Home News ब्रिटेन में महात्मा गांधी के पहने हुए चश्मे नीलामी के लिए रखे...

ब्रिटेन में महात्मा गांधी के पहने हुए चश्मे नीलामी के लिए रखे गए

ब्रिटेन में महात्मा गांधी के पहने हुए चश्मे नीलामी के लिए रखे गए

चश्मे की अनुमानित कीमत 10,000 से 15,000 पाउंड के बीच रहने की उम्मीद है.

लंदन:

ब्रिटेन में होने वाली एक ऑनलाइन नीलामी में सोने की परत चढ़ा एक जोड़ी चश्मा ऐसा भी पेश किया गया है, जिसके बारे में माना जाता है कि उन चश्मों को महात्मा गांधी ने पहना था और उन्होंने 1900 के दशक में तोहफे के तौर पर दिया था. इसकी अनुमानित कीमत 10,000 से 15,000 पाउंड के बीच रहने की उम्मीद है. दक्षिण-पश्चिमी इंग्लैंड के उपनगर हनहम स्थित कंपनी ”ईस्ट ब्रिस्टल ऑक्शंस” ने रविवार को कहा कि वह इस बात को जानकर बेहद आश्चर्यचकित थे कि जो चश्मे उनकी डाकपेटी में एक लिफाफे में रखकर डाले गए थे, उनके पीछे एक ऐसा शानदार इतिहास हो सकता है. 

नीलामी कंपनी के एंडी स्टोव ने कहा, ” इसका बड़ा ऐतिहासिक महत्व है. विक्रेता ने इसे दिलचस्प तो माना लेकिन इसकी कोई कीमत नहीं बतायी. यहां तक कि विक्रेता ने मुझसे कहा कि अगर यह कीमती नहीं हैं तो इन्हें नष्ट कर दें.” उन्होंने कहा, ” जब हमने उन्हें इसकी कीमत बतायी तो वह अचंभे में पड़ गए. यह नीलामी से संबंधित वाकई एक शानदार कहानी है.” इन चश्मों के लिए पहले ही 6,000 पाउंड की ऑनलाइन बोली लगाई जा चुकी है. 

इंग्लैंड के इस अज्ञात बुजुर्ग विक्रेता के परिवार के पास ये चश्मे थे. विक्रेता के पिता ने उन्हें बताया था कि ये चश्मे उनके चाचा को महात्मा गांधी ने उस वक्त तोहफे के तौर पर दिए थे, जब वह 1910 से 1930 के बीच दक्षिण अफ्रीका में ब्रिटिश पेट्रोलियम में काम करते थे. ”महात्मा गांधी के निजी चश्मे का जोड़ा” के शीर्षक से 21 अगस्त को आयोजित होने वाली इस ऑनलाइन नीलामी ने पहले ही लोगों को खासा आकर्षित किया है. भारत के लोगों ने भी इसमें विशेष रुचि दिखायी है.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

इस्राइल-फलस्तीन विवाद: रुके हिंसा का यह दौर

इस्राइल और फलस्तीन के बीच पिछले एक हफ्ते से जारी भीषण गोलाबारी से चिंतित वैश्विक समुदाय ने ठीक ही अपील की है कि सबसे...

वैक्सीन में कितना अंतर हो

भारत में कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड के दो डोज के बीच अंतर को बढ़ाकर 12 से 16 सप्ताह किए जाने के फैसले पर सवाल-जवाब का...

रजिस्ट्रेशन आसान हो, वैक्सीन के सुरक्षा घेरे में सब लाए जाएं

देश में 18 साल से ऊपर के सभी लोगों को टीकाकरण के दायरे में लाने की शुरुआत इस महीने की पहली तारीख से हुई,...

केंद्र ही खरीदे टीका

दिल्ली सरकार ने कोवैक्सीन की कमी की बात कहते हुए 18-44 साल आयुवर्ग के लिए चल रहे 100 टीकाकरण केंद्र बंद कर दिए हैं।...

Recent Comments