Home भीलवाड़ा मांडलगढ़ राजस्थान में विधायकों की खरीद-फरोख्त मामले में कार्यवाही को लेकर पब्लिक अगेंस्ट

राजस्थान में विधायकों की खरीद-फरोख्त मामले में कार्यवाही को लेकर पब्लिक अगेंस्ट

राजस्थान में विधायकों की खरीद-फरोख्त मामले में कार्यवाही को लेकर
पब्लिक अगेंस्ट करप्शन संस्था ने ब्यूरो महानिदेशक को दी रिपोर्ट

महेंद्र नागोरी

जयपुर / भीलवाडा l राजस्थान में विधायकों की खरीद-फरोख्त के मामले में भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम के तहत कार्यवाही किये जाने को लेकर पब्लिक अगेंस्ट करप्शन संस्था के महासचिव एव एडवोकेट पूनम चन्द भंडारी ने महानिदेशक,भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो जयपुर को रिपोर्ट देकर तुरंत कार्यवाही किये जाने की मांग की है ।
भंडारी ने महानिदेशक भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो को दी रिपोर्ट में कहा कि राष्ट्रीय व स्थानीय मिडिया रिपोर्ट के अनुसार 10 जुलाई 20 से राजस्थान में पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट करीब 19 विधायकों के साथ हरियाणा के एक होटल में रूके हुए हैं और मिडिया वालों को भी वहां नहीं जाने दिया जारहा है और उन विधायकों को भी विधानसभा अध्यक्ष के द्वारा नोटिस जारी किए गए हैं। कांग्रेस पार्टी द्वारा ये आरोप लगाया जा रहा है कि सचिन पायलट भाजपा के इशारे पर गहलोत सरकार को गिराने का प्रयास कर रहे हैं, और इलेक्ट्रॉनिक व प्रिंट मिडिया में भी लगातार सचिन पायलट के हवाले से ये समाचार आ रहा है कि गहलोत सरकार अल्पमत में हैं और भाजपा नेताओं के बयान लगातार आ रहे हैं कि सचिन पायलट का भाजपा में स्वागत है,ओम माथुर ने तो यहां तक कहा है कि घोड़ा तो वहीं जाएगा जहां हरियाली होगी। इससे प्रथम दृष्टया ये तो लगता है कि होर्स ट्रेडिंग हो रही है।

आज अशोक गहलोत मुख्यमंत्री राजस्थान ने स्पष्ट कहा है कि उनके पास सबूत है कि कोर्स ट्रेडिंग हुई है और उन्होंने भाजपा और सचिन पायलट पर स्पष्ट आरोप भी लगाए हैं।
इस प्रकार राज्य के मुख्यमंत्री सार्वजनिक रुप से ये आरोप लगा रहे हैं कि उनके पास होर्स ट्रेडिंग के सबूत हैं तो उन अपराधियों के खिलाफ कार्यवाही होनी चाहिए। जब की गहलोत एक सच्चे गांधीवादी नेता हैं और कभी भी गैर जिम्मेदाराना बयान नहीं देते हैं और उनकी ईमानदारी के सभी कायल हैं।

भंडारी ने ब्यूरो से मांग कि है की गहलोत के स्टेटमेंट के आधार पर और भाजपा नेता ओम माथुर के स्टेटमेंट कि घोड़ा वहीं जाएगा जहां हरियाली होगी के आधार पर तथा सचिन पायलट के स्टेटमेंट कि गहलोत सरकार अल्पमत में है और उनके साथ 19 विधायक जो हरियाणा के होटल में पिछले 6 दिन से हैं, और मिडिया को भी वहां नहीं जाने दिया जारहा है, इन सब बातों से प्रथम दृष्टया ये साबित है कि विधायकों की खरीद-फरोख्त हो रही है और ये बहुत बड़ा भ्रस्टाचार है जो भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम के तहत अपराध है इस हेतु तुरंत इस मामले में रिपोर्ट दर्ज कर कार्यवाही करें।
भंडारी ने कहा की वे पब्लिक अगेंस्ट करप्शन संस्था,जयपुर के महासचिव भी है, और संस्था का मुख्य उद्देश्य भ्रष्टाचार को समाप्त करना है और इस संस्थान ने कई मामले भ्रष्टाचार के उजागर भी किए हैं और ब्यूरो में भी उनकी संस्था ने कई शिकायतें भी दर्ज कराई है और एक दो में तो उन्होंने स्वय बयान भी दर्ज कराए हैं हाईकोर्ट में जनहित याचिकाएं भी दायर की है और उनमें से कई याचिकाओं में आपका विभाग भी पक्षकार है। और वे यह रिपोर्ट दर्ज करवा रहे है l

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

फर्क समझे सरकार

सोशल मीडिया को नियमित करने की बहुचर्चित और वास्तविक जरूरत पूरी करने के मकसद से केंद्र सरकार पिछले हफ्ते जो नए कानून लेकर आई...

भारत-पाकिस्तानः LOC पर शांति की उम्मीद

भारत और पाकिस्तान की सेनाओं की ओर से संयुक्त घोषणापत्र के रूप में गुरुवार को आई यह खबर एकबारगी सबको चौंका गई कि दोनों...

टीकाकरणः नए हालात, नई रणनीति

केंद्र सरकार ने साफ कर दिया है कि कोरोना के टीकाकरण का दूसरा चरण सोमवार एक मार्च से ही शुरू हो जाएगा और इसके...

दिशा रविः विवेकशीलता के पक्ष में

बहुचर्चित टूलकिट मामले में गिरफ्तार युवा पर्यावरण कार्यकर्ता को आखिर मंगलवार को दिल्ली की एक अदालत से जमानत मिल गई। पहले दिन से...

Recent Comments