Home News सुशांत सिंह की मौत पर शिवसेना को संवेदनशीलता दिखानी चाहिए, न कि...

सुशांत सिंह की मौत पर शिवसेना को संवेदनशीलता दिखानी चाहिए, न कि टुच्चापन : संजय निरुपम – Ameta

सुशांत सिंह की मौत पर शिवसेना को संवेदनशीलता दिखानी चाहिए, न कि टुच्चापन : संजय निरुपम

कांग्रेस नेता संजय निरुपम और शिवसेना नेता संजय राउत (फाइल फोटो).

मुंबई:

कांग्रेस नेता संजय निरूपम (Sanjay Nirupam) ने सोमवार को शिवसेना (Shiv sena) सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) पर परोक्ष हमला बोलते हुए आरोप लगाया कि वे दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) के परिवार के बारे में ‘‘ओछी बातें कर रहे हैं.” साथ ही, उन्होंने भगवा पार्टी से संवेदनशीलता दिखाने को भी कहा. निरूपम ने यह भी कहा कि हर परिवार की कुछ कहानी होती है, शिवसेना वालों की भी है. 

यह भी पढ़ें

उल्लेखनीय है कि राउत ने रविवार को दावा किया था कि सुशांत के अपने पिता के साथ मधुर संबंध नहीं थे. सुशांत को अपने पिता की दूसरी शादी स्वीकार्य नहीं थी. राउत ने यह टिप्पणी शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ में अपने साप्ताहिक स्तंभ ‘‘रोखठोक” में की थी.

राउत का नाम लिए बगैर निरुपम ने ‘सुशांत डेथ मिस्ट्री’ हैशटैग के साथ ट्वीट किया, ‘‘शिवसेना के सांसद, सुशांत सिंह राजपूत के परिवार के बारे में ओछी बातें कर रहे हैं. हर परिवार की अपनी कहानी होती है. शिवसेना वालों की भी बहुत हैं. लेकिन सुशांत की मृत्यु एक संवेदनशील विषय है. शिवसेना को संवेदनशीलता दिखानी चाहिए, न कि टुच्चापन.”

सुशांत सिंह राजपूत पर संजय राउत ने किया सवाल, बोले- उनके अपने पिता से अच्छे संबंध नहीं थे…

बॉलीवुड एक्टर सुशांत (34) का शव 14 जून को बांद्र स्थित उनके आवास में फंदे से लटका हुआ मिला था. 


Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

वैक्सीन में कितना अंतर हो

भारत में कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड के दो डोज के बीच अंतर को बढ़ाकर 12 से 16 सप्ताह किए जाने के फैसले पर सवाल-जवाब का...

रजिस्ट्रेशन आसान हो, वैक्सीन के सुरक्षा घेरे में सब लाए जाएं

देश में 18 साल से ऊपर के सभी लोगों को टीकाकरण के दायरे में लाने की शुरुआत इस महीने की पहली तारीख से हुई,...

केंद्र ही खरीदे टीका

दिल्ली सरकार ने कोवैक्सीन की कमी की बात कहते हुए 18-44 साल आयुवर्ग के लिए चल रहे 100 टीकाकरण केंद्र बंद कर दिए हैं।...

गांवों में फैला कोरोना

जहां एक ओर बुरी तरह प्रभावित राज्यों और बड़े शहरों में कोरोना संक्रमण की स्थिति में हल्का सुधार दिखने से राहत महसूस की जा...

Recent Comments