Home Sport अश्विन का सुझाव, अगर बल्लेबाज नॉन स्ट्राइक पर आगे बढ़े तो रन...

अश्विन का सुझाव, अगर बल्लेबाज नॉन स्ट्राइक पर आगे बढ़े तो रन नहीं मानना चाहिए

Edited By Tarun Vats | आईएएनएस | Updated:

रविचंद्रन अश्विन (file)रविचंद्रन अश्विन (file)

नई दिल्ली

बल्लेबाजों को अकसर नॉन स्ट्राइकर छोर पर गेंदबाज के गेंद फेंकने से पहले ही जल्दी क्रीज छोड़ते देखा जाता है, जिसके कारण वह आसानी से तेजी से रन भाग लेता है। अश्विन ने इसे रोकने के लिए कुछ सुझाव दिए हैं और कहा कि तकनीक की मदद से बल्लेबाज और गेंदबाज के बीच की समानता को बनाए रखा जा सकता है।

अश्विन ने कई ट्वीट्स करते हुए इस बारे में अपनी राय रखी। उन्होंने लिखा, ‘उम्मीद है कि तकनीक इस बात पर ध्यान देगी कि कहीं बल्लेबाज गेंदबाज के गेंद फेंकने से पहले क्रीज छोड़ रहा है और ऐसे में उस गेंद पर बनाए गए रनों को रद्द कर देगी। इससे समानता को बनाए रखा जा सकता है।’

पढ़ें, यूएई में IPL: BCCI ने बताया क्या कुछ बदला

ऑफ स्पिनर अश्विन ने इसके बाद बताया कि नॉन स्ट्राइकर छोर पर बल्लेबाज के गेंदबाज द्वारा गेंद छोड़ने से पहले क्रीज छोड़ने का गेंदबाज को क्या नुकसान है। उन्होंने कहा कि बल्लेबाज ऐसा या तो जल्दी स्ट्राइक बदलने या फिर एक रन को दो में तब्दील करने के लिए करते हैं।

उन्होंने ट्वीट किया, ‘आप में कई लोग इसमें असमानता को नहीं देख पाते हैं। इसलिए मैं अपनी काबिलियत से आपको इसके बारे में बता देता हूं। अगर नॉन स्ट्राइकर दो फीट आगे है और इसी कारण वह दो रन लेने में सफल रहता है तो वह सामने वाले बल्लेबाज को दोबारा स्ट्राइक पर ले आएगा।’

उन्होंने कहा, ‘उसी बल्लेबाज के दोबारा सामने आने पर अगली गेंद पर वह मुझे चौका या छक्का मार सकता है और इससे मुझे एक रन की जगह कुल सात रनों का नुकसान हुआ, और हो सकता कि अगर स्ट्राइक पर कोई अलग बल्लेबाज होता तो गेंद खाली भी हो जाती। यही बात टेस्ट मैच में है, जहां बल्लेबाज स्ट्राइक से हटना चाहता हो तो वो ऐसा कर सकता है।’

33 वर्षीय अश्विन कई बार इसी तरह की चीजों को रोकने के लिए मांकड नियम का इस्तेमाल करते देखे गए हैं। आईपीएल के पिछले सीजन में उन्होंने किंग्स इलेवन पंजाब से खेलते हुए राजस्थान रॉयल्स के बल्लेबाज जोस बटलर को नॉन स्ट्राइकर छोर पर मांकडिंग आउट किया था। अश्विन ने कहा कि इससे बल्ले और गेंद के बीच समानता बनाई जा सकती है।

उन्होंने कहा, ‘यह गेंदबाजों के लिए मुश्किल माहौल में संतुलन लाने का समय है। हम इसके लिए उसी तकनीक का उपयोग कर सकते हैं जो हम टी-20 में नो बॉल के लिए करते हैं।’

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

शादी सीजन में दिखना चाहती हैं सबसे खूबसूरत तो मौनी रॉय से लें ऑउटफिट इंस्पिरेशन

भारत में शादी के लिए हम महीनों से तैयारियों में लग जाते हैं। हम अपने यहां होने वाली शादियों को भव्य और शानदार...

New Year 2021: नए साल की करें अच्छी शुरुआत, ये हैं वो 5 शहर जहां मना सकते हैं आप अपनी New Year Eve Party

Best Places In India To Celebrate New Year 2021: नए साल का नाम सुनते ही मन उत्साह से भर जाता है। हर व्यक्ति...

कुछ ही घंटों में विकराल रूप धारण कर लेगा चक्रवाती तूफान ‘निवार’ , जानें कैसे पड़ा यह नाम

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग की जानकारी के अनुसार चक्रवाती तूफान 'निवार' अगले कुछ ही घंटों में अपने विकराल रूप में दिखाई देने वाला...

बड़े संकट में न डाल दें शादियों का सीजन, स्वास्थ्य अधिकारियों की बढ़ी चिंता

देवोत्थान एकादशी के अवसर पर बुधवार को देशभर में सबसे बड़ा विवाह मुहूर्त था, जिसमें कई हजार शादियों में लाखों लोग इकट्ठे हुए। सर्दी...

Recent Comments