Home Gadgets अब Harmony OS पर काम करेंगे Huawei के नए स्मार्टफोन, बंद होगा...

अब Harmony OS पर काम करेंगे Huawei के नए स्मार्टफोन, बंद होगा Kirin चिपसेट

(प्रतीकात्मक फोटो)(प्रतीकात्मक फोटो)

नई दिल्ली

अमेरिकी बैन के बाद से Huawei अपने खुद के ऑपरेटिंग सिस्टम को लॉन्च कर दिया था। कंपनी की कोशिश है वह अपने डिवाइसेज से लिए किसी और के ओएस पर निर्बर न रहे। यही कारण है कि कंपनी अब लैपटॉप से लेकर स्मार्टफोन्स को गूगल ऐंड्रॉयड से HarmonyOS पर शिफ्ट कर रही है।

इन डिवाइसेज में मिलेगा HarmonyOS

हुवावे कंज्यूमर बिजनस के सीईओ यू चेंगडॉन्ग ने कन्फर्म किया है कि आने वाली हुवावे स्मार्टवॉच हारमनी ओएस पर काम करेगी। इसके बाद कंपनी दूसरे डिवाइसेज पर भी इस ओएस का इस्तेमाल करगी। इन डिवाइसेज में IoT, कंप्यूटर्स, टैबलेट्स और स्मार्टफोन्स भी शामिल हैं। चेंगडॉन्ग का कहना है कि भविष्य में हारमनी ओएस ‘worldwide operating system’ बनेगा।

लॉन्च होगा नया Kirin प्रोसेसर

नए डिवाइसेज में हारमनी ओएस मिलने की जानकारी कंपनी ने उसी इवेंट में दी जिसमें उसने अपकमिंग हुवावे मेट40 फ्लैगशिप स्मार्टफोन के लॉन्च को कन्फर्म किया था। बता दें कि हुवावे 5 सितंबर को IFA 2020 में अपना फ्लैगशिप SoC प्रोसेसर Kirin 1000 भी लॉन्च करने वाला है।

रोज 2 जीबी डेटा वाले सबसे सस्ते प्लान, देखें लिस्ट

Kirin चिपसेट वाला आखिरी फोन होगा मेट 40

मेट40 के बारे में बात करते हुए कंपनी ने बताया कि यह हुवावे आखिरी स्मार्टफोन होगा जो Kirin सीरीज के फ्लैगशिप चिपसेट के साथ आएगा। ऐसा इसलिए हो रहा है क्योंकि अमेरिकी बैन से हुवावे को प्रोसेसर मैन्युफैक्चर करने में काफी परेशानी आ रही है।

Chingari ऐप का जलवा, Atma-Nirbhar App चैलेंज में सबको छोड़ा पीछे

आ सकता है सेकंड जेनरेशन हारमनी ओएस

पहले आई कुछ रिपोर्ट्स में कहा गया था कि कंपनी इस साल सितंबर में ऑपरेटिंग सिस्टम के सेकंड जेनरेशन- HarmonyOS 2.0 की घोषणा कर सकती है। यह ओएस खासतौर से कंप्यूटर, स्मार्टवॉचेज और यहां तक की कारों में भी इस्तेमाल किया जा सकेगा। फिलहाल कंपनी की असल प्लानिंग क्या है और सितंबर में क्या कुछ नया आने वाला है इसके लिए कुछ दिन और इंतजार करना होगा।

अगली स्टोरी

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

केंद्र ही खरीदे टीका

दिल्ली सरकार ने कोवैक्सीन की कमी की बात कहते हुए 18-44 साल आयुवर्ग के लिए चल रहे 100 टीकाकरण केंद्र बंद कर दिए हैं।...

गांवों में फैला कोरोना

जहां एक ओर बुरी तरह प्रभावित राज्यों और बड़े शहरों में कोरोना संक्रमण की स्थिति में हल्का सुधार दिखने से राहत महसूस की जा...

तालमेल से बनेगी बात

केंद्र सरकार ने सोमवार को में वैक्सीन पॉलिसी पर अपने रुख का बचाव करते हुए कहा कि महामारी से कैसे निपटना है, यह...

विपक्षी एकता की कवायद

शिवसेना सांसद संजय राउत ने एक बार फिर कहा है कि विपक्षी दलों का एक मजबूत मोर्चा वक्त की जरूरत है। यह बात पहले...

Recent Comments