Home Sport वीवो के बाद कौन होगा IPL-2020 का स्पॉन्सर? बीसीसीआई की बढ़ी चिंता

वीवो के बाद कौन होगा IPL-2020 का स्पॉन्सर? बीसीसीआई की बढ़ी चिंता

Edited By Tarun Vats | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

फाइल फोटोफाइल फोटो
हाइलाइट्स

  • इस साल यूएई में होना है आईपीएल, चीनी मोबाइल कंपनी नहीं होगी स्पॉन्सर
  • कोविड-19 के कारण हर क्षेत्र में हुआ है बड़ा नुकसान, ऐसे में स्पॉन्सरशिप को लेकर चिंता
  • BCCI ने जब स्पॉन्सर रिटेन करने की बात कही थी, तो भी सोशल मीडिया पर लोगों ने विरोध जताया
  • वीवो को हर साल 440 करोड़ रुपये की भारी-भरकम राशि का भुगतान करना होता था

नई दिल्ली

चीनी मोबाइल कंपनी वीवो के इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के अगले एडिशन में इस टी20 लीग को स्पॉन्सर नहीं करेगी। इस बारे में आधिकारिक बयान का इंतजार है लेकिन भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) की चिंता बढ़ गई है कि आखिर इस साल यूएई में होने वाली प्रतिष्ठित टी20 लीग को स्पॉन्सर कौन करेगा।

इसी साल जून में पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन के सैनिकों के बीच हुई भिड़ंत के बाद से ही कई लोगों ने चीनी सामानों का बहिष्कार करने की बात कही थी। आईपीएल गवर्निंग काउंसिल ने जब रविवार को बैठक में स्पॉन्सर रिटेन करने की बात कही थी, तो भी सोशल मीडिया पर लोगों ने इस पर विरोध जताया था।

पढ़ें, चीनी मोबाइल कंपनी वीवो नहीं होगी आईपीएल की स्पॉन्सर, विरोध के बाद बदला फैसला

अगले महीने शुरू होगा IPL-13

आईपीएल का 13वां एडिशन यूएई में अगले महीने 19 सितंबर से शुरू होगा। इसका फाइनल मैच 10 नवंबर को खेला जाएगा। पहले यह लीग मार्च में भारत में ही खेली जानी थी, लेकिन घातक कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए इसे तब स्थगित कर दिया गया था।

IPL का रोमांच 19 सितंबर से, 10 नवंबर को फाइनलIPL का रोमांच 19 सितंबर से, 10 नवंबर को फाइनल

नए स्पॉन्सर पर सस्पेंस

सूत्रों के मुताबिक, यह चीनी कंपनी अगले साल यानी 2021 में स्पॉन्सर रहेगी जो डील 2023 तक चलेगी। इस साल के लिए नए स्पॉन्सर का ऐलान जल्द किया जाएगा लेकिन सभी को इंतजार है कि इतने कम समय में बोर्ड किस कंपनी को स्पॉन्सरशिप के लिए तैयार करेगा।

देखें, धोनी ने पहले ही बता दिया था- मैं WC का हिस्सा नहीं: युवराज

2199 करोड़ में हासिल किए थे अधिकार

वीवो इंडिया ने 2017 में आईपीएल टाइटल प्रायोजन अधिकार 2199 करोड़ रुपये में हासिल किए थे। इससे लीग को हर सीजन में उसे करीब 440 करोड़ रुपये का भुगतान करना था। इस चीनी मोबाइल कंपनी ने सॉफ्ट ड्रिंक वाली दिग्गज कंपनी पेप्सिको को हटाया था, जिसकी 2016 में 396 करोड़ रुपये की डील थी।

440 करोड़ का है हिसाब

वीवो कंपनी के इस साल स्पॉन्सर के तौर पर हटने के बाद से इस बात का इंतजार है कि आखिर कौन सी कंपनी आईपीएल को स्पॉन्सर करेगी। वीवो को हर साल 440 करोड़ रुपये की भारी-भरकम राशि का भुगतान करना होता है। कोविड-19 के इस मुश्किल दौर में किसी भी कंपनी के लिए यह मुश्किल होगा कि इतना बड़ी राशि चुकाए।

IPL-2020 के लिए धवन की प्रैक्टिस शुरू, शेयर किया वीडियोIPL-2020 के लिए धवन की प्रैक्टिस शुरू, शेयर किया वीडियो

अधिकारी ने भी माना था, नया स्पॉन्सर मुश्किल

आईपीएल की संचालन परिषद ने रविवार को सभी प्रायोजकों को बरकरार रखने का फैसला किया था। आईपीएल गवर्निंग काउंसिल ने ‘वर्चुअल’ बैठक में फैसला किया कि टूर्नमेंट 19 सितंबर से 10 नवंबर तक खेला जाएगा। बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा था, ‘मौजूदा वित्तीय कठिन परिस्थितियों को देखते हुए इतने कम समय में बोर्ड के लिए नया प्रायोजक ढूंढना मुश्किल होगा।’

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

कोविड-19: रूस में टीकाकरण के लिए पंजीकरण शुरू

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन द्वारा बड़े पैमाने पर टीकाकरण का ऐलान करने के दो दिन बाद शुक्रवार को स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं जैसे उच्च जोखिम...

तेजी से वजन घटाने के लिए ट्राई करें खीरा-पुदीना सूप, बनाने का तरीका भी बेहद आसान

जो लोग अपना वजन घटाना चाहते हैं या मोटापा कंट्रोल करना चाहते हैं, उनके लिए खीरे-पुदीने का यह सूप किसी वरदान से कम नहीं...

घर आए मेहमानों को शाम के नाश्ते में खिलाएं ये क्रंची चाइनीज भेल, सेहत के साथ स्वाद भी मिलेगा

Chinese Bhel Recipe: चाइनीज भेल मुंबई की एक लोकप्रिय स्ट्रीट फूड रेसिपी है। जिसे लोग अक्सर शाम के नाश्ते में बनाकर खाना पसंद करते...

HTLS 2020 : क्या बढ़ती उम्र को रोका जा सकता है? डॉ डेविड सिनक्लेयर ने बताए लम्बे समय तक जवान रहने के तरीके 

बढ़ती उम्र को कौन नहीं थामना चाहता लेकिन हम सभी जानते हैं कि एक दिन उम्र के इस पड़ाव से सभी को गुजरना...

Recent Comments