Home News सिख व्यक्ति को बाल पकड़कर घसीटा, सरेआम की पिटाई – Ameta

सिख व्यक्ति को बाल पकड़कर घसीटा, सरेआम की पिटाई – Ameta

मध्य प्रदेश पुलिस की बर्बरता : सिख व्यक्ति को बाल पकड़कर घसीटा, सरेआम की पिटाई

सिख व्यक्ति के साथ मारपीट के मामले दो पुलिसवाले निलंबित

भोपाल:

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के बड़वानी जिले में एक सिख (Sikh) व्यक्ति के साथ पिटाई का वीडियो सामने आया है. वीडियो में पुलिसकर्मी एक सिख शख्स को सरेआम पीटते हुए नजर आ रहे हैं. वीडियो में दिखाई दे रहे शख्स की पहचान प्रेम सिंह के रूप में हुई है और वह एक पुलिसकर्मी के पैरों में बैठा हुआ है. उस पुलिसकर्मी ने व्यक्ति के बाल पकड़ रखे हैं. इस मामले में दो पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है और मामले की जांच चल रही है. 

वीडियो में प्रेम सिंह नाम का शख्स कह रहा है कि ये लोग हमें पीट रहे हैं, हमें मार रहे हैं. पुलिस बाल पकड़कर खींच कर ले जा रही है… पुलिसकर्मी हमें स्टॉल नहीं लगाने दे रहे है.” पीड़ित व्यक्ति मौके पर मौजूद भीड़ से बचाने की गुहार लगा रहा है. 

जानकारी के मुताबिक, यह घटना बड़वानी के राजपुर तहसील का है. इलाके में चाय का ठेला लगाने को लेकर पुलिस और प्रेम सिंह ग्रंथी के परिवार के बीच विवाद हुआ. पुलिस का कहना है कि प्रेम सिंह ने शराब पी रखी थी. वहीं, सिंह का आरोप है कि घूस देने से मना करने के बाद पुलिसकर्मियों ने उनके साथ मारपीट की. मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि इस मामले में दो पुलिसकर्मियों को निलंबित किया गया है. इसमें एक ASI और हेड कॉन्स्टेबल शामिल हैं. 

मध्य प्रदेश के पू्र्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इस घटना का वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा- “मध्य प्रदेश के बड़वानी के पलसूद में प्रेम सिंह ग्रंथी जो की वर्षों से पुलिस चौकी के पास एक छोटी सी दुकान लगाकर अपना जीवन यापन करते आ रहे हैं उनको वहां की पुलिस ने अमानवीय तरीक़े से पिटा , उनकी पगड़ी उतार दी , बाल पकड़ कर बुरी तरह से सड़क पर उनकी पिटाई की.” 

उन्होंने अगले ट्वीट में कहा, “यह अत्याचार व गुंडागर्दी सिख धर्म की पवित्र धार्मिक परंपराओं का अपमान भी है.

ऐसी घटनाएं बर्दाश्त नहीं की जा सकती है. मैं सरकार से मांग करता हुं कि तत्काल दोषियों पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही हो.

पीड़ित व्यक्ति को न्याय मिले.”

बड़वानी के पुलिस अधीक्षक ने निमिष अग्रवाल ने कहा कि आरोपी पर पहले ही चोरी के तीन मुक़दमे क़ायम है. पुलिस ने कहा कि वाहन चैकिंग के दौरान पुलिस के साथ आरोपी का विवाद हो गया. 

पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने कहा, “आज एमपी में कानून व्यवस्था की अराजकता सर चढ़कर बोल रही है. गुरू ग्रंथ साहिब में पगड़ी का मान और सम्मान है. पवित्र है औऱ ये धर्म के आधार पर राजनीति करने वाले लोग कितना आधार्मिक काम कर रहे हैं. सरकार दिशाहीन है. अत्याचारी है औऱ लोगों को गुमराह कर रही है. 

वीडियो: गाय तस्करी के आरोप में हथौड़े से बुरी तरह पिटाई, एक अरेस्ट


Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

फर्क समझे सरकार

सोशल मीडिया को नियमित करने की बहुचर्चित और वास्तविक जरूरत पूरी करने के मकसद से केंद्र सरकार पिछले हफ्ते जो नए कानून लेकर आई...

भारत-पाकिस्तानः LOC पर शांति की उम्मीद

भारत और पाकिस्तान की सेनाओं की ओर से संयुक्त घोषणापत्र के रूप में गुरुवार को आई यह खबर एकबारगी सबको चौंका गई कि दोनों...

टीकाकरणः नए हालात, नई रणनीति

केंद्र सरकार ने साफ कर दिया है कि कोरोना के टीकाकरण का दूसरा चरण सोमवार एक मार्च से ही शुरू हो जाएगा और इसके...

दिशा रविः विवेकशीलता के पक्ष में

बहुचर्चित टूलकिट मामले में गिरफ्तार युवा पर्यावरण कार्यकर्ता को आखिर मंगलवार को दिल्ली की एक अदालत से जमानत मिल गई। पहले दिन से...

Recent Comments