Home Gadgets इस रक्षाबंधन यूजर्स से एक प्रॉमिस करवा रहा है ट्विटर, जानें क्यों?

इस रक्षाबंधन यूजर्स से एक प्रॉमिस करवा रहा है ट्विटर, जानें क्यों?

सांकेतिक तस्वीरसांकेतिक तस्वीर

नई दिल्ली

माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर चाहता है कि इस रक्षाबंधन आप एक प्रॉमिस करें और यह प्रॉमिस कोरोना वायरस संक्रमण की मौजूदा स्थिति को देखकर जरूरी भी लगता है। कोरोना वायरस महामारी के वक्त में त्योहार का दौर बेशक शुरू हो गया है लेकिन सोशल-डिस्टेंसिंग बनाए रखने में ही समझदारी है। ट्विटर की मदद से एकदूसरे से दूर मौजूद भाई-बहन भी आपस में जुड़ सकेंगे और प्लैटफॉर्म वर्चुअल राखी लेकर आया है।

ट्विटर ने कहा है कि जो भी भाई-बहन आपस में प्लैटफॉर्म पर बात करें या एकदूसरे के लिए मेसेज लिखें, उन्हें #TweetAPromise हैशटैग इस्तेमाल करना है। अपने ऑफिशल ट्विटर इंडिया अकाउंट पर प्लैटफॉर्म ने एक ट्वीट किया है। इसमें लिखा है, ‘इस रक्षाबंधन दूरी बनाकर रखें, ट्विटर इंडिया की वर्चुअल राखी की मदद से अपनों को एक प्रॉमिस ट्वीट (#TweetAPromise) करें।’

पढ़ें: ट्विटर पर सबसे बड़ा हैक, बिल गेट्स से ओबामा तक के अकाउंट हैक और लाखों की लूट

संक्रमण से बचना जरूरी

कोरोना वायरस संक्रमण के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं और त्योहारों के दौरान ट्रैवल करने वाले लोग ना बढ़ें, इसके लिए सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म की ओर से अपील की गई है। ऐसे में अगर आप अपने घर या फिर भाई-बहन से दूर हैं तो रक्षाबंधन के दिन उससे एक वादा कर सकते हैं। इसके लिए #TweetAPromise हैशटैग इस्तेमाल करने की बात ट्विटर ने कही है। ऐसे में रक्षाबंधन वाले दिन यह हैश टैग ट्रेंड करता दिख सकता है।

पढ़ें: हैकर्स ने सरकारी वेबसाइट से उड़ाए 261 करोड़ रुपये, कोरोना रिलीफ के लिए था फंड

मिलते हैं वर्चुअल फीचर्स

लॉकडाउन के दौरान भी ट्विटर अपने यूजर्स को आपस में जोड़ने के साथ-साथ वायरस से जुड़ी सामान्य जानकारी और अपडेट्स भी दे रहा था। बाकी सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म्स भी इसी तरह की अपील अपने यूजर्स से कर सकते हैं और वर्चुअली त्योहारों को बेहतर बनाने के लिए खास स्टिकर्स या टेंपरेरी फीचर्स ला सकते हैं। फेसबुक भी कई त्योहारों पर इस तरह के ऑप्शन अपने यूजर्स को देता है।

अगली स्टोरी

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

मुंशी प्रेमचंद की पत्नी शिवरानी देवी की वे कहानियां जिनके बारे में बहुत कम लोग जानते हैं!

हिन्दी के अमर कथाकार मुंशी प्रेमचंद की पहली हिन्दी कहानी 'सौत' 1915 में छपी थी  और इसी शीर्षक से उनकी पत्नी शिवरानी देवी ने...

सर्दियों में किसी आयुर्वेदिक औषधि से कम नहीं है कश्मीरी कहवा, यह है बनाने की तरीका

कश्मीरी कहवा स्वाद में ही नहीं सेहत के लिए भी बहुत अच्छी होती है। इसे ग्रीन टी की तरह ही गुणकारी माना जाता है।...

इन 6 चीजों के सेवन से आंखों की रोशनी नहीं होती कम, लैपटॉप, मोबाइल का इस्तेमाल करने वाले लोग जरूर खाएं

आजकल समय से पहले लोगों के आखों की रोशनी कमजोर होने लगी है, क्योंकि बदलती लाइफस्टाइल के साथ ही हम सभी को कुछ घंटे...

शादी-पार्टी में ठंड से बचने के साथ कैसे दिखें स्टाइलिश? इन टिप्स से सर्दी में भी पहन सकते हैं अपनी फेवरेट ड्रेस 

आमतौर पर सर्दियों के कपड़ों को लेकर लोगों के मन में आम धारणा बनी हुई है कि ठंड से बचाने वाले कपड़े स्टाइलिश नहीं...

Recent Comments