Home भीलवाड़ा मांडलगढ़ बिजली के बिलों में अप्रत्याशित व्रद्धि व जोड़े गये अतिरिक्त भार को...

बिजली के बिलों में अप्रत्याशित व्रद्धि व जोड़े गये अतिरिक्त भार को लेकर लोगो मे रोष

बिजली के बिलों में अप्रत्याशित व्रद्धि व जोड़े गये अतिरिक्त भार को लेकर लोगो मे रोष,
मुख्यमंत्री के नाम एसडीएम को दिया ज्ञापन

कुलदीप सिंह सौलंकी

मांगरोल l इस बार उपभोक्ता को विधुत कंपनियों द्वारा किए गये बिलो अप्रत्याशित रूप से की गई वृद्धि व जोड़े गए अतिरिक्त भार के विरोध में लोगो ने एसडीएम कार्यालय में सरकार के प्रति रोष जताते हुए मुख्यमंत्री के नाम उपखण्ड अधिकारी शत्रुध्न गुर्जर को ज्ञापन दिया।

ज्ञापन देने आये लोगो ने बताया कि राजस्थान में कोरोना जैसी वैश्विक महामारी के कारण लोकडाउन होने के वजह से आमजन, किसान व व्यापरियों के व्यवसाय ठप होने पर इसका विपरीत असर पड़ा है। जबकि लोकडाउन के इस समय में हर वर्ग की आमदनी शून्य है, ऐसे हालातो में बिजली कंपनियों द्वारा बिजली के बिलो में अप्रत्याशित वृद्धि व अतिरिक्त भार जोड़कर लोगो का मजाक उड़ाया जा रहा है। जिसे उपभोक्ता समय पर नही जमा करवा पा रहा है। ज्ञापन देने वालो में एसडीपीआई मांगरोल नगर अध्यक्ष नदीम अख्तर, सचिव अल्ताफ हुसैन, नियाज अहमद, रफीक अहमद, जाकिर हुसैन, रईस अहमद, मो.रिजवान आदि शामिल थे।

हमारें अन्य चेनल देखने के लिए निचे दिए वाक्यों पर क्लिक करे

वीडयो चेनल | भीलवाड़ा समाचार| सभी समाचारों के साथ नवीनतम जानकारियाँ | राष्ट्रीय खबरों के साथ जानकारियाँ | स्थानीय धर्म नवीनतम

 

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

ब्रेन ड्रेन को रोकना होगा

टाइम्स ऑफ इंडिया ने 17 जून के अंक में 'रेजिडेंट इंडियंस' शीर्षक से संपादकीय में लिखा है कि भारत से इमिग्रेशन भले बढ़ रहा...

टीके पर नासमझी

सरकार ने अपनी तरफ से यह स्पष्टीकरण देकर अच्छा किया है कि की कोवैक्सीन में नवजात बछड़ों का सीरम नहीं होता। सोशल मीडिया...

विरोध और आतंकवाद का फर्क

हाल के कुछ अहम फैसलों पर नजर डालें तो ऐसा लगता है जैसे अदालतें लोकतांत्रिक मूल्यों की पुनर्प्रतिष्ठा में लगी हुई हैं। राजद्रोह से...

महंगाई ने बढ़ाई मुसीबत

पेट्रोलियम गुड्स, कमॉडिटी और लो बेस इफेक्ट के कारण मई में थोक महंगाई दर 12.94 फीसदी और खुदरा महंगाई दर 6.30 फीसदी तक चली...

Recent Comments