Home Sport महिला क्रिकेट के बारे में सोच रहा बोर्ड तो पूरी जानकारी दे:...

महिला क्रिकेट के बारे में सोच रहा बोर्ड तो पूरी जानकारी दे: अंजुम चोपड़ा

अंजुम चोपड़ा (file)अंजुम चोपड़ा (file)

नई दिल्ली

महिला टीम की पूर्व कप्तान अंजुम चोपड़ा का मानना है कि महिला क्रिकेट को लेकर भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) के पास योजना है लेकिन बोर्ड को इससे जुड़े विचारों को ज्यादा विस्तार से बताने की जरूरत है। क्रिकेटर से सफल कमेंटेटर बनीं चोपड़ा ने पीटीआई-भाषा से बात करते हुए कहा बीसीसीआई महिला क्रिकेट की प्रगति के बारे में सोच रहा है।

चोपड़ा ने कहा, ‘ऐसा नहीं है कि बीसीसीआई महिला क्रिकेट के बारे में नहीं सोच रहा है। मुझे केवल यह लगता है कि उन्हें महिला क्रिकेट के बारे में विस्तृत ब्योरा देने की जरूरत है। विश्वास है कि वे महिला क्रिकेट के बारे में सोच रहे होंगे, लेकिन यह सब ऐसा ही होना चाहिए जैसे कि पुरूष किकेट के लिए विस्तृत ब्योरे में होता है।’

पढ़ें, ‘अगला धोनी’ बताया तो रोहित ने दिया जवाब

बीबीसीआई को उस वक्त आलोचना का समाना करना पड़ा जब उसने कोविड-19 महामारी के मद्देनजर सितंबर में महिला टीम के इंग्लैंड दौरे को रद्द कर दिया था। चोपड़ा ने कहा कि यह ‘अच्छा नहीं’ था, लेकिन नवंबर में महिला आईपीएल (इंडियन प्रीमियर लीग) से भारतीय खिलाड़ियों को अगले साल होने वाले वनडे वर्ल्ड कप के लिए तैयारी का मौका मिलेगा।

UAE में IPL 2020: बीसीसीआई ने शेयर की अपनी विस्तृत योजना

  • UAE में IPL 2020: बीसीसीआई ने शेयर की अपनी विस्तृत योजना

    इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) का इस साल संयुक्त अरब अमीरात (UAE) में आयोजन होगा। इसे लेकर आईपीएल गवर्निंग काउंसिल (GC) की शनिवार को टेलिकॉन्फ्रेंस के जरिए मीटिंग होगी। तीन दिन (शनिवार, रविवार और सोमवार) चलने वाली इस मीटिंग में इस लीग के सभी प्रमुख हिस्सेदार (फ्रैंचाइजी मालिक, ब्रॉडकास्टर और सेंट्रल स्पॉन्सर्स) शामिल होंगे।

  • गवर्निंग काउंसिल की मीटिंग के बाद बाहर आएगा फाइनल प्लान

    गवर्निंग काउंसिल की इस मीटिंग के बाद ही 19 सितंबर से यूएई में शुरू हो रही इस लीग का ‘फाइनल प्लान’ बाहर आएगा। एक दिन पहले ही हमारे सहयोगी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया ने फ्रैंचाइजियों की इन चिंताओं को लेकर एक रिपोर्ट प्रकाशित की थी। इस रिपोर्ट के बाद बीसीसीआई ने इस मीटिंग का तारीख का ऐलान कर दिया।

  • सिर्फ SOP में होगा बदलाव, बाकी सब वैसा ही: बृजेश पटेल

    आईपीएल गवर्निंग काउंसिल के चेयरमैन बृजेश पटेल ने मीटिंग की तारीखों का ऐलान करते हुए बताया, ‘आईपीएल की शुरुआत से ही, ठहरने, हॉस्पटेलिटी, यात्राएं आदि की जिम्मेदारी टीम मालिकों की ही रही है। तो इस बार ऐसा कुछ नहीं बदलने जा रहा है। जो भी बदलाव होंगे वे SOP (स्टैंडर्ड ऑपरेंटिंग प्रोसिजर) में बदलाव होंगे, जो कि कोविड के चलते जरूरी हैं।’ बीसीसीआई ने सोमवार को अपनी इन योजनाओं को टाइम्स ऑफ इंडिया के साथ शेयर किया है।

  • टीमों को बायो सिक्यॉर बबल में रहना होगा

    खिलाड़ियों और टीम स्टाफ की सुरक्षा को ध्यान में रखकर एक सख्त प्रोटोकॉल बनाया जाएगा। प्रत्येक टीम अपना एक बबल (बुलबुला) तैयार करेगी, जिसमें खिलाड़ी अपने इको सिस्टम का ख्याल सीमित लोगों से ही बात कर सकेंगे। इन्हें बीसीसीआई से स्वीकृति मिलेगी। ऐसा ही बबल बीसीसीआई और IMG स्टाफ, ब्रॉडकास्टर्स आदि के लिए बनाया जाएगा। किसी को भी इस बबल से बाहर किसी भी अन्य व्यक्ति (पूर्व निर्धारित कोऑर्डिनेशन को छोड़कर) से बात करने की इजाजत नहीं होगी।

  • बीसीसीआई के रेवेन्यू पूल में नहीं होगा कोई बदलाव

    51 दिनों में आईपीएल के सभी 60 मैच खेले जाएंगे। बीसीसीआई के सेंट्रल रेवेन्यू पूल में कोई बदलाव नहीं होगा। यानी बीसीसीआई अपने राजस्व में उतना ही पैसा लेगा, जितना वह पहले लेता रहा है।

  • दर्शकों के न होने से गेट मनी गायब

    अगर आईपीएल का आयोजन नहीं हो रहा होता तो फ्रैंचाइजियां किसी भी तरह की कमाई नहीं देख पातीं। गेट मनी को जाने दो बोर्ड कहता है यह ‘चंदा’ है।

  • फ्रैंचाइजियों के जिम्मे ही रहेंगे ट्रैवल और होटल

    फ्रैंचाइजियों को यूएई में अपनी यात्राओं का प्रबंध यूएई अथॉरिटीज की संतुष्टि को ध्यान में रखते हुए खुद ही करना होगा। बीसीसीआई यूएई अथॉरिटीज के साथ होटलों से डिस्काउंट रेट को लेकर बात करेगा और फ्रैंचाइजियों को इसकी जानकारी दे देगा। इसके बाद यह फ्रैंचाइजियों की जिम्मेदारी होगी कि बीसीसीआई द्वारा सुझाए गए होटलों में से किस के साथ डील करते हैं या फिर वे अपना अलग प्रबंध करते हैं। खिलाड़ियों को यूएई लेजाने और वापस लाने के लिए उड़ान का प्रबंध भी फ्रैंचाइजियां ही करेंगी।

  • टीमों को ही रखनी होंगी मेडिकल टीमें

    फ्रैंचाइजियों को अपनी खुद की मेडिकल टीम का प्रबंध भी करना होगा। बीसीसीआई सिर्फ सेंट्रल मेडिकल टीम का प्रबंध करेगी। एक बार जब खिलाड़ी यूएई में लैंड कर जाएंगे, तो खिलाड़ियों की टेस्टिंग की जिम्मेदारी भी फ्रैंचाइजियों की ही होगी, जो बीसीसीआई की मेडिकल टीम के साथ 24X7 आधार पर जुड़े रहेंगे। हर फ्रैंचाइजी की मेडिकल टीम भी अपनी-अपनी टीमों के साथ सिक्यॉरिटी बबल में ही रहेंगी।

  • प्लेयर्स रिप्लेसमेंट ऐंड लोन

    खिलाड़ियों की नीति में भी किसी तरह का कोई बदलाव नहीं है और फ्रैंचाइजियां अपने अतिरिक्त खिलाड़ियों को एक साथ यूएई ले जा सकती हैं। इससे अचानक जरूरत पड़ने पर तुरंत ट्रैवल की समस्या नहीं होगी।

उन्होंने कहा, ‘महिला टीम को उस इंग्लैंड दौरे का हिस्सा होना चाहिए था और शुरुआत में मुझे यह अच्छा नहीं लगा था, लेकिन महिला आईपीएल भी विश्व कप की तैयारियों में मददगार होगी। क्रिकेट के किसी भी फॉर्मेट से तैयारी की जा सकती है।’

43 साल की पूर्व कप्तान ने कहा, ‘किसी भी टूर्नमेंट के लिए उपलब्ध नहीं होना अच्छी बात नहीं है, लेकिन तार्किक रूप से इसके पीछे कई मुद्दे हो सकते हैं। और आप कम तैयारियों के साथ टीम नहीं भेज सकते।’

IPL का रोमांच 19 सितंबर से, 10 नवंबर को फाइनलIPL का रोमांच 19 सितंबर से, 10 नवंबर को फाइनल

चोपड़ा ने सौरभ गांगुली की अगुआई वाले बोर्ड की ओर से द्वारा आईपीएल के साथ-साथ यूएई में महिलाओं के आईपीएल के आयोजन के फैसले का स्वागत किया। पुरुषों का आईपीएल 19 सितंबर से 10 नवंबर तक चलेगा। महिला आईपीएल पुरुष लीग के आखिरी चरण में होगा। उन्होंने कहा, ‘खुश हूं, दुनिया भर में कहीं भी किसी भी प्रकार के क्रिकेट का हिस्सा बनना हमेशा अच्छा होता है।’

पढ़ें, चीनी मोबाइल कंपनी इस साल नहीं होगी आईपीएल की स्पॉन्सर

उन्होंने सफलतापूर्वक 17 साल तक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेला है और रेकॉर्ड छह बार वर्ल्ड कप में भारत का प्रतिनिधित्व किया है। वह 100 एकदिवसीय खेलने वाली पहली महिला क्रिकेटर हैं। उन्होंने कहा कि इस महामारी का महिला क्रिकेट पर ज्यादा असर नहीं पड़ेगा।

चोपड़ा ने कहा, ‘कहीं भी क्रिकेट नही हो रहा था, एक बार जब यह शुरू होगा तो चीजे रफ्तार पकड़ेगी। इसे रफ्तार पकड़ने में थोड़ा समय लगेगा। मुझे उम्मीद है कि महिलाओं के खेल के प्रति जो जागरूकता पैदा हुई है, वह बनी रहेगी।’

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

महिलाओं के लिए वरदान से कम नहीं है सूरजमुखी के बीज, रोजाना सेवन से दूर होती हैं ये 5 बड़ी समस्याएं

Sunflower Seeds Benefits: आज के स्ट्रेस भरे माहौल में खान-पान में गड़बड़ी और सेहत के प्रति लापरवाही बरतने की वजह से जाने अनजाने...

होम आइसोलेशन में ठीक हो सकते 94 फीसदी संक्रमित मरीज, अध्ययन ने जगायी उम्मीद

बेहतर देखभाल मिले तो होम आइसोलेशन में 94 फीसदी संक्रमित मरीज ठीक हो सकते हैं। अमेरिका के पेंसिल्वेनिया स्कूल ऑफ नर्सिंग यूनिवर्सिटी के एक...

सर्दियों में शरीर को गर्म ही नहीं सेहतमंद भी बनाए रखेंगे ये 5 देसी सुपरफूड

Winter Health Care Tips: मौसम बदलते ही लोग सर्दी जुकाम की शिकायत करने लगते हैं। ऐसे में खुद को सेहतमंद बनाए रखने के लिए...

हड्डियों के 8 दोस्त घटाएंगे फ्रैक्चर का खतरा, हड्डियों की मजबूती के लिए जानें डाइट में शामिल करें कौन सी चीजें

शाकाहार के शौकीन फ्रैक्चर के प्रति ज्यादा संवेदनशील होते हैं। ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के हालिया अध्ययन की मानें तो सिर्फ बुजुर्ग ही नहीं, युवा भी...

Recent Comments