Home Bhilwara samachar ईद 2020: कब है ईद उल अजहा, किसके लिए कुर्बानी देना है...

ईद 2020: कब है ईद उल अजहा, किसके लिए कुर्बानी देना है मुनासिब

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

ईद उल अजहा मुस्लिमों के मुख्य त्योहारों में से एक है, इसे कुर्बानी का त्योहार भी कहा जाता है। ईद उल अजहा का त्योहार चांद दिखने के दस दिनों के बाद मनाया जाता है। इस साल यह त्योहार 31 जुलाई या फिर 01 अगस्त को मनाया जाएगा। हालांकि ईद की तारीख चांद के दीदार से तय होती है। मुस्लिम धर्म के लोगों के लिए यह बेहद महत्वपूर्ण त्योहार होता है। आइए जानते हैं इस त्योहार के बारे में विस्तार से..

क्या होता है कुर्बानी देने का मतलब

बकरीद पर कुर्बानी देने का मतलब होता है, ऐसा बलिदान जो दूसरो के लिए दिया जाए। जानवर की कुर्बानी को केवल प्रतीकात्मक कुर्बानी माना गया है। कहा जाता है कि अल्लाह के पास केवल खुशु यानि देने का जज्बा पहुंचता है। कुर्बानी देने की रस्म हजरत इब्राहिम से शुरु हुई थी। जो कि इस्लाम धर्म के प्रमुख पैगंबरों में से एक थे। 

कौन दे सकता है कुर्बानी

मौलाना मुकरर्म का कहना है कि उन लोगों के लिए कुर्बानी देना वाजिब है, जिनके पास 612 ग्राम चांदी या उसके बराबर की कीमत का पैसा हो। कुर्बानी केवल उन्हीं लोगों पर फर्ज होती जिस पर किसी तरह का कोई कर्ज न हो। अगर कुर्बानी के वक्त तक आदमी के ऊपर कर्ज रहता है, तो वह कुर्बानी नहीं दे सकता है। इस्लाम में हर आदमी पर उसकी कमाई का ढाई फिसदी हिस्सा ज़कात के लिए होता है,जिससे उस पैसे से किसी जरुरतमंद की मदद की जा सके।

उस पशु की कुर्बानी नहीं दी जा सकती है जिसका के शरीर को कोई हिस्सा टूटा हुआ हो, भैंगापन हो या जो जानवर बीमार हो उसकी कुर्बानी भी नहीं दी जाती है। कुर्बानी के मांस को तीन हिस्सों में बांटा जाता है। एक हिस्सा खुद इस्तेमाल किया जाता है, दूसरा किसी जरुरतमंद को और तीसरा हिस्सा रिश्तेदारों को दे दिया जाता है।

ईद उल अजहा मुस्लिमों के मुख्य त्योहारों में से एक है, इसे कुर्बानी का त्योहार भी कहा जाता है। ईद उल अजहा का त्योहार चांद दिखने के दस दिनों के बाद मनाया जाता है। इस साल यह त्योहार 31 जुलाई या फिर 01 अगस्त को मनाया जाएगा। हालांकि ईद की तारीख चांद के दीदार से तय होती है। मुस्लिम धर्म के लोगों के लिए यह बेहद महत्वपूर्ण त्योहार होता है। आइए जानते हैं इस त्योहार के बारे में विस्तार से..

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

चाय के मजे को डबल करने के लिए बनाएं क्रिस्पी ब्रेड टोस्ट, जानें रेसिपी

सर्दियों में अगर आपका मन कुछ चटपटा खाने का कर रहा है, तो आप बेसन टोस्ट की रेसिपी ट्राई कर सकते हैं- सामग्री : ब्रेड -...

चिल्का झील में डॉल्फिन की संख्या बढ़कर 156 हुई

प्रवासी पक्षियों के पसंदीदा स्थान के रूप में विश्व विख्यात ओडिशा का चिल्का झील अब इरावदी डॉल्फिन के लिए सुरक्षित पनाहगाह के तौर पर...

प्रियंका की मेहंदी में सोफी टर्नर ने पहना था इतना महंगा लहंगा! इंडियन स्टाइल में लूट ली थी पूरी लाइमलाइट

ट्रेडिशनल इवेंट या नाइट फंक्शन में कई लड़कियां ब्लैक आउटफिट पहनना पसंद करती हैं।खासतौर पर जब बात यूनिक दिखने की आती हैं, तो...

भारत में कोविड-19 के नये प्रकार से 116 लोग संक्रमित

ब्रिटेन में सार्स-सीओवी-2 के नये प्रकार से देश में संक्रमित होने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 116 हो गई है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय...

Recent Comments