Home Sport साई ने जूनियर टॉप्स योजना के लिए 12 खेलों में 258 खिलाड़ियों...

साई ने जूनियर टॉप्स योजना के लिए 12 खेलों में 258 खिलाड़ियों की सूची तैयारी की

Edited By Nityanand Pathak | पीटीआई | Updated:

NBT

नई दिल्ली

भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) ने बुधवार को टारगेट ओलिंपिक पोडियम योजना डेवलपमेंटल ग्रुप के अंतर्गत 12 खेलों में 258 खिलाड़ियों की सूची तैयार की। इस योजना को जूनियर टॉप्स योजना के रूप में भी जाना जाता है। इस योजना के तहत चुने गए प्रत्येक खिलाड़ी को हर महीने 25 हजार रुपये की राशि दी जाती है।

इस योजना के तहत ऐथलेटिक्स में 16, तीरंदाजी में 34, बैडमिंटन में 27, साइकिलिंग में चार, टेबल टेनिस में सात, निशानेबाजी में 70, तैराकी में 14, जूडो में11, मुक्केबाजी में 36, भारोत्तोलन में 16, रोइंग में पांच और कुश्ती में 18 खिलाड़ियों को चुना गया है। साई के मिशन ओलिंपिक सेल ने इन खिलाड़ियों की सूची तैयार की है। इनमें वे 85 खिलाड़ी भी शामिल हैं जिन्हें कोरोना वायरस के कारण लागू किए गए लॉकडाउन से पहले चुना गया था।

इन खिलाड़ियों को 2024 और 2028 ओलिंपिक के लिए तराशा जाएगा। साई ने बयान में कहा कि प्रभावी निगरानी प्रक्रिया तैयार करने के बाद खिलाड़ियों को औपचारिक रूस से विकासशील समूह में शामिल किया जाएगा।

साई ने अपनी समीक्षा बैठक में साथ ही फैसला किया कि अगले चार साल में व्यक्तिगत खिलाड़ियों के लिए प्रदर्शन मापदंड तैयार किए जाएंगे। इन्हें सभी संबंधित हितधारकों के साथ मिलकर तय किया जाएगा जिसमें खिलाड़ी, कोच, हाई परफॉर्मेंस निदेशक/मुख्य राष्ट्रीय कोच शामिल हैं।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

पाचन दुरुस्‍त करने से लेकर हेल्‍दी हार्ट तक, यहां हैं सर्दियों में शहर के सेवन के 5 फायदे

  सर्दियां शुरू हो चुकी हैं, ऐसे मौसम में अगर शहद को अपनी डाइट में शामिल कर लिया जाए तो यह सेहत के लिए...

श्वेता तिवारी के इस ट्रेडिशनल लुक को देखकर फैन्स को याद आई ‘प्रेरणा’

श्वेता तिवारी का नाम याद आते ही उनका प्रेरणा लुक भी याद आ जाता है। ‘कसौटी जिंदगी की’ टीवी सीरियल से घर-घर मशहूर हुई...

Weight Loss Diet : आपके किचन में रखी इन चीजों से भी तेजी से कम होता है वजन

आधुनिक दौर में जीवनशैली भी भागती-दौड़ती हो गई है। काम पर निकलने की जल्दबाजी में आप अक्सर खाने-पीने को लेकर लापरवाही कर जाते हैं।...

एनआईसीईडी को ‘कोवैक्सीन’ के तीसरे चरण के परीक्षण के लिए 1000 वालंटियर्स की जरूरत

'कोवैक्सीन' के तीसरे चरण के परीक्षण के लिए नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ कॉलरा एंटरिक डिजीज (एनआईसीईडी) को करीब 1000 वालंटियर्स की जरूरत है। एक...

Recent Comments