Home News धर्म के आधार पर जज किये जाने को लेकर भड़के इरफान खान...

धर्म के आधार पर जज किये जाने को लेकर भड़के इरफान खान के बेटे बाबिल, बोले- मेरे दोस्तों ने बात करनी बंद कर दी…

धर्म के आधार पर जज किये जाने को लेकर भड़के इरफान खान के बेटे बाबिल, बोले- मेरे दोस्तों ने बात करनी बंद कर दी...

बाबिल खान (Babil Khan) ने धर्म के आधार पर जज किये जाने को लेकर की पोस्ट

खास बातें

  • बाबिल खान ने पोस्ट शेयर कर कहा कि कृप्या मुझे धर्म के आधार पर जज न करें
  • बाबिल खान के दोस्तों ने धर्म के वजह से बात करनी की बंद
  • बाबिल खान ने कहा कि अगर मुझे एंटी नेशनलिस्ट कहा तो…

नई दिल्ली:

बॉलीवुड के मशहूर एक्टर इरफान खान (Irrfan Khan) के बेटे बाबिल खान (Babil Khan) इन दिनों सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते हैं. वह अकसर फोटो और वीडियो साझा कर फैंस से जुड़े रहते हैं. लेकिन हाल ही में बाबिल खान ने इंस्टाग्राम एकाउंट पर कुछ स्टोरी पोस्ट कीं, जिसमें उन्होंने बताया कि कृप्या मुझे मेरे धर्म के आधार पर जज न करें. बाबिल ने अपनी पोस्ट में बताया कि धर्म अलग होनो के कारण उनके दोस्तों ने उनसे बातें करना भी बंद कर दीं. इसके साथ ही बाबिल खान ने सत्ताधारियों पर बात करते हुए कहा कि मैं उनके बारे में कुछ नहीं लिख सकता हूं. 

9d2qste8
76qfgqs

यह भी पढ़ें

बाबिल खान (Babil Khan) ने अपनी इंस्टाग्राम स्टोरी में लिखा, “मैं सत्ताधारियों के बारे में अपने मन की बातें नहीं लिख सकता हूं, क्योंकि मेरी टीम का कहना है कि इससे मेरा करियर खत्म हो जाएगा. क्या आप इसपर भरोसा कर सकते हैं? मैं डरा हुआ हूं, मैं ऐसे नहीं रहना चाहता. मैं एक बार फिर से खुला महसूस करना चाहता हूं. मैं अपने धर्म के आधार पर जज नहीं किया जाना चाहता. मैं अपना धर्म नहीं हूं, मैं भारत की बाकी जनता की तरह ही एक आम इंसान हूं.” बता दें कि बाबिल खान यहीं नहीं रुके, उन्होंने आगे भी अपनी कुछ स्टोरी साझा कीं. 

tog5aea8
e1p8q8n8

बाबिल खान (Babil Khan) ने लिखा, “मेरे कुछ दोस्तों ने मुझसे बातें करना तक बंद कर दिया, क्योंकि मैं एक दूसरे धर्म का व्यक्ति हूं. दोस्तों मैंने क्रिकेट खेला है, जब मैं केवल 12 साल का था. मेरे हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई और इंसान सभी दोस्त हैं.” बाबिल ने आगे पोस्ट में लिखा कि पहली बात तो यह है कि मुझे भारत से बहुत प्यार है और मैं आपको यह सब इसलिए कह रहा हूं कि मैंने लंदन में पढ़ाई की है. जब भी मैं वहां जाता था तो मैं वापस आने के लिए बेताब रहता था. यहां आकर रिक्शा राइड लेना, पानी पूरी खाना और हर जगह घूमना. मुझे एंटी नेशनलिस्ट कहने की हिम्मत मत करना. मैं वादा करता हूं कि मैं एक बॉक्सर हूं और मैं नाक भी तोड़ सकता हूं. 

 

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

सर्दियों में नहीं सेंक पा रहे हैं धूप तो विटामिन डी की कमी पूरी करने के लिए अपनाएं ये 5 उपाय

Vitamin D Rich Diet : हड्डियों को मजबूत बनाए रखने के लिए विटामिन डी बेहद जरूरी होता है। शरीर में मौजूद विटामिन डी इम्यूनिटी...

बालोें में डैंड्रफ से परेशान हैं, तो ये 6 होम रेमेडीज करेंगी आपकी मदद

  सर्दियों के मौसम में बालों का टूटना, गिरना या डैंड्रफ बहुत ही आम समस्या हो गई है। हम में ज्यादातर लोगों ने कभी...

Covid-19:एस्ट्राजेनेका का कोरोना टीका पूरी तरह सुरक्षित: एसआईआई

पुणे स्थित दुनिया की सबसे बड़ी टीका उत्पादक कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) ने दावा किया है कि एस्ट्राजेनेका और ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के...

Covid-19:कोरोना संक्रमित एक तिहाई से अधिक बच्चों में नहीं दिखे लक्षण, अध्ययन में खुलासा

एक नए अध्ययन के अनुसार कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए एक तिहाई से अधिक बच्चों में इस महामारी के कोई लक्षण नहीं दिखाई...

Recent Comments