Home Sport मोहन बागान दिवस के मौके पर नैस्डेक बिलबोर्ड पर छाया क्लब

मोहन बागान दिवस के मौके पर नैस्डेक बिलबोर्ड पर छाया क्लब

भारत का प्राचीन फुटबॉल क्लब मोहन बागान बुधवार को दुनिया भर में छा गया, जब वह न्यूयार्क के टाइम्स स्क्वायर पर नैस्डेक बिलबोर्ड पर आने वाला देश का पहला क्लब बना। यह ‘मोहन बागान दिवस’ के मौके पर हुआ, जो हर साल 29 जुलाई को मनाया जाता है। टीम ने 1911 में इसी दिन ईस्ट यॉर्कशर रेजीमेंट को हराकर मशहूर आईएफए शील्ड खिताबी जीता था जिससे यह दिन क्लब के लिए बेहद खास बन गया। मोहन बागान 2-1 से मिली जीत से टूर्नामेंट में ब्रिटिश दबदबे को खत्म करने वाला पहला भारतीय क्लब बना था।

इस क्लब की स्थापना 1889 में हुई थी और 131 साल पुराने क्लब के दुनिया भर में समर्थकों की कोई कमी नहीं है, लेकिन अमेरिकी स्टॉक एक्सचेंज का इसके प्रतीक चिन्ह और इसके महरून रंग को अपने बिलबोर्ड पर लगाना काफी विशेष महत्व रखता है।

फीफा ने फुटबॉल संस्थाओं को वायरस राहत देने को मंजूरी दी

मोहन बागान के शीर्ष अधिकारी देबाशीष दत्ता ने पीटीआई-भाषा से कहा, ”मोहन बागान के सभी प्रशंसकों और समर्थकों के लिए यह बहुत गर्व की बात है। इससे क्लब के कद का पता चलता है। भारतीय खेलों में कोई भी क्लब इस तरह के मुकाम पर नहीं पहुंचा, इसलिए यह बहुत ही महत्व रखता है जो बहुत अलग है।”

विश्व फुटबॉल संचालन संस्था फीफा ने भी मोहन बागान के नैस्डैक पर आने की तारीफ की। फीफा ने अपने अधिकारिक ट्विटर हैंडल पर लिखा, ”जब आप न्यूयार्क टाइम्स स्क्वायर के बिलबोर्ड पर चमचमाते हैं तो आप जानते हो कि आप महज एक क्लब से ज्यादा अधिक महत्व रखते हो।”

फीफा ने लिखा, ”दुनिया के सबसे ज्यादा जुनूनी समर्थकों के क्लबों में से एक को हैपी मोहन बागान दिवस 2020।”  क्लब ने पहले ट्वीट किया था, ”नैस्डेक की फोटो इस बात की तस्दीक है कि मोहन बागान एक अलग ही लीग में शामिल है। मोहन बागान के लिए काफी बड़ा दिन। हैप्पी मोहन बागान डे मैराइनर्स।”


Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

रहने लायक शहर : रोजगार की जगहों को सुंदर, सुविधाजनक बनाने की चुनौती

केंद्रीय आवास तथा शहरी मामलों के मंत्रालय द्वारा गुरुवार को जारी की गई शहरों की रैंकिंग कई लिहाज से महत्वपूर्ण है। साफ-सफाई और अन्य...

फ्रीडम हाउस की रिपोर्ट: स्वतंत्रता के पैमाने

दुनिया भर में लोकतंत्र की स्थिति पर नजर रखने वाले एक अमेरिकी एनजीओ 'फ्रीडम हाउस' की ताजा रिपोर्ट वैसे तो वैश्विक स्तर पर इसकी...

रिजर्वेशन: स्थानीय बनाम बाहरी

हरियाणा सरकार ने राज्य में प्राइवेट सेक्टर की नौकरियों में स्थानीय प्रत्याशियों के लिए 75 फीसदी का प्रावधान कर न केवल एक पुरानी...

चीनी हैकरः सायबर हमले का खतरा

पिछले अक्टूबर में मुंबई में हुए असाधारण पावर कट को लेकर अमेरिकी अखबार न्यू यॉर्क टाइम्स में हुआ खुलासा पहली नजर में चौंकाने वाला...

Recent Comments