Home News दिशा सालियन की ऑटोप्सी में हुई थी दो द‍िन की देरी, फरेंसिक...

दिशा सालियन की ऑटोप्सी में हुई थी दो द‍िन की देरी, फरेंसिक एक्सपर्ट बोले- सबूतों की हुई अनदेखी

Disha Salian की ऑटोप्सी को लेकर कई सवाल उठाए जा रहे हैं। अब फरेंसिक एक्सपर्ट का कहना है कि पुलिस ने इसमें बड़ी लापरवाही की है। ऑटोप्सी में 2 दिन के डिले से लेकर कई सुबूतों की अनदेखी सामने आ रही है।

Edited By Kajal Sharma | टाइम्स न्यूज नेटवर्क | Updated:

NBT

सुशांत सिंह राजपूत की एक्स-मैनेजर दिशा सालियान की मौत सुशांत की मौत के कुछ दिन पहले हो गई थी। रिपोर्ट्स की मानें तो बिहार पुलिस सुशांत और दिशा की मौत का कनेक्शन तलाश रही है। हालांकि दिशा की फैमिली इस बात से इनकार कर चुकी है और उन्हें किसी पर शक नहीं है। अब टाइम्स नाऊ को दिशा की ऑटोप्सी रिपोर्ट मिली है जिसके पता चल रहा है कि ऑटोप्सी उनकी मौत के दो दिन बाद की गई थी। फरेंसिक एक्सपर्ट ने इस पर इकई सवाल उठाए हैं।

क्राइम सीन की नहीं हुई पड़ताल

सुशांत सिंह राजपूत और उनकी एक्स- मैनेजर की मौत आसपास हुई थी। दिशा की मौत कैसे हुई, इस बारे में भी नहीं पता चल सका है। पुलिस ने हाल ही में एक नोट रिलीज किया था कि किसी के पास दिशा की मौत से जुड़े कुछ सुबूत हों वे उन्हें दे सकते हैं। रिपोर्ट्स की मानें तो दिशा के पोस्ट मॉर्टम की वीडियोग्राफी भी नहीं हुई थी और क्राइम सीन की पड़ताल भी नहीं हुई है। अब टाइम्स नाऊ ने दिशा की ऑटोप्सी पर फरेंसिक एक्सपर्ट डॉक्टर दिनेश राव से बात की। उनका कहना है कि 2 दिन लेट करना पुलिस की लापरवाही है और उन्हें जवाब देना चाहिए।

जरूरी चीजें की गईं इग्नोर

फरेंसिक एक्सपर्ट ने यह भी कहा, सेक्शुअल असॉल्ट के इंडिकेशंस हैं इसीलिए उन्होंने बायलॉजिकल सैंपल्स कलेक्ट किए हैं। जबकि क्लोथ मटीरियल और नेल स्क्रैपिंग को इग्नोर कर दिया जो कि जरूरी होते हैं।

नहीं होनी चाहिए ऑटोप्सी में देर

वहीं उत्तर प्रदेश के डीजीपी एएल बनर्जी ने भी कहा कि सामान्य तौर पर ऑटोप्सी में देर नहीं की जानी चाहिए। यह इस पर भी निर्भर करता है कि बॉडी कब मिली।

Web Title disha salians autopsy done 2 days after her death forensic expert has doubt of sexual assault(Hindi News from Navbharat Times , TIL Network)

रेकमेंडेड खबरें

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

होम आइसोलेशन में ठीक हो सकते 94 फीसदी संक्रमित मरीज, अध्ययन ने जगायी उम्मीद

बेहतर देखभाल मिले तो होम आइसोलेशन में 94 फीसदी संक्रमित मरीज ठीक हो सकते हैं। अमेरिका के पेंसिल्वेनिया स्कूल ऑफ नर्सिंग यूनिवर्सिटी के एक...

हड्डियों के 8 दोस्त घटाएंगे फ्रैक्चर का खतरा, हड्डियों की मजबूती के लिए जानें डाइट में शामिल करें कौन सी चीजें

शाकाहार के शौकीन फ्रैक्चर के प्रति ज्यादा संवेदनशील होते हैं। ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के हालिया अध्ययन की मानें तो सिर्फ बुजुर्ग ही नहीं, युवा भी...

Covid-19:दोस्तों से ज्यादा घुलने-मिलने के लिए उकसाता है कोरोना, अध्ययन से खुलासा

कोरोना सहित अन्य जानलेवा संक्रमण का सबब बनने वाले वायरस मानव मस्तिष्क पर कब्जा कर संक्रमित का बर्ताव बदल सकते हैं। स्टेट यूनिवर्सिटी ऑफ...

आयुर्वेद में तुलसी को कहा गया है महाऔषधि, हम बताते हैं इसके 5 जांचे-परखे कारण

  आयुर्वेद में तुलसी को महाऔषधि कहा गया है। क्योंकि तुलसी को संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद माना जाता है। तुलसी की जड़, पत्तों...

Recent Comments