और वीवो के बीच अनुबंध इस साल के लिए रद्द कर दिया गया। बोर्ड ने सोमवार को नए स्पॉन्सर के लिए निविदाएं आमंत्रित की। सचिव जय शाह ने बोलियां जमा करने के लिए 13 पॉइंट्स की घोषणा की है।

पढ़ें, यूएई में IPL आयोजन को केंद्र सरकार ने दी मंजूरी

14 अगस्त तक होंगे जमा, 18 को ऐलान

अधिकार पाने वाले के नाम का ऐलान 18 अगस्त को किया जाएगा। बोलियां जमा करने की आखिरी तारीख 14 अगस्त है। बोर्ड ने एक विज्ञप्ति में कहा, ‘ये अधिकार 18 अगस्त 2020 से 31 दिसंबर 2020 की अवधि के लिए उपलब्ध हैं।’

IPL स्पॉन्सरशिप की दौड़ में क्यों है 'पतंजलि'?IPL स्पॉन्सरशिप की दौड़ में क्यों है ‘पतंजलि’?



EOI जमा करने वाले को ही मिलेगी पूरी जानकारी

बयान में कहा गया, ‘इसके बारे में विस्तार से जानकारी उन्हीं पक्षों को दी जाएंगी जो ईओआई (एक्सप्रेस आफ इंटरेस्ट) जमा करेंगे और योग्य पाए जाएंगे।’ इसमें आगे कहा गया, ‘यह स्पष्ट किया जाता है कि सबसे ऊंची बोली लगाने वाले तीसरे पक्ष को अधिकार देने के लिए बोर्ड बाध्य नहीं होगा। बीसीसीआई का फैसला कई अन्य बातों पर भी निर्भर करेगा।’

‘300 करोड़ से ऊपर का हो टर्नओवर’

बीसीसीआई के अनुसार ईओआई तभी स्वीकार किया जाएगा जब तीसरे पक्ष (थर्ड पार्टी) का टर्नओवर पिछले ऑडिट किए गए खातों के अनुसार 300 करोड़ रुपये से ज्यादा का हो। बोली के साथ जांचे गए खातों की प्रति भी जमा करनी होगी। बोर्ड ने स्पष्ट किया है कि मध्यस्थ या एजेंट इस प्रक्रिया में भाग नहीं ले सकते और ऐसी बोलियां रद्द कर दी जाएंगी। इससे पहले योग गुरु बाबा रामदेव के
पतंजलि समूह ने भी बोली लगाने में रूचि दिखाई थी।

IPL के लिए तैयारियों में जुटे लोकेश राहुल, शेयर किया वीडियोIPL के लिए तैयारियों में जुटे लोकेश राहुल, शेयर किया वीडियो

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

अगला पोलियो मुक्त देश हो सकता है पाकिस्तान : डब्ल्यूएचओ

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के अनुसार पाकिस्तान पोलियो मुक्त दुनिया की यात्रा में अपना नाम दर्ज कराने वाला अगला देश हो सकता है। शनिवार...

इस फेस्टिव सीजन विद्या का रेड वेलवेट कुर्ता सूट आप भी कर सकती हैं ट्राई,बस इतनी है कीमत

दुर्गाष्टमी की शाम को अभिनेत्री विद्या बालन के वेलवेट कुर्ता सूट की इमेज इंस्टाग्राम पर काफी देखीं जा रही हैं। विद्या के इस...

US Election: बहस और उसके बाद

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में दोनों प्रत्याशियों के बीच टीवी डिबेट का सिलसिला खत्म हो जाने के बाद मुकाबला अंतिम चरण में पहुंच चुका है।...

दिवाली पर गोबर से बने दीपक करेंगे घर आंगन रोशन 

दीवाली पर घरों को रोशन करने के लिये जलाये जाने वाले मिट्टी के दियों के स्थान पर इस बार गोबर के दियों से घर-आंगन...

Recent Comments