Home Sport आईपीएल जीसी बैठक : चीनी स्पॉन्सर बरकरार, कोरोना सब्स्टीट्यूट को भी मंजूरी

आईपीएल जीसी बैठक : चीनी स्पॉन्सर बरकरार, कोरोना सब्स्टीट्यूट को भी मंजूरी

पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन की सेना के बीच हुई भिंड़त के बाद चीनी प्रायोजन बड़ा मुद्दा बन गया था। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने इसके बाद करार की समीक्षा का वादा किया था।

भाषा | Updated:

फाइल फोटोफाइल फोटो
हाइलाइट्स

  • IPL में चीनी मोबाइल कंपनी वीवो सहित सभी प्रायोजकों को बरकरार रखने का फैसला
  • बीसीसीआई की मंजूरी, आईपीएल का अगला एडिशन 19 सितंबर से होगा शुरू
  • पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन की सेना के बीच हुई भिंड़त के बाद चीनी प्रायोजन बड़ा मुद्दा बना था
  • कोविड-19 के कारण खिलाड़ियों को बदलने की अनुमति दी जाएगी जो असीमित होगी

नई दिल्ली

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की संचालन परिषद ने रविवार को चीनी मोबाइल कंपनी वीवो सहित सभी प्रायोजकों को बरकरार रखने का फैसला किया। इसके साथ ही संयुक्त अरब अमीरात में इस साल होने वाली प्रतिष्ठित टी20 लीग में कोविड-19 के कारण असीमित संख्या में खिलाड़ियों को बदलने को भी मंजूरी दे दी।

आईपीएल संचालन परिषद (जीसी) ने रविवार को हुई ‘वर्चुअल’ बैठक में फैसला किया कि टूर्नमेंट 19 सितंबर से 10 नवंबर तक खेला जाएगा। आईपीएल जीसी के एक सदस्य ने नाम नहीं बताने की शर्त पर पीटीआई से कहा, ‘मैं सिर्फ यही कह सकता हूं कि हमारे सभी प्रायोजक हमारे साथ हैं। उम्मीद है आप समझ गए होंगे।’

पढ़ें, IPL में इस बार देखने को मिलेंगी ये बड़ी बातें

BCCI ने किया था समीक्षा का वादा

जून में पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन की सेना के बीच हुई भिंड़त के बाद चीनी प्रायोजन बड़ा मुद्दा बन गया था। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने इसके बाद करार की समीक्षा का वादा किया था।

गवर्निंग काउंसिल के चेयरमैन बोले, सितंबर-अक्टूबर में होगा आईपीएलगवर्निंग काउंसिल के चेयरमैन बोले, सितंबर-अक्टूबर में होगा आईपीएल

महिला आईपीएल को भी मंजूरी

एक अन्य बड़े फैसले में आईपीएल जीसी ने महिलाओं के आईपीएल को भी मंजूरी दे दी। रविवार को बीसीसीआई अध्यक्ष सौरभ गांगुली से बातचीत के बाद एजेंसी ने इसकी जानकारी दी थी। कोविड-19 के बढ़ते मामलों के कारण आईपीएल को भारत से बाहर कराना पड़ रहा है।

IPL में नस्लवाद- यह था डैरेन सैमी का पोस्ट

  • IPL में नस्लवाद- यह था डैरेन सैमी का पोस्ट

    सैमी ने अपने पेज पर लिखा, ‘मुझे अभी ‘कालू’ का मतलब मालूम चला है, जब मैं आईपीएल में सनराइजर्स के लिए खेलता था। वे मुझे और परेरा (थिसारा) को इस नाम से बुलाते थे। मैं सोचता था कि इसका अर्थ ‘मजबूत व्यक्ति’ होता है। लेकिन मेरी पहले की पोस्ट इसका कुछ और अर्थ बता रही है और मैं गुस्से में हूं।’

  • यह हंसी-मजाक में कहा गया होगा: टी सुमन

    सनराइजर्स की टीम का हिस्सा रह चुके खिलाड़ी टी सुमन ने कहा, ‘अगर ऐसा हुआ है तो यह हंसी-मजाक में कहा गया होगा।’

  • ​शायद दर्शकों की बात कर रहे हैं सैमी: सनराइजर्स हैदराबाद

    आईपीएल में सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) फ्रैंचाइजी के एक सीनियर सदस्य ने इस पर सार्वजनिक रूप से कॉमेंट करने से मना कर दिया। उन्होंने कहा कि सैमी जिस घटना का जिक्र कर रहे हैं, जिसने दोनों खिलाड़ियों (सैमी और थिसारा परेरा) को ‘कालू’ कहा है) वह घटना शायद दर्शकों से जुड़ी है- किसी खिलाड़ी से नहीं।

  • दर्शकों पर हमारा नियंत्रण नहीं फिर भी तय करेंगे ऐसी घटनाएं न हों: BCCI

    बीसीसीआई के कोषाध्यक्ष अरुण धूमल ने कहा, ‘यह ऐसी घटना है, जो कई साल पहले हुई है और हमें नहीं मालूम की इसका जिम्मेदार कौन है। लेकिन बीसीसीआई हमेशा अपने खिलाड़ियों को इस संबंध में शिक्षित करता है कि उन्हें नस्लीय विवाद से दूर रहना है। लेकिन यह नहीं भूलना चाहिए कि दर्शकों पर हमारा नियंत्रण नहीं है। लेकिन हम फिर यह तय करेंगे कि ऐसी घटनाएं न हों।’

  • दक्षिण भारतीय खिलाड़ियों को भी करना पड़ता है इसका सामना: इरफान पठान

    साल 2014 में डैरेन सैमी के साथ सनराइजर्स हैदराबाद का हिस्सा रह चुके टीम इंडिया के पूर्व तेज गेंदबाज इरफान पठान ने कहा, ‘वैसे तो मुझे जानकारी नहीं है कि सैमी के साथ कुछ ऐसा हुआ है, लेकिन मैंने देखा है कि मेरे कुछ दक्षिण भारतीय दोस्त जब उत्तर भारत में खेलने जाते हैं तो उन्हें भी ऐसी टिप्पणियों का सामना करना पड़ता है। दर्शकों की ओर से ऐसा मेरे साथ भी हुआ है। दर्शकों में बैठे कुछ लोग ऐसे कॉमेंट करते हैं।’

  • इरफान बोले- दर्शकों को नहीं पता कि वह क्या कर रहे हैं

    इरफान पठान ने कहा कि जो दर्शक ऐसा करते हैं उन्हें नहीं पता कि वे क्या गलत कर रहे हैं। उन्हें लगता है कि इससे वे फनी लगेंगे इसलिए ऐसा कर देते हैं। लेकिन ऐसी घटनाएं नहीं होनी चाहिए। शिक्षा इसे रोकने में बड़ा रोल निभा सकती है।

कोरोना सब्स्टीट्यूट को मंजूरी

दुनिया भर में स्वास्थ्य सुरक्षा संबंधित नाजुक परिस्थितियों को देखते हुए कोविड-19 के कारण खिलाड़ियों को बदलने की अनुमति दी जाएगी जो असीमित होगी। आईपीएल जीसी सदस्य ने कहा, ‘हमें एक हफ्ते के अंदर गृह और विदेश मंत्रालय से जरूरी मंजूरी मिलने की उम्मीद है। फाइनल 10 नवंबर को खेला जाएगा क्योंकि इससे यह दिवाली के हफ्ते में शामिल हो जाएगा। प्रसारकों के लिए यह लुभावना मौका रहेगा।’

'धोनी खेल चुके हैं अपना आखिरी इंटरनैशनल मैच'‘धोनी खेल चुके हैं अपना आखिरी इंटरनैशनल मैच’

स्पॉन्सरशिप करार में कोई बदलाव नहीं

प्रायोजक अनुबंध यानी स्पॉन्सरशिप करार में कोई बदलाव नहीं होगा जिसकी जानकारी शनिवार को ही दे दी गई थी। मौजूदा वित्तीय कठिन परिस्थितियों को देखते हुए इतने कम समय में बोर्ड के लिए नया प्रायोजक ढूंढना मुश्किल होगा।

हर टीम में 24 ही खिलाड़ी

उम्मीद है कि खेलने वाले सदस्यों के हिसाब से आठ फ्रैंचाइजी के लिए टीम की संख्या 24 खिलाड़ी की होगी। उन्होंने कहा, ‘मानक प्रक्रिया अब भी तैयार की जा रही है लेकिन इस साल कोविड-19 के कारण इसमें किसी भी संख्या में बदलाव संभव होंगे। साथ ही बीसीसीआई को UAE में चिकित्सीय सुविधाएं बनाने के लिए दुबई के ग्रुप से सब्मिशन मिला है। बीसीसीआई ‘बायो-सिक्योर’ (जैव सुरक्षित वातावरण) बनाने के लिए टाटा ग्रुप से भी बातचीत कर रहा है।’

(खेल और देश-दुनिया हर खबर अब Telegram पर भी। हमसे जुड़ने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें और पाते रहें हर जरूरी अपडेट)

रेकमेंडेड खबरें

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

महिलाओं के लिए वरदान से कम नहीं है सूरजमुखी के बीज, रोजाना सेवन से दूर होती हैं ये 5 बड़ी समस्याएं

Sunflower Seeds Benefits: आज के स्ट्रेस भरे माहौल में खान-पान में गड़बड़ी और सेहत के प्रति लापरवाही बरतने की वजह से जाने अनजाने...

होम आइसोलेशन में ठीक हो सकते 94 फीसदी संक्रमित मरीज, अध्ययन ने जगायी उम्मीद

बेहतर देखभाल मिले तो होम आइसोलेशन में 94 फीसदी संक्रमित मरीज ठीक हो सकते हैं। अमेरिका के पेंसिल्वेनिया स्कूल ऑफ नर्सिंग यूनिवर्सिटी के एक...

सर्दियों में शरीर को गर्म ही नहीं सेहतमंद भी बनाए रखेंगे ये 5 देसी सुपरफूड

Winter Health Care Tips: मौसम बदलते ही लोग सर्दी जुकाम की शिकायत करने लगते हैं। ऐसे में खुद को सेहतमंद बनाए रखने के लिए...

हड्डियों के 8 दोस्त घटाएंगे फ्रैक्चर का खतरा, हड्डियों की मजबूती के लिए जानें डाइट में शामिल करें कौन सी चीजें

शाकाहार के शौकीन फ्रैक्चर के प्रति ज्यादा संवेदनशील होते हैं। ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के हालिया अध्ययन की मानें तो सिर्फ बुजुर्ग ही नहीं, युवा भी...

Recent Comments