Home Sport ऑस्ट्रेलियन ओपन-2021 बायो-सिक्योर सुरक्षित माहौल में कम दर्शकों के सामने होगा

ऑस्ट्रेलियन ओपन-2021 बायो-सिक्योर सुरक्षित माहौल में कम दर्शकों के सामने होगा

सांकेतिक तस्वीरसांकेतिक तस्वीर

मेलबर्न

साल के पहले ग्रैंडस्लैम ऑस्ट्रेलियन ओपन के आयोजकों ने जैव सुरक्षित माहौल (बायो-सिक्योर) में कम दर्शकों के साथ 2021 टूर्नमेंट की मेजबानी करने की योजना बनाई है। टेनिस ऑस्ट्रेलिया के मुख्य कार्यकारी क्रेग टीले ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि 2021 के पहले ग्रैंड स्लैम टूर्नमेंट के लिए जरूरी योजना बनाने में मदद के लिए यूएस ओपन और स्थगित फ्रेंच ओपन के आयोजन को करीब से देखेंगे।

टीले ने कहा कि जनवरी में होने वाले टूर्नमेंट का खाका पहले ही तैयार कर लिया गया है। सामाजिक दूरी (सोशल डिस्टैंसिंग) के नियमों के कारण दर्शकों के बैठने की क्षमता में कमी आएगी जबकि खिलाड़ी जैव-सुरक्षित ‘माहौल’ में रहेंगे और विदेशी दर्शकों को अनुमति नहीं होगी।

पढ़ें, पालेर्मो ओपन से होगी टेनिस की वापसी, हालेप के खेलने पर संशय

उन्होंने कहा, ‘हमने कई विकल्पों के साथ जाने का इस सप्ताह फैसला किया है। पिछले साल रेकॉर्ड 8,21,000 संख्या में दर्शक आए थे जो अगले टूर्नमेंट में नहीं हो पाएगा। मेलबर्न और विक्टोरिया राज्य के दर्शकों को अनुमति होगी। अगर सीमा से प्रतिबंध हट गया तो शायद न्यूजीलैंड के दर्शकों को छूट दी जा सकती है।’

टीले ने कहा, ‘अगर स्थिति में सुधार होता है और यूएस ओपन और फ्रेंच ओपन का आयोजन अच्छी तरह से होता है तो इसका सकारात्मक असर होगा और इससे खिलाड़ियों का आत्मविश्वास बढ़ेगा।’

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

रिजर्वेशन: स्थानीय बनाम बाहरी

हरियाणा सरकार ने राज्य में प्राइवेट सेक्टर की नौकरियों में स्थानीय प्रत्याशियों के लिए 75 फीसदी का प्रावधान कर न केवल एक पुरानी...

चीनी हैकरः सायबर हमले का खतरा

पिछले अक्टूबर में मुंबई में हुए असाधारण पावर कट को लेकर अमेरिकी अखबार न्यू यॉर्क टाइम्स में हुआ खुलासा पहली नजर में चौंकाने वाला...

कांग्रेस में बगावत

जम्मू में ग्लोबल गांधी फैमिली नाम के एक एनजीओ के बैनर तले असंतुष्ट कांग्रेसी नेताओं के आयोजन ने तिनके की वह आड़ भी खत्म...

फर्क समझे सरकार

सोशल मीडिया को नियमित करने की बहुचर्चित और वास्तविक जरूरत पूरी करने के मकसद से केंद्र सरकार पिछले हफ्ते जो नए कानून लेकर आई...

Recent Comments